Hooda's meeting with farmer organizations, see what was discussed
Hooda's meeting with farmer organizations, see what was discussed

Hooda's meeting with farmer organizations, see what was discussed

हुड्डा की किसान संगठनों से बैठक, देखें क्या की चर्चा

चंडीगढ़। उदयपुर चिंतन शिविर के लिए खेती और किसानों के मुद्दे पर भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व में कमेटी गठित की गई है। इसी के चलते दिल्ली में हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा के आवास पर किसान नेता पहुंचे। किसान नेता राकेश टिकैत, युद्धवीर सिंह भी आवास पर पहुंचे हैं। हुड्डा ने कहा कि पंजाब, तमिलनाडू, कर्नाटक और उत्तराखंड से किसान आए है।

उन्होंने कहा कि एमएसपी को लेकर सी टू फार्मूला लागू करवाया जाए। ये एमएसपी पर लागू होना चाहिए। पानी, इंपोर्ट ड्यूटी, हाई टेंशन वायर, लैंड कंप्लषेशन, कर्जा, क्लाइमेंट चेंज जैसे मुद्दों पर डिस्कस की गई। किसानों की समस्याओं पर चर्चा की गई। किसान नेताओं ने सुझाव दिए गए। कॉन्सेप्ट पेपर बनाकर डिस्कस की जाएगी। वर्ष 2024 में सरकार बनने पर किसानों के लिए क्या लागू किया जा सकें, इसलिए इस पर चर्चा करना जरूरी है। हुड्डा ने कहा कि सरकार एमएसपी पर बिल लेकर आए, यदि कोई कम पर फसल खरीदता है तो सजा का प्रावधान हो।

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि हमने किसानों की समस्याएं रखी। सरकार के साथ हमारी बातचीत एमएसपी पर रखी गई। यह हमारा पॉलिटिकल एजेंडा नहीं है। एमएसपी के लिए कमेटी बनाने के लिए सरकार ने नाम मांगे हैं, जल्द ही सरकार को नाम दिए जाएंगे। किसान नेता युद्वीर सिंह ने कहा कि बीजेपी ने सी टू फॉर्मूले को अपने एजेंडे में रखा। किसान घाटे में जा रहा है। एमएसपी पर खरीद होना सबसे महत्वपूर्ण है। उस कीमत से कम बोली ना लगे। इलेक्ट्रिसिटी बिल आता है तो पूरे देश में किसान मुसीबत में आ जाएगा। हमने भूपेंद्र हुड्डा को कहा है कि वे इस बिल पर पार्टी प्लेटफार्म पर चर्चा करें।

बतां दे कि कांग्रेस ने पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व में एक कमेटी गठित की है। यह 13 से 15 मई को उदयपुर में होगा। इससे पहले भूपेंद्र सिंह ने हुड्डा ने अपने दिल्ली आवास पर कमेटी के सदस्यों के साथ कांग्रेस वार रूम में बैठक की थी। जिसमें किसानों की कृषि संबंधी समस्याओं पर चर्चा की गई थी। इसी के चलते कांग्रेस ने किसान संगठनों को बुलाया।