Saturday, September 21, 2019
Breaking News
Home » पंजाब » कैप्टन ने बाढ़ प्रभावित इलाकों के लिए किया 100 करोड़ रुपए देना का ऐलान

कैप्टन ने बाढ़ प्रभावित इलाकों के लिए किया 100 करोड़ रुपए देना का ऐलान

रूपनगर का दौरा करके बाढ़ से हुए नुकसान का जायजा लिया

रूपनगर। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने आज राज्य के बाढ़ प्रभावित इलाकों में तत्काल तौर पर किये जाने वाले राहत और पुर्नावास कार्यों के लिए 100 करोड़ रुपए का ऐलान किया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पानी का स्तर घटने के तुरंत बाद विशेष गिरदावरी करवाई जायेगी जिससे पीडि़त किसानों को उपयुक्त मुआवजा देना यकीनी बनाया जा सके।

मुख्यमंत्री ने यह ऐलान रूपनगर के बाढ़ प्रभावित इलाकों के दौरे के दौरान किये जहां उन्होंने आज पिछले 72 घंटों से मुसलाधार बारिश के साथ हुए नुकसान का जायजा लिया और बाढ़ से प्रभावित लोगों के साथ मुलाकात की। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने लुधियाना जिले में छत गिरने से तीन व्यक्तियों की मौत हो जाने की घटना पर दुख प्रकट किया।

इसके बाद मुख्यमंत्री ने सीनियर अधिकारियों के साथ राज्य में बाढ़ से पैदा हुई स्थिति का जायज़ा लिया। ड्रेनेज के चीफ़ इंजीनियर ने मुख्यमंत्री को जानकारी दी कि ब्यास और रावी नदीयों की समुची स्थिति काबू में है। हालांकि सतलुज नदी के साथ लगते इलाकों और फिऱोज़पुर में हरीके हैड्ड वर्कस में नदी के बहाव वाले इलाकों में ख़तरा मंडरा रहा है। मीटिंग के दौरान यह भी बताया गया कि भाखड़ा डैम में पानी का स्तर बरकरार रखने के लिए अतिरिक्त पानी छोड़ा गया था जो मौजूदा समय में 1681.23 फुट पर बह रहा। इससे पहले मुख्यमंत्री चंडीगढ़ से रूपनगर तक सड़क के रास्ते गए और उन्होंने स्थिति को गंभीर बताते हुए और स्थानीय निवासियों को हर संभव सहायता मुहैया कराने का भरोसा दिया। उनको स्थानीय अधिकारियों ने भाखड़ा डैम के साथ लगते इलाके से पानी के तेज बहाव से खड़ी फसलों, घरों, सार्वजनिक संपत्तियों और पशुधन को हुए नुक्सान बारे अवगत करवाया।

आई.आई.टी. रूपनगर के विद्यार्थियों जिनको भारी बाढ़ के कारण वहां से हटाना पड़ा, के साथ बातचीत के दौरान कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने राज्य प्रशासन को हुक्म दिए कि उनके फिर से कैंपस जाने तक इनके रहन-सहन का प्रबंध पंजाब भवन और किसान भवन में करने को यकीनी बनाया जाये। आई.आई.टी. की डायरैक्टर की विनती को स्वीकार करते हुए कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने अपने मुख्य प्रमुख सचिव को साझे तौर पर एक योजना बनाने के लिए कहा जिससे भविष्य में बाढ़ से इस कैंपस को किसी तरह के नुक्सान को टालने के लिए ठोस और प्रभावशाली ड्रेनेज सिस्टम यकीनी बनाया जा सके।

रूपनगर हैड वर्कस का दौरा करने के बाद गांव शामपुरा में जमीनी स्थिति का जायजा लेते हुए मुख्यमंत्री ने वहाँ झुग्गी -झोंपड़ी वालों के दुख-तकलीफ़ें सुनी और जि़ला प्रशासन को संकट की इस घड़ी में पीडि़त परिवारों को अपेक्षित मदद मुहैया करवाने के लिए कहा। उन्होंने डिप्टी कमिश्नर को स्थिति आम की तरह होने तक हालात पर नजऱ रखने के लिए भी कहा। खैराबाद गांव में बाढग्रस्त सड़क के द्वारा जाकर मुख्यमंत्री लोगों के साथ घुलमिल गए और उनकी दुख -तकलीफों को धीरज के साथ सुना और इसके जल्द ही हल का भरोसा दिया।

स्वास्थ्य जांच कैंप लगाया
कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि जि़ला प्रशासन स्वास्थ्य विभाग के साथ तालमेल करके स्वास्थ्य जांच कैंप भी लगाया जिससे पानी से होने वाली बीमारियों के हमले को रोका जा सके। इसी दौरान मुख्यमंत्री ने पशु पालन विभाग को हिदायत की कि ज़रूरतमंदों को पशूओं के लिए स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराने के अलावा उनके लिए चारे की स्पलाई को यकीनी बनाने के लिए उचित प्रबंध किये जाएं।

Check Also

उद्योग विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों ने दिए मुख्यमंत्री राहत कोष में 8 लाख 25 हजार रुपए

उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री ने मुख्यमंत्री को चैक सौंपा चंडीगढ़। पंजाब के उद्योग एवं वाणिज्य …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel