पंजाब में राजनीतिक सरगर्मी: सुनील जाखड़ ज्वाइन करेंगे BJP? पार्टी के नेताओं ने कहा- उनका स्वागत है
Will Sunil Jakhar join BJP?

Will Sunil Jakhar join BJP?

पंजाब में राजनीतिक सरगर्मी: सुनील जाखड़ ज्वाइन करेंगे BJP? पार्टी के नेताओं ने कहा- उनका स्वागत है

Sunil Jakhar News : सुनील जाखड़ के कांग्रेस छोड़ देने से पंजाब में राजनीतिक सरगर्मी तेज हो रखी है| हलचल यह कि आखिर अब सुनील जाखड़ क्या करेंगे? वह कौन सी पार्टी में जायेंगे| इधर, जाखड़ की ओर से अभीतक किसी पार्टी में जाने के कोई संकेत नहीं दिए गए हैं| हालांकि, बात चल रही है कि जाखड़ बीजेपी ज्वाइन कर सकते हैं| पंजाब भाजपा के नेताओं के लगातार बयान सामने आ रहे हैं कि सुनील जाखड़ का पार्टी में जोरदार स्वागत होगा|

बतादें कि, जिस दिन सुनील जाखड़ ने कांग्रेस को अलविदा कहा था उसी दिन फतेह जंग बाजवा (जो कि चुनाव से पहले बीजेपी में शामिल हुए थे) ने उन्हें बीजेपी में शामिल होने का न्योता दिया था| फतेह जंग बाजवा का कहना है कि जाखड़ एक मझे हुए नेता है उन जैसे नेताओं की जरूरत है| वहीं, अब पंजाब से बीजेपी नेता हरजीत ग्रेवाल और सुरजीत ज्याणी का जाखड़ को लेकर बयान सामने आया है| दोनों नेता सुनील जाखड़ का बीजेपी में स्वागत करने को तैयार बैठे हैं| फिलहाल, अब देखना यह होगा कि सुनील जाखड़ क्या कदम उठाते हैं?

14 मई को कांग्रेस छोड़ने का ऐलान....

ध्यान रहे कि, सुनील जाखड़ ने 14 मई शनिवार को बड़ा सियासी विस्फोट किया था| अपने खिलाफ नोटिस जारी होने से आहत पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रधान सुनील जाखड़ ने फेसबुक पर लाइव आकर अपने दिल की बात कही थी| दिल की बात में जाखड़ ने कांग्रेस को अलविदा कह दिया|

"दिल भी तोड़ा तो तूने सलीके से नहीं तोड़ा..." जाखड़ की एक-एक बात यहां पढ़िए

कांग्रेस के चिंतन श‍िविर पर अटैक...

सुनील जाखड़ (Sunil Jakhar) ने कहा कि कांग्रेस से नाता तो टूट रहा है लेकिन पार्टी के साथ 50 साल का, तीन पीढ़ियों का जो संबंध है उसे भुलाया नहीं जा सकता है| और इसलिए जहां कांग्रेस के लिए दिल में गुस्सा है तो वहीं दर्द भी है| दरअसल, सुनील जाखड़ ने राजस्‍थान के उदयपुर में चल रहे कांग्रेस के चिंतन श‍िविर पर बात की और कहा कि उन्हें इस शिविर पर तरस आ रहा है| सुनील जाखड़ ने कहा कि इस चिंतन श‍िविर पर बड़े-बड़े नेता अपना जमावड़ा लगाए हुए हैं| लेकिन पार्टी को लेकर सच की बात कोई नहीं करने वाला है| इसलिए यह चिंतन श‍िविर मात्र एक औपचारिकता है और इससे ज्यादा कुछ नहीं|

 सुनील जाखड़ ने कहा जब आज कांग्रेस संकट से जूझ रही है और उसे बचाने का समय है तो कांग्रेस ऐसे-ऐसे काम कर रही है जैसे राष्ट्र का बोझ उसके कन्धों पर हो| नानाप्रकार की तो पार्टी के अंदर कमेटियां बना दीं गईं हैं| जाखड़ ने कहा कि ठीक है कि कांग्रेस विपक्ष की मुख्य पार्टी है और उसे भारत के मुद्दों पर अपनी राय रखनी चाहिए| लेकिन यह सब करने से पहले पार्टी को तो बचा लो| यह तय कर लो कि पार्टी को कैसे बचाना है| सुनील जाखड़ ने कहा कि कांग्रेस को चिंतन शिविर नहीं चिंता का शिविर लगाना चाहिए|

यूपी में दुर्दशा हुई...

इधर, सुनील जाखड़ ने यूपी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के प्रदर्शन को लेकर बड़ा बयान दिया| जाखड़ ने कहा कि यूपी की 403 विधानसभा सीटों में 390 सीटों पर कांग्रेस के उम्मीदवारों को 2000 वोट भी नहीं मिल पाए| पंचायत चुनाव का उम्मीदवार भी इससे ज्यादा वोट ले जाता है| सुनील जाखड़ ने कहा कि वो उत्तर प्रदेश जो दिल है भारत का, वहां ये दुर्दशा हुई| जाखड़ ने कहा कि ये दुर्दशा कांग्रेस नेताओं की नहीं बल्कि ये दुर्दशा कांग्रेस हाईकमान और कांग्रेस की हुई| यही हाल गोवा और उत्तराखंड में हुआ| जाखड़ ने कहा कि इसपर कोई कमेटी क्यों नहीं बैठती|

हरीश रावत पर हमला .....

सुनील जाखड़ ने उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरीश रावत पर भी हमला बोला| जाखड़ ने कहा कि हरीश रावत का एक पैर पंजाब में रहा और एक उत्तराखंड में और हश्र यह हुआ कि न तो कांग्रेस को पंजाब मिला और न उत्तराखंड| जाखड़ ने हरीश रावत पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस की पंजाब और उत्तराखंड में हार के लिए हरीश रावत बड़े पैमाने पर जिम्मेदार हैं| हरीश रावत की वो कहानी है कि ''हम तो डूबेंगे सनम, लेकिन तुमको भी ले डूबेंगे''|

पंजाब को लेकर बात .....

वहीं, सुनील जाखड़ ने कहा कि पंजाब में भाईचारे को तोड़ने की कोशिश की गई| सुनील जाखड़ ने कांग्रेस नेता अंबिका सोनी पर सीधा हमला बोला। उन्होंने कहा कि अंबिका सोनी ने कांग्रेस का बेड़ा गर्ग किया| जो पंजाब एक होकर रहता है उसे बाँटने की कोशिश कर उसके माथे पर कलंक लगाया| अंबिका सोनी ने सिखों को कलंकित करते हुए हिन्दुओं को बदनाम किया उनका निरादर किया| अंबिका सोनी क्या कहना चाह रहीं थीं कि अगर पंजाब में कोई हिन्दू सीएम बनता है तो पंजाब जलेगा| क्या उनके कहना का मतलब था कि सिख, हिन्दुओं के खिलाफ घूम रहे हैं| सुनील जाखड़ ने कहा कि अंबिका सोनी का कांग्रेस में बने रहने का कोई औचित्य नहीं है| सुनील जाखड़ ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को चेताते हुआ कहा कि जबतक कांग्रेस में इस तरह के नेता रहेंगे तब तक कांग्रेस पंजाब में अपने पैर खड़े नहीं कर पाएगी| ये जाखड़ की भविष्यवाणी है|

अपने खिलाफ नोटिस जारी होने पर बोले जाखड़...

वहीं, हाल ही में अपने खिलाफ कांग्रेस हाईकमान की तरफ से नोटिस जारी होने पर जाखड़ ने कहा कि सोनिया जी आपने मेरे खिलाफ फरमान जारी किया कि सुनील जाखड़ को सभी पदों से हटाया जाता है| जाखड़ ने कहा कि मेरे पास कौन सा पद था जिससे आप मुझे हटा रहीं थीं| सुनील जाखड़ ने कहा कि जब मेरे खिलाफ आपका नोटिस आया तभी से आपके और मेरे बीच संबंध टूट गए| कहते हैं - ''दिल भी तोड़ा तो तूने सलीके से नहीं तोड़ा, बेवफाई के अपने अदब होते हैं...'' | आप नोटिस जारी कर रहे हो सुनील जाखड़ को| उस सुनील जाखड़ को जिसका तीन पीढ़ियों से पार्टी के साथ संबंध है| मुझसे से सीधा बात करने में क्या शर्म आ रही थी| मैं देता जवाब|

सोनिया गांधी को विदेशी महिला...

इस बीच सुनील जाखड़ ने एक नेता का भी जिक्र किया और कहा कि इस नेता ने 1999 में यह कहते हुए पार्टी छोड़ दी थी कि सोनिया गांधी एक विदेशी महिला हैं और वह कांग्रेस की अध्यक्ष बनती हैं तो मुझे यह स्वीकार नहीं होगा| जाखड़ ने कहा कि कांग्रेस में कई ऐसे नेता है जो कांग्रेस के लिए नुकसान दायक हैं और इन्हें बेनकाब करना होगा| जाखड़ ने कहा कि कांग्रेस में कई चापलूस लोग हैं और अब इनके गिरोह बन रहे हैं| जाखड़ ने कहा कि ये इंचार्जों के रूप में जो भेजे जाते हैं इन्होने कांग्रेस की लुटिया डुबो रखी है| सुनील जाखड़ ने कहा कि सोनिया जी आप दोस्त और दुशमन को पहचान लीजिये और कमान अपने हाथ में पूरी तरह से लीजिये| कांग्रेस आज खटिया पे नजर रही है| समय रहते संभलना जरुरी है|

जाखड़ बोले- Good Bye Congress...

वहीं, अपने आखरी शब्दों में जाखड़ ने कांग्रेस को गुड बाये बोल दिया| जाखड़ ने कहा कि कांग्रेस को मेरी शुभकामनाएं हैं और मेरा गुड बाये भी|