पंजाब के नए चीफ सेक्रेटरी पर बड़ा विवाद: हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान मान सरकार को आ गया यह निर्देश, देखिए पूरी खबर
Punjab New Chief Secretary Controversy

Punjab New Chief Secretary Controversy

पंजाब के नए चीफ सेक्रेटरी पर बड़ा विवाद: हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान मान सरकार को आ गया यह निर्देश, देखिए पूरी खबर

Punjab New Chief Secretary Controversy : पंजाब में वीके जंजुआ को चीफ सेक्रेटरी (Punjab Chief Secretary Vk Janjua) बनाये जाने पर बड़ा विवाद छिड़ गया है। अब इस पूरे मामले पर पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में सुनवाई हो रही है। आज सोमवार को हुई सुनवाई में हाईकोर्ट ने पंजाब की मान सरकार को इस पूरे मामले में विस्तृत रिकॉर्ड पेश करने का निर्देश दिया है। हाईकोर्ट अब 2 हफ्ते बाद अगली सुनवाई करेगा।

नए एडवोकेट जनरल विनोद घई ने रखा सरकार का पक्ष ...

बतादें कि, इस पूरे मामले की सुनवाई में पंजाब के नए एडवोकेट जनरल विनोद घई ने मान सरकार का पक्ष हाईकोर्ट में रखा। मिली जानकारी के अनुसार, सरकार की तरफ से एडवोकेट जनरल विनोद घई ने हाईकोर्ट को बताया कि वीके जंजुआ का चीफ सेक्रेटरी पद पर ट्रांसफर किया गया है। वीके जंजुआ की प्रमोशन के तहत कोई नियुक्ति नहीं हुई है।

आपको बतादें कि, वीके जंजुआ को चीफ सेक्रेटरी बनाये जाने पर उनकी इस नियुक्ति को हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है। चुनौती में कहा गया है कि, जंजुआ के खिलाफ करप्शन केस पेंडिंग है। ऐसे में उन्हें चीफ सेक्रेटरी कैसे बनाया जा सकता है?

रिश्वत लेने का है केस...

जानकारी के अनुसार, 2009 में रिश्वत लेने के आरोप में वीके जंजुआ पर विजिलेंस ब्यूरो ने कार्रवाई की थी। जिसके बाद उन्हें उस दौरान उनके पद से हटा दिया गया था। फिलहाल, आपको बतादें कि, आम आदमी पार्टी की सरकार ने हाल ही में वीके जंजुआ को चीफ सेक्रेटरी लगाया है। इससे पहले यह पद अनिरुद्ध तिवारी के पास था। तिवारी को पिछली कांग्रेस सरकार ने चीफ सेक्रेटरी बनाया था।