Slogans of Khalistan Zindabad raised in Karnal, Sikh society marched
Slogans of Khalistan Zindabad raised in Karnal, Sikh society marched

Slogans of Khalistan Zindabad raised in Karnal, Sikh society marched

करनाल में लगे खालिस्तान जिंदाबाद के नारे, सिख समाज ने किया मार्च

करनाल। हरियाणा के जिला करनाल में सिख समाज के प्रदर्शन में खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने का वीडियो वायरल हो रहा है। ऐसा पहली बार नहीं हुआ, जब किसान व सिख प्रदर्शनों में खालिस्तानी जिंदाबाद के नारे लगे हों और भिंडरावाले का झंडे व पोस्टर हाथ में लेकर सिख सडक़ों पर निकले हों।

सिखों द्वारा भिंडरावाले के पोस्टर हाथ में लेकर रोष मार्च निकाले जा रहे हैं। खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए जा रहे हैं, लेकिन पुलिस और प्रशासन इस पर कोई एक्शन नहीं ले रहा है। हुआ यूं कि सोमवार को सिख समाज के लोगों ने शांति के लिए गुरुद्वारा डेरा कार सेवा से शुरू होकर जिला सचिवालय तक प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन में कुछ लोग सतनाम वाहेगुरु का नाम जप रहे थे, तो कुछ ऐसे लोग शामिल रहे जिन्होंने हाथों में भिडंरावाले के झंडे और पोस्टर लिए हुए थे। साथ ही वे खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे।

प्रदर्शन का नेतृत्व करने वालों ने इसका विरोध भी नहीं किया। सिख कार्यकर्ता जगदीप औलख ने बताया कि समाज में लगातार भाईचारा और धार्मिक माहौल बिगाडऩे की कोशिश की जा रही है। हमें सरकार का ध्यान इस ओर दिलवाना है कि ऐसा करने वालों पर कानूनी कार्रवाई की जाए, ताकि देश-प्रदेश में भाईचारा बना रहे। उसी के लिए रोष मार्च निकाला गया है। राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा गया है।

भिंडरावाले के पोस्टर की बात पर यूथ अकाली दल प्रदेश प्रधान सुरेंदर रामगढिय़ा ने बताया कि सिख धर्म अकाल तख्त से आने वाले आदेश का पालन करता है। अकाल तख्त ने भिंडरावाले को शहीद का दर्जा दिया हुआ है। ऐसे में इसका विरोध जताना गलत है। हैप्पी औलख ने कहा कि भाजपा ने क्क व अन्य प्रदेशों की तरह हरियाणा में भी दंगे भडक़ाए हैं। ऐसी घटनाओं को बंद करने के लिए रोष मार्च निकाला है। सामाजिक भाईचारा कायम रहे और ऐसे तत्वों को सरकार सहयोग न करे।