BREAKING
चंडीगढ़ लोकसभा के लिए मनीष तिवारी के टिकट की घोषणा के बाद चंडीगढ़ युवा कांग्रेस से इन पद धारकों के इस्तीफे के बारे में कुछ अटकलें उत्तराखंड के पूर्व डीजीपी अशोक अग्रवाल की बेटी कुहू गर्ग को यू पी एस सी परीक्षा में मिली 176वी रैंक छत्तीसगढ़ में 18 नक्सलियों का एनकाउंटर; सुरक्षाकर्मियों ने जंगल में मार गिराया, भारी मात्रा में हथियार बरामद, 3 जवान भी घायल हिसार से रणजीत सिंह के सामने होंगी जजपा की नैना चौटाला, जजपा ने हरियाणा की पांच लोकसभा सीटों पर उतारे प्रत्याशी चंडीगढ़ में मर्डर कर यूपी में बाबा बना शख्स; 35 साल तलाशती रही पुलिस, खुद का भी भेष बदला, अब अपनाई ये ट्रिक तो आ गया जाल में

करनाल विधानसभा उपचुनाव पर हाईकोर्ट का बड़ा फैसला; रोक लगाने की याचिका खारिज, हरियाणा के नए CM नायब सैनी इस सीट से उम्मीदवार

Punjab-Haryana High Court Karnal By Election Petition Dismissed

Punjab-Haryana High Court Karnal By Election Petition Dismissed

Karnal Assembly By-Election: करनाल विधानसभा उपचुनाव को लेकर पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट से अब रास्ता साफ हो गया है। हाईकोर्ट ने करनाल उपचुनाव पर रोक लगाने वाली याचिका खारिज कर दी है। इससे पहले बीते मंगलवार की सुनवाई में हाईकोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।

दरअसल, करनाल उपचुनाव को लेकर हाईकोर्ट में दाखिल याचिका में कहा गया था कि, हरियाणा विधानसभा चुनाव में अब 1 साल से कम समय बचा है। ऐसे में करनाल उपचुनाव पर रोक लगाई जाये। याचिकाकर्ता ने बॉम्बे हाईकोर्ट के एक आदेश का भी जिक्र अपनी याचिका में किया था। जिसमें यह बताया गया था कि कैसे महाराष्ट्र के अकोला उपचुनाव पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने रोक लगा दी थी।

क्योंकि वहां भी विधानसभा चुनाव में एक साल से कम समय बचा था। ऐसे में बॉम्बे हाईकोर्ट ने आयोग को उपचुनाव रोकने का आदेश जारी कर दिया था। इसलिए करनाल उपचुनाव पर भी पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट द्वारा रोक लगा दी जाए। क्योंकि हरियाणा में भी विधानसभा का कार्यकाल एक वर्ष से कम है। ऐसे में चुनाव आयोग के पास उपचुनाव कराने का कोई अधिकार नहीं है।

हाईकोर्ट के फैसले से हरियाणा सरकार को राहत

हाईकोर्ट के फैसले पर आज हरियाणा सरकार की खास नजर थी। इस फैसले से हरियाणा सरकार को बड़ी राहत मिली है. दरअसल, हरियाणा के नए CM नायब सैनी को इस सीट से उम्मीदवार बनाया गया है। बीजेपी नायब सैनी को यहां से उपचुनाव लड़वा रही है। नायब सैनी अभी कुरुक्षेत्र लोकसभा सीट से सांसद हैं। सीएम बने रहने के लिए नायब सैनी को 6 महीने के अंदर विधायक बनना जरूरी है। नहीं तो उन्हें हरियाणा के सीएम पद से इस्तीफा देना पड़ेगा।

मनोहर लाल के इस्तीफे से खाली हुई करनाल सीट

ज्ञात रहे कि, पूर्व सीएम मनोहर लाल खट्टर के इस्तीफे के बाद से करनाल सीट खाली हुई है। 12 मार्च को सीएम पद से इस्तीफा देने के बाद मनोहर लाल ने 13 मार्च को विधायक पद से इस्तीफा दे दिया था। जिसके बाद 16 मार्च को चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव शेड्यूल की घोषणा करते हुए हरियाणा समेत विभिन्न राज्यों की खाली विधानसभा सीटों पर उपचुनाव की घोषणा की थी। हरियाणा की 10 लोकसभा सीटों के साथ-साथ करनाल विधानसभा सीट पर 25 मई को उपचुनाव होना है।