बलटाना में भूप्पी राणा गैंग का एनकांउटर देखें कैसे यह अपराध की दुनिया में दाखिल हुए
बलटाना में भूप्पी राणा गैंग का एनकांउटरदेखें कैसे यह अपराध की दुनिया में दाखिल हुए

बलटाना में भूप्पी राणा गैंग का एनकांउटर देखें कैसे यह अपराध की दुनिया में दाखिल हुए

बलटाना में भूप्पी राणा गैंग का एनकांउटर देखें कैसे यह अपराध की दुनिया में दाखिल हुए

चंडीगढ़। पंजाब में गैंगस्टर कल्चर बढ़ रहा है। हथियारों वाले पंजाबी गीत तथा गैंगस्टर्स पर बनने वाली फिल्में भी युवाओं को प्रभावित कर रही हैं। हाल ही में मोहाली पुलिस का गैंगस्टर भूप्पी राणा के गैंग के साथ बलटाना में एनकाउंटर हुआ था। गैंग के तीन सदस्य पकड़े गए थे। इनमें दो युवक 18 साल के हैं और एक 24 साल का है, जो जिला स्तरीय एथलीट रह चुका है।
तीनों ने पुलिस पूछताछ में बताया कि क्यों और कैसे यह अपराध की दुनिया में दाखिल हुए। ठाठ से एसयूवी गाड़ी में घूमना, देर रात तक डिस्को, साथ में लड़की, महंगे कपड़े और बाकी अन्य शौक उन्हें इस दलदल में खींच लाए। वह फिल्मों में दिखाए देने वाले गैंगस्टर्स जैसा हर शौक पूरा करना चाहते थे। इसी चाह ने उन्हें इस काली दुनिया में आने के लिए उकसाया।

यह तीनों गैंगस्टर भूप्पी राणा के गैंग में इसलिए शामिल हुए, क्योंकि वह गैंगस्टर्स पर बनी फिल्मों से प्रभावित हुए थे। गन कल्चर को प्रमोट करने वाले पंजाबी गानों से भी प्रेरित होते थे। गैंगस्टर्स की एक्साइटमेंट से भरी और ग्लैमरस जिंदगी व उनके द्वारा कायम किए जाने वाले खौफ से वह प्रभावित हुए। दबदबा कायम करने की चाह भी अपराध की दुनिया में लेे आई

 जिला स्तर का एथलीट था रणबीर सिंह

एनकाउंटर के दौरान पकड़ा गया 24 वर्षीय रणबीर सिंह उफै रैणा जिला स्तर का एथलीट था। उसके पैर में गोली लगी थी। जीएमसीएच-32 में उसका पुलिस सुरक्षा में इलाज चल रहा है। वहीं आशीष राणा और विशाल कुमार की उम्र सिर्फ 18 साल है। दोनों स्टूडेंट थे। तीनों पंचकूला के बरवाला के रहने वाले हैं। तीनों युवक गैंग मेंबर्स के पास सुनहरा भविष्य हो सकता था, मगर अब तीनों जेल की सलाखों के पीछे हैं। गैंगस्टर बनने के बाद वह चंडीगढ़ में नेक्सस एलांते मॉल जाते और ब्रांडेड कपड़े खरीदते थे। वहीं डिस्को और बार में महंगी स्कॉच पीते थे। वहीं उन्हें लड़कियों की अटेंशन भी मिलती थी।

धमका कर खुद को सबसे ऊपर समझता था

गोली लगने से घायल रणबीर ने बताया कि वह बड़े लोगों को धमकाते हुए उनसे वसूली करने के दौरान खुद को दुनिया में सबसे ऊपर समझता था। उसने बताया कि वह मध्यमवर्गीय परिवारों से हैं और गैंगस्टर्स की तरह धनी जिंदगी जीना चाहते थे। वह जल्द अमीर बनना चाहते थे। इनके पास आधुनिक हथियार थे। बता दें कि तीनों गैंग मेंबर अंकित राणा के इशारे पर वसूली करते थे, जो भूप्पी राणा का कजिन है। भूप्पी राणा पटियाला की जेल में बंद है और अगस्त 2021 में यूथ अकाली नेता विक्की मिड्‌डूखेड़ा की हत्या का मुख्य साजिशकर्ता है।

गैंगस्टर अरोड़ा का रिमांड लेगी पुलिस

पंजाब पुलिस अंबाला जेल में कैद गैंगस्टर विकास अरोड़ा के रोल की भी जांच कर रही है। पुलिस को शक है कि पकड़े गए तीनों गैंग सदस्यों के जरिए भी वसूली का रैकेट चला रहा था। पुलिस इनका प्रोडक्शन वारंट ले सकती है। आरोपियों ने कुछ और नाम भी लिए हैं। उनसे भी पूछताछ हो सकती है।