मुख्यमंत्री की तरफ से काबुल में गुरुद्वारा साहिब पर हमले की निंदा

Punjab CM
Punjab CM

मुख्यमंत्री की तरफ से काबुल में गुरुद्वारा साहिब पर हमले की निंदा

मुख्यमंत्री की तरफ से काबुल में गुरुद्वारा साहिब पर हमले की निंदा

मुख्यमंत्री की तरफ से काबुल में गुरुद्वारा साहिब पर हमले की निंदा

 हमले को आतंकवादियों की क्रूर और कायरतापूर्ण कार्यवाही बताया

काबुल में सिखों की सुरक्षा यकीनी बनाने के लिए प्रधानमंत्री को की अपील

चंडीगढ़, 18 जूनः

    पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने काबुल के गुरुद्वारा साहिब पर आतंकवादियों की तरफ से किये गए क्रूर और घृणित हमले की निंदा की है। 

    मुख्यमंत्री ने शनिवार को यहाँ जारी एक बयान में कहा कि यह एक अमानवीय कार्यवाही है और मैं भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को काबुल में बसते सिखों की सुरक्षा यकीनी बनाने की अपील करता हूं।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘करते परवान’ गुरुद्वारा साहिब में सिखों पर हमला दहशतगर्दों की शर्मनाक और कायरतापूर्ण कार्यवाही है, जिन्होंने पवित्र गुरुद्वारा साहिब में निर्दोश सिखों को निशाना बनाया है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार को इस मुद्दे को अफगानिस्तान सरकार के समक्ष उठाना चाहिए और यह यकीनी बनाना चाहिए कि वहां रहते सिखों को कोई नुकसान न पहुँचे। भगवंत मान ने कहा कि भारत सरकार को गुरुद्वारा साहिबान में सिखों की सुरक्षा यकीनी बनानी चाहिए। 

    मुख्यमंत्री ने कहा कि संकट की इस घड़ी में प्रधानमंत्री को निर्णायक और तेज़ी के साथ कदम उठाने की ज़रूरत है। उन्होंने अफ़सोस प्रकट किया कि यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि आतंकवादियों ने धार्मिक स्थानों को भी ऐसी वहशियाना कार्यवाहियां करने के लिए नहीं बक्शा। भगवंत मान ने कहा कि इस घटना ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि आतंकवादियों का कोई धर्म नहीं होता और उनका एकमात्र मकसद लोगों में दहशत फैलाना है। 

    मुख्यमंत्री ने कहा कि गुरुद्वारा साहिब जहाँ समूची मानवता के कल्याण के लिए रोज़मर्रा अरदास की जाती है, पर हमला करना कल्पना से परे है। उन्होंने दोहराया कि यह एक घिनौनी कार्यवाही है, जिसकी सभी को निंदा करनी चाहिए। भगवंत मान ने पंजाबियों को काबुल में बसते समूह सिखों की चढ़दी कला के लिए अरदास करने की अपील की।