Punjab CM

चंडीगढ़ ट्रैफिक पुलिस ने महिलाओं को दी है चेतावनी: पहने हेलमेट वरना घर पर पहुंचेगा चालान

Chd-Police

चंडीगढ़। चंडीगढ़ पुलिस (Chandigarh Police) ने महिलाओं को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि महिलाएं हेलमेट नहीं पहनेगी तो उनके घरों पर चालान भेज दिए जाएंगे। पुलिस सूत्रों का कहना है कि  अधिकतर महिलाओं को पता ही नहीं है कि उनके बिना हेलमेट टू व्हीलर ड्राइव करने और पीछे बैठने के चालान हो रहे हैं। वहीं जिन महिलाओं के चालान हो चुके हैं उन्हें ऑनलाइन चालान घर पहुंच रहे हैं। चंडीगढ़ की एसएसपी (ट्रैफिक) मनीषा चौधरी ने महिलाओं से अपील की है कि वह चंडीगढ़ की सडक़ों पर हेलमेट पहन कर ही ड्राइविंग करें और पीछे बैठें। यह उनकी अपनी सेफ्टी के लिए है। टू व्हीलर चलाने वाली और टू व्हीलर के पीछे बैठने वाली महिलाओं के बिना हेलमेट के वॉयलेशन ज्यादा हैं।

एसएसपी ने बताया कि बीते मार्च में महिलाओं के लिए हेलमेट रैली निकाली गई थी। उसके बाद से महिलाओं के बिना हेलमेट के चालानों में तेजी लाई गई है। इन चालानों से सिर्फ सिख महिलाओं को ही छूट मिली है। मामला अभी पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में लंबित है और सितंबर महीने में केस की सुनवाई है। सिख महिलाओं ने चाहे टर्बन पहनी हो या नहीं, उन्हें चालान से छूट है जबकि अन्य महिलाओं के लिए ऐसी कोई छूट नहीं है।

एसएसपी ने बताया कि इससे पहले भी चंडीगढ़ में महिलाओं के बिना हेलमेट के चालान होते थे। चंडीगढ़ में ट्रैफिक नियमों की पूरी तरह पालना करने और सडक़ हादसों में कमी लाने के मकसद से यह कदम उठाया गया है।

हेलमेट न पहनना जानलेवा

एसएसपी ने बताया कि पिछले वर्ष नवंबर में स्टेट रोड्स सेफ्टी काउंसिल की बैठक हुई थी। इसमें यह मुद्दा लाया गया था कि टू व्हीलर चलाने वाली और टू व्हीलर के पीछे बैठने वाली महिलाओं के बिना हेलमेट के वॉयलेशन ज्यादा हैं। वहीं कई सडक़ दुर्घटनाएं भी हो रही हैं, जिनमें जानलेवा सडक़ हादसे भी शामिल हैं। ऐसे में चंडीगढ़ में लागू मोटर व्हीकल रुल्स के मुताबिक सिख महिलाओं को छूट मिली हुई है। बाकी महिलाओं के चालान इसी वर्ष से किए जाने शुरु कर दिए गए हैं।

एसएसपी ने बताया कि पिछले 2 से 3 महीनों में इन चालनों में काफी तेजी आई है। बीते जून महीने तक लगभग 7 हजार ऐसे चालान ट्रैफिक पुलिसकर्मी अपने हैंडी कैमरा के जरिए कर चुके हैं। ऐसे सभी वॉयलेटर्स को नोटिस और पोस्टल चालान भेजे जा रहे हैं। एसएसपी ने कहा कि जिन उल्लंघनकर्ताओं को लगता है कि उनका गलत चालान आ गया है या कोई जानकारी प्राप्त करनी हो तो वह ट्रैफिक पुलिस से संपर्क कर सकते हैं