युवाओं को भड़का कर देश की संपत्ति का नुकसान करा रही है कांग्रेस पार्टी : शमशेर सिंह खरक

Punjab CM

युवाओं को भड़का कर देश की संपत्ति का नुकसान करा रही है कांग्रेस पार्टी : शमशेर सिंह खरक

युवाओं को भड़का कर देश की संपत्ति का नुकसान करा रही है कांग्रेस पार्टी : शमशेर सिंह खरक

युवाओं को भड़का कर देश की संपत्ति का नुकसान करा रही है कांग्रेस पार्टी : शमशेर सिंह खरक

- अग्निपथ योजना से भारतीय फौज को पहले से अधिक युवा,आधुनिक एवं तकनीक से युक्त बनाना है लक्ष्य
- लगभग 40 देशों में पहले से चल रही है इस तरह की योजना 
- अधिक युवाओं को मिलेगा भारतीय सशस्त्र सेनाओं में सेवा करने का मौका

चंडीगढ़ , 28 जून : भारतीय जनता पार्टी हरियाणा के प्रदेश मीडिया सह प्रमुख शमशेर सिंह खरक ने कहा कि कांग्रेस पार्टी युवाओं को भड़का कर देश की संपत्ति का नुकसान करा रही है। बीजेपी सरकार के हर जनहित के काम का विरोध करना कांग्रेस की आदत बन गई है। उन्होंने कहा अग्निपथ योजना लाने का मकसद भारतीय फौज को पहले से अधिक युवा,आधुनिक एवं तकनीक से युक्त बनाना है। चीन, इजरायल सहित दुनिया के लगभग 40 देशों में इस तरह की योजना पहले से चल रही है। शमशेर सिंह खरक ने कहा कि कारगिल रिव्यू कमेटी और अरुण सिंह कमेटी की सिफारिशों को भारतीय फौज ने लागू करने का काम किया है। 
खरक ने मोदी सरकार की अग्निपथ योजना की सराहना करते हुए कहा कि भारतीय सेना को विश्व की बेहतरीन सेना बनाने के लिए यह योजना लाई गई है,जो हमारी सशस्त्र सेनाओं में परिवर्तन कारी बदलाव लाकर उन्हें पूरी तरह से आधुनिक और सुसज्जित बनाएगी। खरक के अनुसार इस योजना में भारतीय युवाओं को, बतौर ‘अग्निवीर’ सशस्त्र सेनाओं में सेवा का अवसर प्रदान किया जाएगा। अग्निपथ योजना से भारतीय सेना विश्व में बहुआयामी बनकर प्रखर पुंज के रूप में और चमकेगी।
खरक ने आगे कहा कि अग्निपथ योजना यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार की एक महत्वपूर्ण एवं एतिहासिक योजना मिशन है, जिसके माध्यम से भारतीय युवाओं को सशस्त्र बलों में सेवा करने का सुनहरा अवसर मिलेगा। इसके तहत चुने गए युवा अग्निवीर कहलाए जाएंगे। अग्निपथ योजना देशभक्त और प्रेरित युवाओं को चार साल की अवधि के लिए सशस्त्र बलों में सेवा करने की अनुमति देगी।
खरक के अनुसार अग्निपथ योजना सशस्त्र बलों को अधिक से अधिक युवा, आधुनिक एवं फिट बनाने के लिए कारगर साबित होगी और साथ ही राष्ट्र सेवा और राष्ट्रीय एकता की भावना को और प्रज्ज्वलित करेगी। यह प्रयास दर्शाता है कि हमारी सरकार हमारे युवाओं के लिए रोजगार सृजन पर भी आवश्यक जोर दे रही है।
खरक ने योजना की सराहना करते हुए इस आधुनिक कदम को देश की सुरक्षा प्रणाली को और बेहतर करने वाला बताया।
योजना के अनुसार सशस्त्र बलों में नामांकन के माध्यम से अग्निवीर के रूप में राष्ट्र की सेवा करने का अवसर मिलेगा। अग्निपथ योजना के माध्यम से तीनों सेवाओं में नामांकन करने का अवसर मिलेगा।अखिल भारतीय योग्यता आधारित भर्ती होगी।
आकर्षक मासिक परिलब्धियां और “सेवा निधि” पैकेज भी उपलब्ध होगा। खरक के अनुसार इस योजना के तहत इस साल 46,000 अग्निवीरों की भर्ती की जाएगी। जिसकी भर्ती प्रक्रिया 24 जून से शुरू हो चुकी है।
बाक्स : अग्निवीरों को मिलेगी यह सुविधाएं
शमशेर सिंह खरक ने कहा कि अग्निवीरों को प्रथम वर्ष का पैकेज लगभग 4.76 लाख होगा। चौथे वर्ष में 6.92 लाख की राशि मिलेगी। इसके अलावा भत्ते के तहत जोखिम और कठिनाई, राशन, पोशाक, यात्रा भत्ते भी लागू होंगे।
 चार साल बाद लगभग रु. 11.71 लाख की समग्र निधि राशि आयकर की छूट के साथ हासिल होगी। कुल मिलाकर वेतन और सेवानिवृत्ति राशि मिलाकर 4 वर्ष में अग्निवीर लगभग 24 से 25 लाख रुपए अर्जित करेगा, अग्निवीर के 4 साल की फौज की नौकरी करने के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल जी ने हरियाणा सरकार की सरकारी नौकरियों में 100% नौकरी देने की घोषणा की है। फौज की नौकरी के बाद अग्निवीर अगर कोई अपना व्यवसाय करना चाहे तो उसको सरकार बिना ब्याज के लोन देने की व्यवस्था भी करेगी, अग्निपथ योजना में भर्ती होने वाले दसवीं पास अग्निवीर को 12वीं का सर्टिफिकेट और 12वीं पास को ग्रेजुएशन का सर्टिफिकेट मिलेगा, जो देश दुनिया में सभी जगह मान्य होगा, सीएपीएफ कि सभी नौकरियों में अग्निवीर को 10% का आरक्षण मिलेगा, रक्षा मंत्रालय गृह मंत्रालय सहित भारत सरकार की सभी नौकरियों में अग्निवीर को प्राथमिकता मिलेगी।
इसके अलावा मृत्यु के मामले में मुआवजा के रूप में रुपये का गैर-अंशदायी जीवन बीमा कवर 48 लाख रुपये की अतिरिक्त अनुग्रह राशि। सेवा के कारण मृत्यु के लिए 44 लाख स्वरूप विकलांगता मुआवजा देय होगा। 100%/75% / 50% विकलांगता के लिए क्रमशः 44/25/15 लाख रुपये की एकमुश्त अनुग्रह राशि भी शामिल होगी। देश के लिए अपनी शहादत देने पर अग्निवीर को रक्षा मंत्रालय की तरफ से एक करोड़ रुपए एवं हरियाणा सरकार की तरफ से 50 लाख रुपए दिए जाएंगे।