हिमाचल प्रदेश में होगा मास्‍क पहनना अनिवार्य, पर्यटकों की बढ़ती भीड़ के कारण शिमला में सख्‍ती की तैयारी
हिमाचल प्रदेश में होगा मास्‍क पहनना अनिवार्य

हिमाचल प्रदेश में होगा मास्‍क पहनना अनिवार्य, पर्यटकों की बढ़ती भीड़ के कारण शिमला में सख्‍ती की तैय

हिमाचल प्रदेश में होगा मास्‍क पहनना अनिवार्य, पर्यटकों की बढ़ती भीड़ के कारण शिमला में सख्‍ती की तैयारी

शिमला। देशभर में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने के कारण हिमाचल प्रदेश में भी मास्‍क पहनना अनिवार्य किया जाएगा। कोरोना के मामले लगातार बढ़ते रहे तो प्रदेश में पाबंदियां लागू हो सकती हैं। शिमला जिला प्रशासन ने इस संबंध में संज्ञान लिया है। जिला प्रशासन इस संबंध में बैठक कर जल्‍द ही आदेश जारी करेगा। दरअसल, शिमला में रोजाना अन्‍य राज्‍यों से हजारों पर्यटकों की उमड़ रही भीड़ को देखते हुए प्रशासन ने संज्ञान लिया है। ऐसे में जल्‍द ही कोविड नियमों का पालन सुनिश्‍चित करवाने का आदेश जारी होगा। प्रशासन मास्‍क पहनना अनिवार्य करने पर विचार कर रहा है। इसके तहत मास्‍क न पहनने वाले पर्यटकों व स्‍थानीय लोगों पर कार्रवाई का प्रावधान भी किया जाएगा।

जिला प्रशासन ने पड़ोसी राज्यों में बढ़ रहे कोरोना के मामलों को देखने के बाद यह फैसला लिया है कि आने वाले दिनों में मास्‍क की अनिवार्यता को फिर से लागू किया जाएगा। इसके साथ ही शारीरिक दूरी और लोगों को कोरोना के सभी नियमों का पूरी तरह से पालन करने की हिदायत भी जारी की जाएगी।

जिला प्रशासन की ओर से इसका पूरा खाका तैयार किया जा रहा है। बता दें कि दिल्ली से लेकर देश के अन्य राज्यों में मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। हिमाचल में भी कोरोना के मामले बढ़ने लगे हैं। इसलिए पहले से ही एहतियातन इन कदमों को उठाने की तैयारी शुरू कर दी है। जिला प्रशासन की ओर से शीघ्र ही मसले पर एक बैठक बुलाई जाएगी, जिसमें स्वास्थ्य विभाग से लेकर अन्य सभी संबंधित विभाग के अधिकारियों को बुलाया जाएगा। बैठक में इसका खाका तैयार किया जाएगा कि किस किस तरह से कैसे कैसे नियमों को लागू किया जाए।

जिला उपायुक्त आदित्य नेगी ने कहा कि शहर में पूरे देश से सैलानी आ रहे हैं। उन सैलानियों का पर्यटन विभाग से लेकर सभी विभाग पूरी आवभगत कर रहे हैं आने वाले दिनों में कोरोना के मामले दूसरे राज्यों में बढ़ते हैं तो जिला में मास्क लगाना और एक स्थान पर ज्यादा भीड़ जुटाने पर रोक लगाई जाएगी। लोगों को इसके लिए जागरूक किया जाएगा। स्थानीय पुलिस की मदद से लोगों को इसके प्रति जागरूक करके बचाने का हर संभव प्रयास किया जाएगा।