फतेहगढ़ साहिब जिले में एक ही परिवार की तीन पीढिय़ों के चार खिलाड़ी खेल में दिखाएंगे जौहर
फतेहगढ़ साहिब जिले में एक ही परिवार की तीन पीढिय़ों के चार खिलाड़ी खेल में दिखाएंगे जौहर

फतेहगढ़ साहिब जिले में एक ही परिवार की तीन पीढिय़ों के चार खिलाड़ी खेल में दिखाएंगे जौहर

फतेहगढ़ साहिब जिले में एक ही परिवार की तीन पीढिय़ों के चार खिलाड़ी खेल में दिखाएंगे जौहर

पंजाब के हर परिवार को खेल के साथ जोडऩा है मुख्य मकसद: मीत हेयर

चंडीगढ़, 11 सितम्बर:  
खेल विभाग द्वारा करवाई जा रही ‘खेडां वतन पंजाब दियां-2022’ में जहाँ अलग-अलग खेलों में छोटी उम्र के बच्चों से लेकर बड़ी उम्र के वैटर्न खिलाड़ी जौहर दिखा रहे हैं, वहीं फतेहगढ़ साहिब जिले में एक परिवार ऐसा भी है जिसकी तीन पीढिय़ों के चार खिलाड़ी पति-पत्नी और दादा-पोता हिस्सा ले रहे हैं।  
परिवार का मुख्य मैंबर राहुलदीप सिंह फतेहगढ़ साहिब का जि़ला खेल अधिकारी भी है जो ब्लॉक और जि़ला स्तर के खेल मुकाबलों का प्रबंधक भी है, ख़ुद बास्केटबॉल में हिस्सा लेने से उसके पिता, पत्नी और पुत्र द्वारा भी खेलों में हिस्सा लिया जा रहा है।  
फतेहगढ़ साहिब का जि़ला खेल अफ़सर राहुलदीप सिंह जि़ला स्तर के मुकाबलों में बास्केटबॉल में 21 से 40 साल उम्र वर्ग में भाग ले रहे हैं। उसके पिता जरनैल सिंह, जो वॉलीबॉल के नेशनल स्तर के खिलाड़ी हैं, वह सरहिन्द-फतेहगढ़ साहिब ब्लॉक में 50 साल से अधिक उम्र वर्ग में वॉलीबॉल मुकाबले जीतने के बाद अब जि़ला स्तर के मुकाबलों में हिस्सा लेंगे। राहुलदीप सिंह की पत्नी स्वाती चौहान भी 21 से 40 साल उम्र ग्रुप में वॉलीबॉल के जि़ला स्तरीय मुकाबलों में हिस्सा ले रही है। खिलाड़ी पति-पत्नी का पुत्र लक्षदीप सिंह अंडर 14 साल में बास्केटबॉल के जि़ला स्तर के मुकाबलों में भाग ले रहा है।  
पंजाब के खेल मंत्री गुरमीत सिंह मीत हेयर ने मुख्यमंत्री भगवंत मान द्वारा राज्य में खेल समर्थकीय माहौल सृजन करने के लिए यह खेल का प्रोग्राम बनाया गया और इन खेलों का मुख्य मकसद राज्य के हर परिवार को खेल के साथ जोडऩा है। फतेहगढ़ साहिब का यह परिवार बाकी परिवारों के लिए भी प्रेरणा का स्रोत है। उन्होंने कहा कि नशों की बीमारी को जड़ से ख़त्म करने के लिए खेल ही मुख्य जऱीया है, जिससे नौजवानों की ऊर्जा चैनेलाईज़ की जा सकती है। उन्होंने कहा कि ‘खेडां वतन पंजाब दियां’ को मिल रहे भरपूर समर्थन को देखते  हुए ‘रंगला पंजाब, खेलता पंजाब’ सृजन करने का सपना पूरा होता हुआ नजऱ आ रहा है।