भूकंप से दहला अफगानिस्तान, 255 की मौत व 500 जख्मी; पाकिस्तान में भी महसूस हुए झटके
भूकंप से दहला अफगानिस्तान

भूकंप से दहला अफगानिस्तान, 255 की मौत व 500 जख्मी; पाकिस्तान में भी महसूस हुए झटके

भूकंप से दहला अफगानिस्तान, 255 की मौत व 500 जख्मी; पाकिस्तान में भी महसूस हुए झटके

भूकंप के झटकों से भारत के पड़ोसी देश अफगानिस्तान और पाकिस्तान (Pakistan) की धरती हिल गई है. रिक्टर पैमाने पर भूकंप (Earthquake Alert) की तीव्रता 6.1 आंकी गई है. इस भूकंप ने अफगानिस्तान में भारी तबाही मचाई है और यहां 150 से ज्यादा लोगों के मरने की आशंका जताई जा रही है. यूएस जियोलॉजिकल सर्वे (USGS) ने बताया है कि भूकंप का केंद्र अफगानिस्तान के खोस्त शहर से करीब 44 किलोमीटर दूर था और 51 किलोमीटर की गहराई पर था. लाहौर, मुल्तान, क्वेटा और पाकिस्तान के कई अन्य इलाकों में झटके महसूस किए जाने के बाद पाकिस्तानी मीडिया ने बताया कि इस्लामाबाद और देश के अन्य हिस्सों में कम तीव्रता का भूकंप आया.

पाकिस्तान में इससे पहले मंगलवार को भी भूकंप के झटके महसूस किए गए थे. नेशनल सेंटर फॉर सिस्मोलॉजी (National Center for Seismology) ने इस बात की जानकारी दी. उसने बताया कि पड़ोसी देश में देर रात दो बजकर 24 मिनट पर भूकंप आया और रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 6.1 आंकी गई. अच्छी बात यह रही कि इसमें किसी को कोई नुकसान नहीं हुआ.

गुजरात में नर्मदा जिले में आया हल्का भूकंप

पाकिस्तान के अलावा भारत में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए. यहां गुजरात में नर्मदा जिले के केवडिया गांव के पास 3.1 तीव्रता का भूकंप आया. बहरहाल, इस दौरान जान-माल का नुकसान होने की कोई सूचना नहीं मिली. 182 मीटर ऊंचा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी केवड़िया गांव के पास स्थित है. भूकंप के झटके सोमवार रात दर्ज किए गए. स्मारक के जनसंपर्क अधिकारी राहुल पटेल ने बताया कि स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को कोई नुकसान नहीं हुआ है. इसे इस तरह से बनाया गया है कि शक्तिशाली भूकंप और चक्रवात से इसे नुकसान नहीं हो.

रात 10 बजकर सात मिनट पर आया 3.1 तीव्रता का भूकंप

गांधीनगर स्थित भूकंप अनुसंधान संस्थान (आईएसआर) ने एक बयान में बताया कि भूकंप का केंद्र केवडिया से 12 किलोमीटर पूर्व-दक्षिण पूर्व में था. आईएसआर ने कहा, ‘सोमवार की रात 10 बजकर सात मिनट पर 3.1 तीव्रता वाला भूकंप दर्ज किया गया, जिसका केंद्र दक्षिण गुजरात में केवड़िया से 12 किलोमीटर पूर्व-दक्षिण पूर्व (ईएसई) में 12.7 किलोमीटर की गहराई में था.’ जिला प्रशासन के अधिकारियों ने बताया कि भूकंप के कारण जान-माल के किसी प्रकार के नुकसान की कोई सूचना नहीं है.