mut

दिल्ली पुलिस एकेडमी में सोनीपत के युवक की मौत, देखें क्या है मामला

सोनीपत। दिल्ली में जेल वार्डन की ट्रेनिंग के दौरान सोनीपत के एक जवान दीपक मलिक (Deepak Malik) (25) की मौत के बाद वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। वह जनवरी 2021 में जेल वार्डन भर्ती था। अभी उसका ट्रेनिंग पीरियड चल रहा था। परिवार ने उसको लेकर कई सपने भी संजोए थे, लेकिन एकाएक हुई उसकी मौत से परिजन तो स्तब्ध हैं, लेकिन दिल्ली में हंगामा मचा हुआ है। आरोप है कि वह बीमार था, लेकिन फिर भी ट्रेनिंग के नाम पर घंटों गर्मी में खड़ा रखा गया।

साथ में ट्रेनिंग ले रहे उसके साथियों ने उसकी मौत के लिए व्यवस्था को जिम्मेदार ठहराते हुए अधिकारियों पर इल्जाम लगाए हैं। वहीं दिल्ली में उसको न्याय दिलाने के लिए अभियान भी शुरू हो गया है। सोशल मीडिया पर भी उसके लए जस्टिस मांगा जा रहा है। हालांकि दिल्ली पुलिस मौत के कारणों की जांच उच्चाधिकारी से कराने की जानकारी अपने ट्विटर हैंडल पर दे चुकी है, लेकिन व्यवस्था अब लोगों के निशाने पर है।

दीपक मलिक के भाई विकास मलिक ने बताया कि मई महीने में भाई की ट्रेनिंग वजीराबाद अकेडमी, दिल्ली में शुरू हुई थी। 18 मई को उसकी तबीयत खराब थी। वह गया नहीं तो अफसरों ने जबरदस्ती उसे बुला लिया। वहां उसे घंटों खड़े रखा गया। इस दौरान वह बेहोश हो कर गिर गया। उसे अस्पताल ले जाया गया। सही इलाज नहीं मिला और उसकी मौत हो गई। उन्होंने दिल्ली पुलिस में इसकी शिकायत दी है। पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है। उन्होंने भाई के लिए न्याय और दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की गुहार लगाई है।

ट्रेनिंग के दौरान जेल वार्डन दीपक मलिक की मौत पर दिल्ली में बखेड़ा खड़ा हो गया है। उसकी मौत के लिए सीधे-सीधे अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराते हुए दीपक के लिए न्याय और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की जा रही है। इनेलो के प्रवक्ता राकेश सिहाग ने दीपक की मौत के बाद उसके साथियों से बातचीत का वीडियो ट्विटर पर अपलोड किया है। उसमें साथी कर्मचारी बता रहे हैं कि उनको कैसे ट्रेनिंग के नाम पर मौत के मुंह में धकेला जा रहा है।


वीडियो में वो बड़े गुस्से में हैं। इस वीडियो को दो दिन में 41 हजार से ज्यादा व्यक्ति देख चुके हैं। 9550 ने रि-ट्वीट किया है और 19 हजार से ज्यादा ने लाइक किया है। इसके अलावा भी अन्य यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर बहुत से लोगों दीपक मलिक के लिए न्याय का अभियान चला रहे हैं।


लोग गुस्से में

दीपक की मौत पर लोग गुस्से में नजर आ रहे हैं और सरकार को कोस रहे हैं। गगन अरोड़ा ने ट्विटर हैंडल पर लिखा है कि असल में इस देश में इंसान की कोई औक़ात नही रही अब , जिसके गले में भगवा गमछा है वो ही सरकारी दामाद है। इसी प्रकार आयूष नाम के हैंडल पर लिखा गया है कि- पुलिस ट्रेनिंग सेंटर की बड़ी घटिया स्थिति होती है रिक्रूट और उसके बाद जवानों को मिलने वाली सारी सुविधाएं बड़े अधिकारी चट कर जाते हैं।