सत्ता से जाने के बाद बेचैन हैं इमरान खान, अब शहबाज सरकार को दिया अल्टीमेटम; जानें क्या कहा
सत्ता से जाने के बाद बेचैन हैं इमरान खान

सत्ता से जाने के बाद बेचैन हैं इमरान खान, अब शहबाज सरकार को दिया अल्टीमेटम; जानें क्या कहा

सत्ता से जाने के बाद बेचैन हैं इमरान खान, अब शहबाज सरकार को दिया अल्टीमेटम; जानें क्या कहा

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने शहबाज सरकार को चुनाव का ऐलान कराने के लिए 6 दिन का अल्टीमेटम दिया है. उन्होंने कहा कि सरकार 6 दिन में चुनाव की तारीख का ऐलान करें. यदि सरकार ने इस दौरान चुनाव की घोषणा नहीं की तो पूरा देश इस्लामाबाद लौट जाएगा.दरअसल पाकिस्तान में शहबाज शरीफ की सरकार के खिलाफ पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने आजादी मार्च बुलाया ताकि देश में नए सिरे से चुनाव कराने के लिए दबाव बनाया जा सके. पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के कार्यकर्ताओं की ओर से कई शहरों में विरोध प्रदर्शन किए गए जिसे देखते हुए कई इलाकों में इंटरनेट सेवा पर रोक लगाई गई.

पुलिस ने भी मौके पर पहुंचकर कार्रवाई शुरू कर दी. जिस दौरान PTI के समर्थकों और पुलिस के बीच झड़प भी हुई. पुलिस ने खान समर्थकों पर टियर गैस का इस्तेमाल किया. पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के आजादी मार्च को देखते हुए इस्लामाबाद को रेड जोन घोषित कर दिया गया था. वहीं, गृह मंत्रालय ने सुरक्षा को देखते हुए सेना की तैनाती का निर्देश दिया था.

इमरान खान का शहबाज सरकार पर दबाव

इस्लामाबाद में संबोधन के दौरान इमरान खान ने कहा, ‘मैंने तय किया था कि मैं यहां तब तक बैठूंगा जब तक कि सरकार विधानसभाओं को भंग नहीं कर देती और चुनाव की घोषणा नहीं कर देती, लेकिन पिछले 24 घंटों में मैंने जो देखा है, वे (सरकार) देश को अराजकता की ओर ले जा रहे हैं.’वहीं इस मामले पर पाकिस्तान के मानवाधिकार आयोग (एचआरसीपी) ने ट्वीट करके कहा, ‘हम मानते हैं कि सभी नागरिकों और सभी राजनीतिक दलों को शांतिपूर्ण तरीके से इकट्ठा होने और विरोध करने का पूरा अधिकार है.

वहीं मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इससे पहले, प्रधान मंत्री शहबाज सरकार ने देश में फिर से चुनाव कराने के लिए (पीटीआई) के प्रमुख इमरान खान की मांगों को खारिज कर दिया था और कहा कि सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी.शहबाज सरकार के नेतृत्व वाले पीएमएल-एन और उसके सहयोगियों ने ऐलान किया था कि मौजूदा सरकार अगस्त 2023 तक अपना कार्यकाल पूरा करेगी. उसके बाद आम चुनाव अगले साल निर्धारित समय पर होंगे.

वहीं इससे पहले इमरान खान ने जल्द चुनाव कराने को लेकर बुधवार को आजादी मार्च का ऐलान किया था. जब इमरान सरकार को प्रदर्शन करने से रोका गया तो इस मार्च में शामिल होने वाले लोग बेकाबू हो गए, जिसके कारण कई जगहों पर हिंसक घटनाएं भी हुई हैं. इस्लामाबाद में प्रदर्शनकारियों ने कई पेड़ और गाड़ियों को जला दिया. पाकिस्तान प्रशासन को आग बुझाने के लिए दमकल गाड़ियों को सहारा लेना पड़ा है.अब इमरान खान वापस लौट आए हैं.