Deepotsavam: कार्तिक मास का दीपोत्सवम में एक लाख दीप प्रज्वलित ।

Punjab CM

Deepotsavam: कार्तिक मास का दीपोत्सवम में एक लाख दीप प्रज्वलित ।

Deepotsavam

Deepotsavam

( अर्थप्रकाश / बोम्मा रेडड्डी ) श्रीशैलम :: (आंध्र प्रदेश) Deepotsavam: करनूल जिला में स्थित द्वादश ज्योतिर्लिंग में से एक श्री मल्लिकार्जुन भ्रमारंबिका माता जी(Sri Mallikarjuna Bhramarambika Mata Ji) का निवास देवताओं द्वारा निर्मित मंदिर बनाना तथा शिवजी तीनो लोक में यहीं पर आरती लेने की शिव पुराण में भी वर्णन है जिसके चलते यहां पहुंचते हैं लाखों श्रद्धालु।   

श्रीशैलम में श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा  कार्तिक मास का अंतिम सोमवार था और भारी भीड़ थी। आंध्रा, तेलंगाना,कर्नाटका,तामीलनाडू, उड़ीसा, महाराष्ट से श्रीशैलम कार्तिक मास का समापन अंतिम सोमवार को भक्तों को देखा गया अनेक राज्यों से वाहनों में पहुंचे 

कार्तिक मास के महीने भर हर दिन खास होता है। लेकिन शिव पुराण कथा अनेक ग्रंथ कहते हैं कि सोमवार का दिन और भी खास होता है। इसी पृष्ठभूमि में कार्तिक मास के प्रथम सोमवार से भक्तों ने इस माह के प्रत्येक सोमवार को विशेष पूजा-अर्चना की। चूंकि यह इस महीने का आखिरी सोमवार है.. जिसके अंतिम दिन के मंदिर के पुष्करिणी में (लक्ष) एक लारव दीपोत्सवम प्रज्वलित कर आरती दी गई है । पुष्करिणी में एक विशेष मंच पर, भ्रामराम्बा ने मल्लिकार्जुनस्वामी के साथ शक्तिपीठ माता जी का  उत्सवमूर्तियों को स्थापित कर।

मुख्य पुरोहितों वा वैदिक पुजारियों एवँ वैदिक विद्वानों ने दीपोत्सव संकल्प का पाठ किया और विशेष पूजा की। उसके बाद, उन्होंने  उत्सव मूर्तियों समक्ष पुष्करिणी पर अनुष्ठान पूर्वक नृत्य करके भक्तों को आशीर्वाद दिया गया। 

इस मौके पर मंदिर मुख्य कार्यपालन अधिकारी ​​एस लवन्ना, श्रीशैल देवस्थानम न्यास बोर्ड के प्रधान अध्यक्ष श्रीरेड्डी चक्रपाणि रेड्डी, तथा ट्रस्ट के मधुसुधन रेड्डी वा सभी सदस्य, अधिकारी गण और बड़ी संख्या में भक्तों ने भाग लिया।

यह पढ़ें:

यह पढ़ें: