Home » ब्रेकिंग न्यूज़ » हरियाणा विधानसभा चुनाव-2019: अशोक तंवर व दुष्यंत का एकजुट होना भाजपा के ग्राफ को घटा पायेगा?
रविंद्र पाठक बने पंचकूला हरियाणा रोडवेज के GM, देखें आदेश
रविंद्र पाठक बने पंचकूला हरियाणा रोडवेज के GM, देखें आदेश

हरियाणा विधानसभा चुनाव-2019: अशोक तंवर व दुष्यंत का एकजुट होना भाजपा के ग्राफ को घटा पायेगा?

चंडीगढ़: हरियाणा विधानसभा चुनाव पूरी तरह रंग में रंग चुका है|वहीँ, पिछले दिनों कांग्रेस को
बाय बाय कहने वाले पूर्व हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर ने JJP प्रमुख दुष्यंत चौटाला के साथ जॉइंट प्रेस कॉन्फ्रेस कर अपने समर्थकों को सन्देश दे दिया है कि, वह JJP प्रत्याशी की मदद करें|अब सवाल पैदा होता है कि विधानसभा चुनाव कि लिए वोटिंग 21 अक्टूबर को होनी है, जहां अब मात्र चार दिन बचे हुए हैं|इन दोनों का एकजुट होना आने वाले चार दिनों में क्या रंग दिखापायेगा|यह चर्चा का विषय बन गया है|

उधर, दूसरी ओर बीजेपी के 75 पार के नारे पर संकट के बादल नजर आने लगे हैं, जमीनी रिपोर्ट मिलने के बाद आरएसएस ने पूरा मोर्चा संभाल लिया है|एबीसी व गंगा एडवरटाइजिंग द्वारा किए गए सर्वे में भी भाजपा को 60 से 64 सीटें मिलने का दावा किया गया था। इस सर्वे के बाद सतर्क हुए हरियाणा भाजपा के नेताओं ने हाईकमान को ग्रांउड जीरो की रिपोर्ट से अवगत करवाया गया था, लेकिन अब आंतरिक सर्वे स संकेतों से स्थिति दूसरी तरह की उभरकर आ रही है। हरियाणा भाजपा के नेता मंच से भले ही बड़े-बड़े दावे करते रहें लेकिन ग्रांउड जीरो पर भाजपा की जमीन लगातार खिसक रही है।

एबीसी व गंगा एडवरटाइजिंग द्वारा किए गए सर्वे के बाद हरियाणा भाजपा के नेताओं ने हाई कमान को ग्राउंड जीरों की रिपोर्ट से अवगत कराया।  यह मामला भाजपा के सामाजिक एवं मातृ संगठन राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के मुख्यालय भी पहुंचा। हालांकि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के आरएसएस से होने के चलते संघ पहले से ही हरियाणा में सक्रिय हैं, लेकिन सर्वे में भाजपा का मिशन 75 पार का सपना पूरा न होने के संकेत के बाद आरएसएस पूरी तरह से सक्रिय हो गया है। जिसके चलते मंगलवार से संघ के नेताओं ने हरियाणा में अपनी गतिविधियों को बढ़ा दिया है।

संघ प्रचारक विजय भाटिया, प्रांतीय संघ चालक पवन जिंदल, व्यवस्था प्रमुख रविंद्र सक्सेना समेत संघ के तमाम बड़े नेताओं ने हरियाणा में प्रवास कार्यक्रम तय करके उन्हें अमली रूप देना शुरू कर दिया है। संघ के प्रांत कार्यवाह सुभाष आहूजा द्वारा इस संबंध में सभी नेताओं को जारी पत्र में कहा गया है कि विधानसभा चुनाव में अपने संघ विचार परिवार के सभी स्वयं सेवक हमेशा की तरह राष्ट्रभक्त व जिम्मेदार नागरिक की अपनी लोकतांत्रिक भूमिका का निर्वहन करें।

जिसके चलते प्रदेश के सभी नगरों व खंडों में आगामी दो-तीन दिनों के भीतर बड़ी-बड़ी बैठकें करने की योजना है। इन बैठकों में लोगों को शत-प्रतिशत मतदान, जलपान से पूर्व मतदान करने के लिए प्रेरित करने के अलावा जाति-पाति व अन्य निजी/स्थानीय छोटे विषयों से उपर उठकर समाज व राष्ट्र के हित में व्यापक मतदान करने के लिए ग्रांउड तैयार करेंगे।

पत्र में कहा गया है कि संघ के जिला कार्यवाह के दिशा-निर्देश पर इन बैठकों की कार्य योजना तैयार करके तत्काल प्रभाव से बैठकों का आयोजन किया जाए। इसके अलावा संघ ने माइक्रो मैनेजमेंट की तरफ ध्यान देते हुए यह भी साफ कर दिया है कि बैठक के आयोजन, रचना आदि की जिम्मेदारी विभाग कार्यवाह की होगी। इसके अलावा संघ द्वारा प्रांतीय नेताओं को यह भी निर्देश दिए गए हैं कि वह ग्रांउड जीरो पर काम करते हुए संघ के उन नेताओं के साथ भी संपर्क करें जो मुख्यमंत्री से नाराज चल रहे हैं।

संघ मुख्यालय ने रखी है पूरी नजर……

संघ के प्रांतीय नेता फील्ड में उतरकर उन नेताओं अथवा कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे जो किन्ही कारणों से सरकार अथवा मुख्यमंत्री से नाराज चल रहे हैं। संघ नेताओं द्वारा समय के अभाव के चलते नाराज कार्यकर्ताओं को मनाकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल से या तो उनकी बात करवाई जाएगी अथवा निकटवर्ती कार्यक्रम स्थल पर ले जाकर उनकी मुलाकात करवाई जाएगी। इस पूरी एक्सरसाइज का मुख्य उद्देश्य भाजपा को मिशन-75 में कामयाबी दिलाना है जिसका जिम्मा अब संघ ने उठा लिया है।

पहली बार संघ ने ही चढाई थी सत्ता की सीढ़ी….

हरियाणा में पिछले चुनाव में भी भाजपा को सत्ता की सीढ़ी तक पहुंचाने में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की भूमिका अहम रही थी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने संघ में रहते हुए लंबे समय तक हरियाणा में भाजपा की जड़ों को मजबूत किया था। पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान भी अंतिम चार दिनों तक आरएसएस के नेताओं ने हरियाणा में प्रवास करके धरातल पर काम करते हुए भाजपा को पहली बार सत्ता हासिल करने में अहम भूमिका निभाई थी।

Check Also

PUNJAB CABINET DELIBERATES UPON SEVERAL PRO-POOR INITIATIVES

PUNJAB CABINET DELIBERATES UPON SEVERAL PRO-POOR INITIATIVES

PUNJAB CABINET DELIBERATES UPON SEVERAL PRO-POOR INITIATIVES: The Punjab Cabinet led by Chief Minister Charanjit …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel