मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान गुरुद्वारा श्री फ़तेहगढ़ साहिब में हुए नतमस्तक
मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान गुरुद्वारा श्री फ़तेहगढ़ साहिब में हुए नतमस्तक

मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान गुरुद्वारा श्री फ़तेहगढ़ साहिब में हुए नतमस्तक

मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान गुरुद्वारा श्री फ़तेहगढ़ साहिब में हुए नतमस्तक

राज्य की शांति, तरक्की और खुशहाली के लिए की प्रार्थना

फ़तेहगढ़ साहिब, 23 जुलाई:  मुख्यमंत्री भगवंत मान गुरुद्वारा श्री फतेहगढ़ साहिब में नतमस्तक हुए और पंजाब की शांति, तरक्की और खुशहाली के लिए प्रार्थना की।  
मुख्यमंत्री ने कहा कि यह पवित्र धरती न केवल सिखों के लिए बल्कि समूची मानवता के लिए प्रेरणा स्रोत है। भगवंत मान ने कहा कि इस पवित्र धरती पर माता गुजरी जी समेत साहिबज़ादा जोरावर सिंह और साहिबज़ादा फतेह सिंह द्वारा दी गई शहादत सदियों से पंजाबियों को नाइनसाफ़ी, ज़ुल्म और दमन के विरुद्ध लडऩे के लिए प्रेरित करती रही है। उन्होंने कहा कि छोटे साहिबज़ादों द्वारा छोटी सी उम्र में जो महान बलिदान दिया गया है, उसकी दुनिया के इतिहास में शायद ही कोई मिसाल हो।  

मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान गुरुद्वारा श्री फ़तेहगढ़ साहिब में हुए नतमस्तक
भगवंत मान ने कहा कि वह ईश्वर के समक्ष प्रार्थना करते हैं कि उनकी सरकार का हर कदम पंजाब को देश का अग्रणी राज्य बनाने के उद्देश्य से हो। मुख्यमंत्री ने यह भी प्रार्थना की कि राज्य में सांप्रदायिक सद्भावना, शांति और आपसी भाईचारे के नैतिक-मुल्य हर गुजऱते दिन के साथ और मज़बूत हों। उन्होंने कहा कि राज्य के लोगों ने उनकी सरकार को बड़ा जनादेश दिया है, जिस कारण उन्होंने इस पवित्र स्थान पर अकीदत भेंट की और लोगों की सभी आशाएं पूरी करने के लिए परमात्मा का आशीर्वाद लिया।  
बाद में पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हर साल शहीदी सभा के दौरान लाखों श्रद्धालु इस स्थान के दर्शन करने आते हैं। इसलिए राज्य सरकार इस नगर को पूर्ण रूप से नया रूप देगी। उन्होंने कहा कि किसी भी श्रद्धालु को यात्रा के दौरान किसी किस्म की दिक्कत का सामना न करना पड़े, इसको सुनिश्चित बनाने के लिए एक व्यवहारिक ढांचा बनाया जाएगा।