गोरखपुर यूनिवर्सिटी में यौन उत्पीड़न का आरोपी असिस्टेंट प्रोफेसर निलंबित, परिसर में एंट्री पर भी रोक
BREAKING
जोशी ने गांव बड़ी करौर में रेत माफिया के हमले में घायल लोगों का कुशल-क्षेम जाना एमटीवी स्प्लिट्सविला एक्स 5 - एक्सयूज़ मी प्लीज़ के प्रतियोगी लक्ष्य, उन्नति और दिग्विजय राठी चंडीगढ़ में अपने फैन्स से मिले!* चंडीगढ़ प्रशासन द्वारा गांव रायपुर खुर्द में चलाई जा रही अवैध निर्माण पर कार्रवाई का स्थानीय लोगों द्वारा जबरदस्त विरोध केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद का यूपी में एक्सीडेंट; अपने संसदीय क्षेत्र के दौरे पर निकले थे, तेज रफ्तार गाड़ी ने पीछे से मारी कार में टक्कर गुजरात के स्कूल में खौफनाक हादसा; क्लासरूम में लंच कर रहे थे बच्चे, अचानक गिर पड़ी दीवार, वीडियो में कैद पूरा मंजर देखिए

गोरखपुर यूनिवर्सिटी में यौन उत्पीड़न का आरोपी असिस्टेंट प्रोफेसर निलंबित, परिसर में एंट्री पर भी रोक

GU Assistant Professor Suspended

GU Assistant Professor Suspended

गोरखपुर। GU Assistant Professor Suspended: छात्रा द्वारा असिस्टेंट प्रोफेसर पर लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोप को दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय प्रशासन ने गंभीरता से लिया है। विश्वविद्यालय की आंतरिक शिकायत समिति को इसकी जांच सौंप दी है। निष्पक्ष जांच सुनिश्चित करने के लिए असिस्टेंट प्रोफेसर को अगले आदेश तक के लिए निलंबित कर दिया है।

जांच पूरी होने तक विश्वविद्यालय परिसर में प्रवेश भी प्रतिबंधित कर दिया गया है। निलंबन अवधि तक के लिए शिक्षक को कुलसचिव कार्यालय से संबद्ध किया गया है। स्नातक की एक छात्रा ने रक्षा अध्ययन विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डा.जितेंद्र कुमार पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। इसे लेकर कार्रवाई के लिए उसने विश्वविद्यालय प्रशासन से लेकर महिला आयोग तक शिकायत दर्ज कराई थी। राज्यपाल और प्रमुख सचिव को भी चिट्ठी लिखी थी।

फोन पर करता था अश्लील बातें

शिकायती पत्र में छात्रा ने बताया था कि असिस्टेंट प्रोफेसर उसे दो वर्ष से परेशान कर रहे हैं। बीते वर्ष 21 दिसंबर की रात उन्होंने शराब के नशे में फोन कर अश्लील बातें कीं, जिसका ऑडियो प्रमाण भी मौजूद है। न्याय न मिलने पर छात्रा ने आत्महत्या तक की चेतावनी भी दी थी।

छात्र संगठन कर रहे धरना-प्रदर्शन

मामला सामने आने पर बीते दो दिन से विश्वविद्यालय के अलग-अलग छात्र संगठन धरना-प्रदर्शन कर आरोपित के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे थे। शुक्रवार को भी विश्वविद्यालय गेट से लेकर कुलपति कार्यालय तक प्रदर्शन किया। कुलपति से मिलकर कार्रवाई के लिए ज्ञापन सौंपा। दबाव बढ़ने पर विश्वविद्यालय प्रशासन ने दोपहर बाद निलंबन की कार्रवाई कर दी।

यह पढ़ें:

किसान नेता राकेश टिकैत के बदले सुर, मोदी सरकार के इस फैसले के हुए मुरीद, कहा- 'तहेदिल से शुक्रिया'

'दिल जीत लिया...', चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न के ऐलान से पोता जयंत गदगद

डीएम ने पेपरवेट फेंककर मारा तो बीडीओ ने चला दिया जूता! मीटिंग में 'जूतमपैजार' देख सकते में आए अफसर