ओम प्रकाश चौटाला की संपत्तियां होंगी जब्त: दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने इतने साल की सजा सुनाने के साथ भारी जुर्माना भी लगाया
Om Prakash Chautala 4 Years Sentenced

Om Prakash Chautala 4 Years Sentenced

ओम प्रकाश चौटाला की संपत्तियां होंगी जब्त: दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने इतने साल की सजा सुनाने के साथ भारी जुर्माना भी लगाया

Om Prakash Chautala Sentenced : आय से अधिक संपत्ति मामले में दोषी पाए गए हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री व इनेलो सुप्रीमो ओम प्रकाश चौटाला पर आज सजा का फैसला आ गया है| दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने चौटाला को 4 साल की सजा सुनाई है और साथ ही 50 लाख का भारी जुर्माना लगाया है| इसके साथ ही चौटाला की चार संपत्तियों को जब्त करने का भी आदेश दिया गया है| ध्यान रहे कि, बीते कल बहस के बाद कोर्ट ने सजा पर फैसला सुरक्षित रख लिया था| 21 मई को राउज एवेन्यू कोर्ट ने ओम प्रकाश चौटाला को आय से अधिक संपत्ति मामले में दोषी करार दिया था|

जुर्माने की राशि से पांच लाख रूपए सीबीआई को....

राउज एवेन्यू कोर्ट ने चौटाला पर 50 लाख का जो भारी जुर्माना लगाया है, इस जुर्माना राशि से पांच लाख रूपए सीबीआई को दिए जायेंगे| वहीं, अगर चौटाला की तरफ से 50 लाख रूपए का जुर्माना नहीं भरा जाता है तो इसके बदले में उनकी सजा 6 महीने और बढ़ा दी जाएगी| इधर, कोर्ट ने चौटाला की जिन चार सम्पतियों को जब्त करने का आदेश दिया है, उनमें दिल्ली के हेली रोड पर एक, असोला में एक, गुरुग्राम और पंचकूला की एक-एक संपत्ति शामिल है|

ओम प्रकाश चौटाला ने मांगी थी राहत...

बतादें कि, ओम प्रकाश चौटाला की तरफ से कोर्ट में राहत देने की अपील की गई थी| दरअसल, चौटाला के वकील ने कोर्ट में दलील देते हुए कहा था कि ओम प्रकाश चौटाला की अब उम्र बहुत ज्यादा है और वह शरीर से काफी असमर्थ हैं| जिसे देखते हुए उन्हें सजा में राहत दी जाए| लेकिन चौटाला की तरफ से कोई दलील कोर्ट में चल न सकी और कोर्ट ने सजा का ऐलान कर दिया|

चौटाला की तरफ से दी गई दलील का सीबीआई ने किया था विरोध ....

इधर सीबीआई की तरफ से कोर्ट में ओम प्रकाश चौटाला के वकील की दलील का विरोध किया गया था| सीबीआई की तरफ से कोर्ट में कहा गया था कि ओम प्रकाश चौटाला को अधिकतम सजा दी जानी चाहिए क्योंकि इससे समाज में एक संदेश जाएगा| ऐसा इसलिए कि ओम प्रकाश चौटाला एक सार्वजनिक व्यक्ति है| पर अगर उन्हें न्यूनतम सजा मिलती है तो इससे समाज में गलत संदेश जाएगा। सीबीआई ने अपनी दलील देते हुए कहा था कि ओम प्रकाश चौटाला का पुराना इतिहास साफ नहीं है, यह दूसरा मामला है जिसमें उन्हें दोषी ठहराया गया है।

CBI ने चार्जशीट दाखिल की थी ....

जानकारी के अनुसार, आय से अधिक संपत्ति मामले में ओम प्रकाश चौटाला के खिलाफ सीबीआई ने चार्जशीट दाखिल की है। सीबीआई ने बताया है कि, चौटाला ने 1993 से 2006 के बीच आय से काफी अधिक करोड़ों रुपए की संपत्ति जुटाई है।

हाल ही में सजा पूरी कर छूटे थे जेल से...

बतादें कि, ओम प्रकाश चौटाला पर यह विवाद कोई नया नहीं है| इससे पहले वह जेबीटी शिक्षक भर्ती घोटाले में जेल जा चुके हैं| ओम प्रकाश चौटाला सहित और अन्य लोगों को जेबीटी शिक्षक भर्ती घोटाले में सीबीआई की विशेष अदालत ने 10 साल की सजा सुनाई थी| जिसके बाद ओम प्रकाश चौटाला को दिल्ली की तिहाड़ जेल में रखा गया था|

पिछले साल ही ओम प्रकाश चौटाला की सजा पूरी हुई और उन्हें 2 जुलाई को तिहाड़ जेल से रिहा (Tihar Jail) कर दिया गया| ओम प्रकाश चौटाला की की रिहाई से उनके समर्थक भारी खुशी की लहर दौड़ गई थी| माना जाने लगा था कि ओम प्रकाश चौटाला के जेल से बाहर आने के बाद हरियाणा की राजनीति में बदलाव आएगा|