सीएम योगी को बम से उड़ाने की धमकी देने वाला आरोपी गिरफ्तार, भीम आर्मी से है 'खास कनेक्शन'
सीएम योगी को बम से उड़ाने की धमकी देने वाला आरोपी गिरफ्तार

सीएम योगी को बम से उड़ाने की धमकी देने वाला आरोपी गिरफ्तार, भीम आर्मी से है 'खास कनेक्शन'

सीएम योगी को बम से उड़ाने की धमकी देने वाला आरोपी गिरफ्तार, भीम आर्मी से है 'खास कनेक्शन'

चार फरवरी की आधी रात लेडी डॉन के नाम से ट्विटर पर मुख्यमंत्री को मारने और गोरखनाथ मंदिर को बम से उड़ाने की धमकी देने के आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपी फिरोजाबाद का सोनू भीम आर्मी का सदस्य है। बृहस्पतिवार को कैंट पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भिजवा दिया। दरअसल, आरोपी सोनू को आगरा पुलिस ने एक मामले में जेल भेज दिया था। जानकारी होने पर वारंट बी पर लेकर कैंट पुलिस गोरखपुर आई और कोर्ट में पेश कर जेल भिजवा दिया।


जानकारी के मुताबिक, चार फरवरी को लेडी डॉन नामक एक ट्विटर हैंडल से गोरखनाथ मंदिर और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी दी गई थी। लेडी डॉन की ओर से एक के बाद एक कर तीन ट्वीट किए गए थे। पहले ट्वीट में लिखा था कि यूपी विधानसभा लखनऊ, रेलवे स्टेशन और बस अड्डा पर बम लगा दिया गया। यह भी लिखा कि योगी आदित्यानाथ की भी हत्या हो जाएगी। एक घंटा बाद भीम सेना की अध्यक्ष सीमा सिंह मानव बम बनकर मुख्यमंत्री को मारेंगी। राशिद ने बम लगा दिया। इसके बाद पुलिस हरकत में आई। तभी फिर ट्वीट किया गया और लिखा कि गोरखनाथ मठ में आठ जगह सुलेमान भाई ने बम लगा दिया, मुख्यमंत्री के चीथड़े उड़ जाएंगे।  

मेरठ में 10 जगह बम ब्लॉस्ट की बात लिखी गई। जब यह ट्वीट आ रहे थे, तब मुख्यमंत्री गोरखपुर में ही थे, लिहाजा यहां की सुरक्षा और ज्यादा बढ़ा दी गई थी। ट्वीट के बाद धमकी देने वाले के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी। जांच में पता चला कि लेडी डॉन कोई महिला नहीं बल्कि पुरुष है, उसका नाम सोनू सिंह वह फिरोजाबाद जिले के सिरसागंज थाना क्षेत्र के अहमदपुर का निवासी है। 

क्राइम ब्रांच की टीम उसकी तलाश में फिरोजाबाद में एक सप्ताह तक डेरा डाली थी, लेकिन कामयाबी नहीं मिल सका। उधर, आगरा पुलिस ने उसे अपने यहां से जुड़े मुकदमे में गिरफ्तार कर लिया। केस की विवेचना कर रहे इंस्पेक्टर कैंट शशिभूषण राय को जब इसकी जानकारी हुई तो उन्होंने सोनू को गोरखपुर लेने आने का प्रयास शुरू कर दिया। वारंट बी के जरिए बृहस्पतिवार को कैंट पुलिस उसे गोरखपुर लेकर आई और यहां कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भिजवा दिया।