MP Harbhajan raised the issue of Afghan Sikhs
Harbhajan-Singh-MP

MP Harbhajan raised the issue of Afghan Sikhs

सांसद हरभजन ने उठाया अफगान सिखों का मुद्दा, देखें राज्यसभा में क्या बोले 

चंडीगढ़। पंजाब से राज्यसभा सांसद एवं पूर्व क्रिकेटर हरभजन सिंह ने अफगानी सिखों की सुरक्षा का मुद्दा राज्यसभा में उठाया। बुधवार को राज्यसभा में उन्होंने कहा कि तालिबान के सत्ता में आने के बाद वहां सिर्फ 150 सिख बचे हैं। केंद्र सरकार उनकी सुरक्षा के प्रति गंभीरता दिखाए।

गुरूद्वारों पर हमलों से हो रही सिखों की भावनाएं आहत

हरभजन ने कहा कि अफगानिस्तान में सिखों और गुरूद्वारों पर हमले से सिखों की भावनाएं आहत हो रही हैं। यह सिखों की पहचान पर हमला हो रहा है। सिखों को क्यों निशाना बनाया जा रहा है? जबकि कोविड के दौरान गुरुद्वारों ने सिर्फ भोजन ही नहीं बल्कि ऑक्सीजन तक उपलब्ध कराई। देश की आजादी, जीडीपी, रोजगार और दान-धर्म में सिख समुदाय हमेशा आगे रहा है। सिख समुदाय भारत और दूसरे देशों के संबंधों में मजबूत कड़ी रहा है। सिख साहस और पराक्रम के लिए जाने जाते हैं। फिर हमारे साथ ऐसा सलूक क्यों?।

25 मार्च को रायसाहिब गुरूद्वारे पर हुए हमले में 25 लोगों की हत्या हुई

सांसद ने कहा कि 18 जून को काबुल में गुरुद्वारा दशमेश पिता साहिब जी कर्ते परवान में कई धमाके हुए। परिसर की तरफ जाने वाले किले और दरवाजे पर गोलियां चलाई। जिसमें 2 लोगों की मौत और कई घायल हुए। 25 मार्च 2020 को आईएस के बंदूकधारी हमलावरों ने रायसाहिब गुरूद्वारे पर हमला किया। इमारत में 200 लोग थे। जिसमें महिलाओं समेत 25 सिखों की मौत हुई। उनके अंतिम संस्कार के अगले दिन फिर हमला हुआ। 2018 में भी पूर्वी शहर जलालाबाद में हमला हुआ।

सांसद हरभजन सिंह ने कहा कि अफगानिस्तान कभी हजारों सिखों और हिंदुओं का घर था। अब यहां मुट्ठी भर रह गए हैं। 1980 के दशक में 2.20 लाख सिख और हिंदू रहते थे।