Karnataka abortion racket: Investigation revealed, accused aborted 3,000 female fetuses
BREAKING
Haryana: आसमानी बिजली गिरने से बाबैन के गांव खिड़की वीरान में खेत में सरसों काट रहे मां सरोज बाला व बेटे रमन सैनी की मौके पर हुई मौत BJP के लोकसभा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी; PM मोदी यहां से लड़ेंगे चुनाव? जानिए कहां से कौन उम्मीदवार खड़ा BJP के एक और सांसद ने सक्रिय राजनीति से संन्यास लिया; जेपी नड्डा को लिखा पत्र, इससे पहले गौतम गंभीर ऐसा ही कर चुके भारत में स्पेन की महिला का गैंगरेप; झारखंड में घूमने आई थी, रात में दरिंदों ने मारपीट कर जिस्म नोचा, अस्पताल में इलाज चल रहा युवराज सिंह ने कहा- मैं गुरदासपुर से चुनाव नहीं लड़ रहा; BJP के टिकट पर लड़ने की चर्चा थी, सनी देओल को साइड कर रही पार्टी

कर्नाटक गर्भपात रैकेट : जांच में खुलासा, आरोपियों ने 3,000 कन्या भ्रूणों का गर्भपात किया

Karnataka abortion racket: Investigation revealed, accused aborted 3,000 female fetuses

Karnataka abortion racket: Investigation revealed, accused aborted 3,000 female fetuses

Karnataka abortion racket: Investigation revealed, accused aborted 3,000 female fetuses- बेंगलुरु। बेंगलुरु में हाल ही में सामने आए भ्रूणहत्या घोटाले की जांच में चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। आरोपियों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने अब तक 3,000 कन्या भ्रूणों का गर्भपात किया है।

बेंगलुरु के पुलिस कमिश्नर बी. दयानंद ने मंगलवार को पत्रकारों को बताया कि जांच से पता चला है कि आरोपियों ने अब तक 3,000 गर्भपात कराए हैं और पिछले तीन महीनों में ही 242 कन्या भ्रूणों की हत्या कर दी गई।

आरोपियों ने पैसा कमाने के लिए प्रति वर्ष 1,000 गर्भपात का लक्ष्य रखा था। वे प्रति गर्भावस्था समाप्ति के लिए 20,000 से 25,000 रुपये लेते थे।

यह घोटाला तब सामने आया जब 15 अक्टूबर को बयप्पनहल्ली पुलिस ने संदिग्ध रूप से घूम रहे एक वाहन को रोकने की कोशिश की। वाहन का चालक नहीं रुका। इसके बाद पुलिस ने वाहन का पीछा कर उसे पकड़ लिया।

पूछताछ के दौरान आरोपियों ने गर्भपात रैकेट के बारे में खुलासा किया। पुलिस ने इस घृणित गतिविधि में शामिल होने के आरोप में अब तक दो डॉक्टरों और तीन लैब तकनीशियनों सहित नौ लोगों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस कमिश्नर दयानंद ने कहा कि गिरफ्तार किए गए लोगों में से दो को अपहरण के मामले में भी शामिल पाया गया। गृह मंत्री डॉ. जी परमेश्वर ने कहा है कि मामले की जांच जल्द ही पूरी हो जाएगी और सब कुछ सामने आ जाएगा।

जांच से यह भी पता चला कि गर्भपात मांड्या जिले में एक जैगरी प्रोडक्शन यूनिट में किया गया था, जहां आरोपियों ने एक लैब और संबंधित सुविधाएं स्थापित की थी। मंड्या के सहायक आयुक्त शिवमूर्ति ने कहा कि जिला आयुक्त के आदेश के अनुसार जैगरी प्रोडक्शन यूनिट को सीज कर दिया गया है।