मूसेवाला के कत्ल के बाद शार्पशूटर ने देखें तिहाड़ जेल में बैठे मास्टरमाइंड गैंगस्टर लॉरेंस से क्या बात ....,,,,
मूसेवाला के कत्ल के बाद शार्पशूटर ने  देखें तिहाड़ जेल में बैठे मास्टरमाइंड गैंगस्टर लॉरेंस से क्या बात ....

मूसेवाला के कत्ल के बाद शार्पशूटर ने देखें तिहाड़ जेल में बैठे मास्टरमाइंड गैंगस्टर लॉरेंस से क्या ब

मूसेवाला के कत्ल के बाद शार्पशूटर ने देखें तिहाड़ जेल में बैठे मास्टरमाइंड गैंगस्टर लॉरेंस से क्या बात ....,,,,

चंडीगढ़। पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला के कत्ल के बाद शार्पशूटर ने तिहाड़ जेल में बैठे मास्टरमाइंड गैंगस्टर लॉरेंस को कॉल किया। इसकी डेढ़ मिनट की कॉल सामने आई है। जिसमें शूटर लॉरेंस को फोन कर कहता है कि ज्ञानी चढ़ाता गड्‌डी, मूसेवाला मारता।
शूटर लॉरेंस को मिशन कामयाब होने की जानकारी देते हुए बधाई भी देता है। इस कॉल के बाद पंजाब पुलिस ने शुक्रवार को मोहाली में गैंगस्टर लॉरेंस का वॉयस सैंपल लिया है। जिसके जरिए उसकी आवाज को इस रिकॉर्डिंग से मैच कराया जाएगा। अर्थ प्रकाश इस रिकॉर्डिंग की पुष्टि नहीं करता।


यह हुई बातचीत
बातचीत की शुरूआत में शूटर ने लॉरेंस को फोन मिलाया। जिसमें सामने से पहले किसी दूसरे ने फोन उठाया। शूटर ने कहा कि बात हो सकती है, बहुत जरूरी है। इसके बाद कुछ देर फोन होल्ड पर रहा। शूटर ने लॉरेंस का नाम नहीं लिया। हालांकि बातचीत में कनाडा बैठे लॉरेंस गैंग के गैंगस्टर गोल्डी बराड़ का नाम जरूर लिया गया है। लॉरेंस से बात होने के इंतजार में शूटर ने साथी को कहा कि स्पीकर ऑन कर गोल्डी को फोन लगाना। इतनी देर में लॉरेंस लाइन पर आ गया।

लॉरेंस : हैलो

शार्पशूटर : बहुत-बहुत मुबारकां भरा नूं, ठीक हों (भाई को बहुत-बहुत बधाई हो, ठीक हो)

लॉरेंस : हां, मैं ठीक हां जी (हां मैं ठीक हूं)

शार्पशूटर : मै केहा, ज्ञानी चढ़ाता गड्‌डी (कोड वर्ड में मूसेवाला को मार दिया)

लॉरेंस : हैं (कुछ समझ न आने पर)

शार्पशूटर : ज्ञानी चढ़ाता गड्‌डी

लॉरेंस: की करता (क्या कर दिया?)

शार्पशूटर : ज्ञानी चढ़ाता गड्‌डी, मूसेवाला मारता

लॉरेंस: मारता? (मार दिया?)

शार्पशूटर : मारता .. मारता (मार दिया.. मार दिया)

लॉरेंस : ओेके, कट देयो फोन (ठीक है, फोन काट दो)

तिहाड़ में साजिश, लॉरेंस मास्टरमाइंड

पंजाब और दिल्ली पुलिस दावा कर चुकी है कि लॉरेंस ने तिहाड़ जेल में बैठकर पूरी साजिश रची। जिसे गोल्डी बराड़ के जरिए अंजाम दिलवाया। लॉरेंस ही हत्या का मास्टरमाइंड है। वह तिहाड़ जेल में मोबाइल यूज कर रहा था। इसके पीछे लॉरेंस के कॉलेज फ्रैंड विक्की मिड्डूखेड़ा के कत्ल को कारण बताया जा रहा है। जिसे बंबीहा गैंग ने मारा था। इसमें मूसेवाला के मैनेजर शगनप्रीत का नाम आया था। लॉरेंस को शक था कि मूसेवाला अप्रत्यक्ष तरीके से इस हत्या से जुड़ा हुआ है। वहीं लॉरेंस मूसेवाला के गीतों से भी चिढ़ता था। उसे शक था कि मूसेवाला गीतों के जरिए लॉरेंस गैंग को चैलेंज करता है।


3 शार्पशूटर गिरफ्तार, 2 का एनकाउंटर, 1 फरार
सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को मानसा में गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी। 6 शार्पशूटर्स ने यह कत्ल किया था। इनमें 3 प्रियवर्त फौजी, अंकित सेरसा और कशिश दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिए। जगरूप रूपा और मनप्रीत मन्नू कुस्सा का पंजाब पुलिस ने 2 दिन पहले अमृतसर में एनकाउंटर कर दिया। छठा शार्पशूटर दीपक मुंडी फरार है। उसके बारे में पंजाब पुलिस को बड़ी लीड मिली है। जल्द वह भी पकड़ में आ सकता है। पंजाब पुलिस ने कत्ल केस में मास्टरमाइंड लॉरेंस समेत कुल 21 मददगार पकड़े हैं।