Chandigarh Meghnad Effigy Fire: दहन से पहले ही मेघनाद के पुतले पर आग का तांडव, VIDEO में देखें कैसे खुद ही जल उठा!

Punjab CM
Punjab CM

चंडीगढ़ में घटना: दहन से पहले ही मेघनाद के पुतले पर आग का तांडव, VIDEO में देखें कैसे खुद ही जल उठा!

 Chandigarh Meghnad Effigy Fire

Chandigarh Meghnad Effigy Fire

Chandigarh Meghnad Effigy Fire : दशहरा समारोह से पहले चंडीगढ़ में एक अजब घटना सामने आई है| यहां बिना दहन के ही मेघनाद का पुतला खुद से ही जलता हुआ दिखा| इस घटना के बाद मौके पर हड़कंप की स्थिति पैदा हो गई और इसकी सूचना फायर ब्रिगेड की टीम को दी गई| जिसके बाद मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम ने मेघनाद के पुतले में लगी आग को कुछ ही देर में बुझा लिया| हालांकि आग लगने से पुतले का नुकसान हो गया है|

दरअसल, बड़ा डर यह था कि मेघनाद के साथ ही कुंभकर्ण और रावण का भी पुतला खड़ा हुआ था| अगर आग थोड़ी सी भी और ज्यादा फ़ैल जाती या आग पर काबू पाने में समय लगता तो यह आग कुंभकर्ण और रावण के तैयार पुतलों को भी चपेट में ले सकती थी| खासकर गनीमत यह रही कि मेघनाद के पुतले में आग लगने के बाद रावण का पुतला नहीं जला। बताया जाता है कि, रावण के पुतले में पटाखे भरे जा चुके थे|

सेक्टर 46 स्थित दशहरा ग्राउंड की घटना

बताया जाता है कि, यह पूरी घटना सेक्टर 46 स्थित दशहरा ग्राउंड में बीती रात को हुई| जहां दहन के लिए खड़े किये गए रावण, मेघनाद और कुंभकर्ण के पुतलों में से मेघनाद के पुतले में अचानक आग लग गई। दशहर ग्राउंड में रावण, मेघनाद और कुंभकर्ण के पुतले एक साथ कुछ कुछ दूरी पर खड़े किए गए हैं। मेघनाद के पुतले में आग लगी देख दशहरा कमेटी के लोगों में खासी हड़बड़ी देखी गई|

हादसा या शरारती तत्वों का कांड

हालांकि, अभी तक आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है कि आग कैसे लगी। आग को एक हादसा माना जा रहा है| लेकिन दूसरी ओर शरारती तत्वों की हरकत भी मानी जा रही है| कहा जा रहा है कि, शरारती तत्वों ने मेघनाद के पुतले में आग लगाने का कांड किया है और मौके से फरार हो गए हैं|

वीडियो देखें

सेक्टर 46 दशहरा ग्राउंड में बना है शहर का सबसे ऊंचा रावण

बता दें कि, आज दशहरा के मौके पर देशभर में रावण दहन होगा| वहीं, चंडीगढ़ के सेक्टर 46 दशहरा ग्राउंड में शहर का सबसे ऊंचा रावण बनाया गया है| बताते हैं कि, कमेटी रावण 90 फीट ऊंचा है। यहां रावण दहन के दौरान लोगों की सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता करने के लिए पुलिस तैनात रहेगी| कई पुलिस जवान मौके पर तैनात रहेंगे|