करामाती सुअर मुंह में कूची फंसाकर बनाता है अद्भुत पेंटिंग, कर रहा है लाखों की कमाई - Arth Parkash
Thursday, March 21, 2019
Breaking News
Home » Photo Feature » करामाती सुअर मुंह में कूची फंसाकर बनाता है अद्भुत पेंटिंग, कर रहा है लाखों की कमाई
करामाती सुअर मुंह में कूची फंसाकर बनाता है अद्भुत पेंटिंग, कर रहा है लाखों की कमाई

करामाती सुअर मुंह में कूची फंसाकर बनाता है अद्भुत पेंटिंग, कर रहा है लाखों की कमाई

दक्षिण अफ्रीका का एक सुअर दुनियाभर में प्रसिद्ध हो रहा है। दरअसल ये कोई आम सुअर नहीं है ये एक खास तरह का आर्टिस्ट है। ये सुअर मुंह में कूची पकड़ कर तरह-तरह की पेंटिंग्स बना रहा है। उसकी बनाई पेंटिंग्स काफी कीमत में बिक रही हैं। यही नहीं उसकी बनाई पेंटिंग्स की प्रदर्शनी को लोग काफी सराह भी रहे है।

दक्षिण अफ्रीका में इसकी शोहरत एक जबरदस्त पेंटर के रूप में हो रही है। इसका नाम पिकासो से प्रेरणा लेते हुए पिगकासो रखा गया है। पिगकासो अब तक कई पेंटिंग्स बना चुका है, उसकी पेंटिंग्स दूसरे देशों में खरीदी जा रही हैं। पिगकासो की पेंटिंग लाखों रुपए में बिक रही है जिससे वह कमाई भी कर रहा है।

दरअसल, पिगकासो को उसकी बहन रोजी के साथ दक्षिण अफ्रीका के स्लाटरहाउस में जाने से तब बचाया गया था जब वह महज दो महीने का था। सबसे खास बात तो यह है कि जैसे ही उसके दातों में कूची फंसाई जाती है और सामने कैनवस रखा जाता है, तब वो कूची को रंगों में डालकर उसे कैनवस पर फेरना शुरू कर देता है। इससे कई तरह की एबस्ट्रेक्ट पेंटिंग बनने लगती है।

पिगकासो की इस पेंटिंग का नाम अमेजन रखा गया है। श्चद्बद्दष्ड्डह्यह्यश.द्व4ह्यद्धशश्चद्बद्घ4.ष्शद्व नाम की साइट पर उसकी ज्यादातर पेंटिग्स की प्रदर्शनी लगाई गई हैं। फिलहाल इस साइट में पिगकासो की बनाई गईं 64 पेंटिंग्स रखी गई हैं। पेंटिग्स के साथ उनकी कीमत भी दर्ज है। ये पेंटिंग्स अलग अलग नामों से इस साइट पर प्रदर्शित हैं। pigcasso.org/gallery पर भी आप पिगकासो का आर्ट वर्क देख सकते हैं।

बता दें कि पिगकासो मादा सुअर है जो इस समय 21 महीने की है। वो दुनिया की अकेली पिग पेंटर है। हाल ही में उसके आर्ट वर्क को 3000 पाउंड में बेचा गया है। वैसे उसकी 44 पेंटिंग्स कई देशों में खरीदी जा चुकी हैं, जिसमें ब्रिटेन, अमेरिका, साउथ कोरिया और मलेशिया शामिल हैं। अब उसकी पेंटिंग की कीमत 4000 पाउंड तक भी पहुंचने लगी है।

साउथ अफ्रीका की एनिमल वेलफेयर कैंपेनर जोयने लेफसन ने उसे एक फार्म से बचाया, फिर उसे केपटाउन के पास एक फॉर्म में रखा गया, जहां आमतौर पर बचाए गए जानवर रखे जाते हैं। पिगकासो की मालिकिन जोयने लेफसन कहती हैं, सुअर बहुत स्मार्ट जानवर होते हैं। एक दिन जोयने ने देखा कि युवा पिगकासो ने वहां काम कर रहे एक कर्मचारी का रंगने का ब्रश मुंह से उठाया और उसे वो इधर उधर फिराने लगी, तब जायने ने उसे कैनवस देने का फैसला किया।

पिगकासो की हालिया पेटिंग का नाम ब्रेक्जिट है। जिसमें उसने ब्रिटिश फ्लैग के रंगों को पेंटिंग में उकेरा है। ये 1730 पाउंड में बिकी, इसे एक डच नागरिक ने अपने कलेक्शन के लिए खरीद लिया जबकि उसकी शुरुआती पेंटिंग न्यूयॉर्क के एक वकील ने खरीदा।

पिगकासो जब जागी हुई होती है तो उसके मुंह में कूची ही दबी हुई होती है, इसके अलावा वो खाती और सोती है। पिगकासो की पेंटिंग्स की दो प्रदर्शनी भी केपटाउन में पिछले महीने लग चुकी है। अगले महीने उसकी पेंटिंग सेंट्रल लंदन में लगने वाली है, इसके बाद पेंटिंग्स प्रदर्शनी का पड़ाव पेरिस, बर्लिन और एम्सटर्डम में पड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share