जीरकपुर में नियमों की धज्जियां उड़ाकर शोरूम बने होटल
जीरकपुर में नियमों की धज्जियां उड़ाकर शोरूम बने होटल

जीरकपुर में नियमों की धज्जियां उड़ाकर शोरूम बने होटल

जीरकपुर में नियमों की धज्जियां उड़ाकर शोरूम बने होटल

कहीं नहीं है पार्किंग की व्यवस्था
बगैर मंजूरी के बना रहे दूसरी व तीसरी मंजिल
तीन की जगह बने 20 बाथरूम
इमारतों में आग बुझाने का भी नहीं कोई प्रबंध
जैक ने विजिलेंस ब्यूरो को सौंपी सूची

जीरकपुर। जीरकपुर में नियमों की धज्जियां उड़ाकर शोरूम को होटल बनाया जा रहा है। नगर परिषद कार्रवाई करने की बजाए अवैध निर्माणों को बढ़ावा दे रही है। हालात यह है कि जीरकपुर में जिस शोरूम मालिक का शोरूम किराये पर नहीं चढ़ रहा है वह उसे होटलों में तब्दील कर रहा है। यहां किसी भी नियम का पालन नहीं हो रहा है। जैक रैजीडेंटस वैलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष सुखदेव चौधरी ने इस बारे में पंजाब विजिलेंस ब्यूरो को एक शिकायत दी है। जिसमें यहां शोरूम में चल रहे होटलों का ब्यौरा दिया गया है।

जैक प्रधान सुखदेव चौधरी ने बताया कि यहां पीरमुछल्ला, ढकौली, वीआईपी रोड, ओल्ड अंबाला रोड समेत कई इलाके ऐसे हैं जहां शोरूम को होटलों में बदला जा रहा है। इसके लिए संचालकों द्वारा किसी प्रकार के नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है। यहां शोरूम में चल रहे ज्यादातर होटलों में न केवल अवैध कारोबार होता है बल्कि किसी ने भी पार्किंग की व्यवस्था नहीं की है।

उन्होंने बताया कि यहां नक्शा तो बेसमेंट, ग्रांउड तथा फस्र्ट फलौर का पास होता है लेकिन ज्यादातर ने अधिकारियों के साथ मिलीभुगत करके दूसरी व तीसरी मंजिल का निर्माण कर लिया है। सुखदेव चौधरी ने बताया कि इन कथित होटल मालिकों द्वारा फायर ब्रिगेड से भी एनओसी नहीं ली जाती है। क्योंकि यहां कई तरह के नियमों का उलंघन हो रहा है। इन शोरूमनुमा होटलों में अगर आगजनी की घटना हो जाती है तो बचाव का कोई प्रबंध नहीं है। सुखदेव चौधरी ने बताया कि उन्होंने इस संबंध में पंजाब विजिलेंस ब्यूरो को शिकायत भेजकर नगर परिषद की जांच के अलावा नियमों की धज्जियां उड़ाकर चल रहे होटलों की जांच की मांग की है।