Fraud Case against KD Singh: तृणमूल कांग्रेस के पूर्व राज्यसभा सदस्य केडी सिंह के खिलाफ CBI ने दर्ज किया फ्राड केस, बेटे समेत 9 को बनाया आरोपी
Fraud Case against KD Singh: तृणमूल कांग्रेस के पूर्व राज्यसभा सदस्य केडी सिंह के खिलाफ CBI ने दर्ज किया फ्राड केस

Fraud Case against KD Singh: तृणमूल कांग्रेस के पूर्व राज्यसभा सदस्य केडी सिंह के खिलाफ CBI ने दर्ज

Fraud Case against KD Singh: तृणमूल कांग्रेस के पूर्व राज्यसभा सदस्य केडी सिंह के खिलाफ CBI ने दर्ज किया फ्राड केस, बेटे समेत 9 को बनाया आरोपी

Fraud Case against KD Singh: उत्तर प्रदेश में दो चिटफंड कंपनियों के 100 करोड़ रुपए की धांधली के मामले में सीबीआई (CBI) ने पूर्व राज्यसभा सांसद केडी सिंह (KD Singh) और उनके बेटे समेत 7 लोगों के खिलाफ विभिन्न आपराधिक धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया है. मुकदमे के बाद सीबीआई (CBI) ने दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश, चंडीगढ़ आदि जगहों पर कुल 12 स्थानों पर छापेमारी की.

सीबीआई प्रवक्ता आरसी जोशी के मुताबिक इस मामले में जिन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है उनमें पूर्व राज्यसभा सांसद कवंरदीप सिंह उनके बेटे करणदीप सिंह के अलावा सत्येंद्र सिंह, वीएम महाजन,  सीएम जोली, कृष्णा कबीर, सुचेता खेमकर, चंद्रशेखर चौहान और सुशील राय के अलावा अज्ञात लोगों के नाम शामिल है.

Fraud Case against KD Singh: यूपी सरकार ने दर्ज किया था मामला
सीबीआई के मुताबिक यह मामला उत्तर प्रदेश सरकार के अनुरोध और इसके अतिरिक्त इस मामले में भारत सरकार की अधिसूचना के आधार पर दर्ज किया गया था. इस मामले में आरोप है कि 2 चिटफंड कंपनियों ने आम जनता से झूठे वादे किए और उनको लुभावने सपने दिखाकर उनके 100 करोड़ रुपए ठग लिए. इस मामले में पहले उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले के कोतवाली पुलिस थाने में साल 2021 में धोखाधड़ी और गबन की विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज हुआ था.

Fraud Case against KD Singh: जल्द ही आरोपियों को पूछताछ के लिए बुलाएगी सीबीआई
केंद्र सरकार की अधिसूचना जारी किए जाने के बाद सीबीआई ने इस मामले की जांच को अपने हाथ में ले लिया था. सीबीआई ने इस मामले में चंडीगढ़, दिल्ली, हरियाणा, बिहार, पंजाब और उत्तर प्रदेश मे 12 विभिन्न स्थानों पर तलाशी ली.

सीबीआई (CBI) का दावा है कि इस तलाशी के दौरान अनेक आपत्तिजनक दस्तावेज बरामद हुए हैं. सीबीआई जल्द ही इस मामले में आरोपियों को पूछताछ के लिए बुलाएगी. साथ ही इस मामले में गिरफ्तारी का सिलसिला भी शुरू हो सकता है मामले की जांच जारी है.