विधायकों की खरीद-फरोख्त मामले में कांग्रेस की चुप्पी पर 'आप' ने उठाए सवाल, कहा - 'कांग्रेस बीजेपी की बी-टीम'
विधायकों की खरीद-फरोख्त मामले में कांग्रेस की चुप्पी पर आप ने उठाए सवाल

विधायकों की खरीद-फरोख्त मामले में कांग्रेस की चुप्पी पर 'आप' ने उठाए सवाल, कहा - 'कांग्रेस बीजेपी की

विधायकों की खरीद-फरोख्त मामले में कांग्रेस की चुप्पी पर 'आप' ने उठाए सवाल, कहा - 'कांग्रेस बीजेपी की बी-टीम'

-कांग्रेस-अकाली दल और भाजपा 'आप' को पंजाब के विकास के लिए काम करने से रोकने को एक हो गए हैं : वित्त मंत्री हरपाल चीमा

-लोकतंत्र की सीरियल किलर है बीजेपी, जनता के सामने उसके नेताओं की नापाक हरकतों को बेनकाब करेंगे - हरपाल चीमा

चंडीगढ़, 15 सितंबर

पंजाब में भाजपा नेताओं द्वारा 'आप' विधायकों को अप्रोच किए जाने के मामले में कांग्रेस पार्टी की चुप्पी पर आम आदमी पार्टी ने कांग्रेस पर सवाल उठाया है और कांग्रेस को भाजपा की 'बी-टीम' करार दिया। आप नेता और पंजाब के वित्त मंत्री हरपाल चीमा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी गुप्त रूप से भगवा पार्टी के लिए काम कर रही है। इन सब का मकसद किसी भी तरह पंजाब की प्रगति और विकास को रोकना है।


गुरुवार को एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए हरपाल चीमा ने कहा कि यह बेहद हास्यास्पद है कि कांग्रेस जो गोवा में ऑपरेशन लोटस का शिकार हो गई। बावजूद इसके भाजपा का विरोध करने के बजाय 'आप' से सबूत मांग रही है और हैरानी की बात है कि“ कांग्रेस के किसी भी नेता ने भाजपा से सवाल पूछने की हिम्मत नहीं की,लेकिन हमसे खरीद-फरोख्त के सबूत मांग रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस अंदरखाते भाजपा का समर्थन कर रही है। पंजाब में कांग्रेस नेताओं की चुप्पी भाजपा के साथ उनके गठजोड़ को उजागर करती है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ईडी जांच का सामना कर रही हैं और उन्हें बचाने के लिए कांग्रेस भाजपा के खिलाफ कुछ भी बोलने से डर रही है। भाजपा के निर्देशानुसार अब कांग्रेस का एक ही मकसद है कि 'आप' को किसी तरह रोका जाए।
 
चीमा ने अकाली दल पर भी निशाना साधा और कहा कि शिरोमणि अकाली दल का लंबे समय से एनडीए के साथ गठबंधन था और अब वह फिर से भाजपा के साथ गठबंधन करना चाहता है। इसलिए अकाली नेता भाजपा के बयानों का समर्थन कर रहे हैं। यहां तक ​​कि उन्होंने आप विधायकों को 25 करोड़ रुपये ऑफर करने और पंजाब में आप सरकार को गिराने की कोशिश करने की भाजपा की नापाक रणनीति पर भी आपत्ति नहीं जताई।

चीमा ने अकाली दल और कांग्रेस नेताओं को प्रदेश में भाजपा द्वारा आप विधायकों की खरीद-फरोख्त के सबूत मांगने के लिए कांग्रेस की आलोचना की और सवाल किया कि, "क्या कांग्रेस नेता आधिकारिक तौर पर भाजपा के प्रवक्ता बन गए हैं या वे भाजपा की तरह लोकतंत्र की हत्या करना चाहते हैं।"

मोदी सरकार को आड़े हाथ लेते हुए चीमा ने कहा कि भाजपा पंजाब में सीरियल किलर की तरह काम कर रही है और राष्ट्रीय विरोधी ताकतों के साथ मिलकर पंजाब में आप सरकार को गिराने का निरंतर प्रयास कर रही है,लेकिन उसके घटिया मंसूबे कभी कामयाब नही होंगे।

हरपाल चीमा ने इन सारे मामलों की स्वतंत्र और निष्पक्ष जांच की मांग करते हुए कहा कि पंजाब और दिल्ली के 'आप' विधायकों की खरीद-फरोख्त समेत गोवा, कर्नाटक और मध्य प्रदेश के कांग्रेसी विधायकों की भी खरीद - फरोख्त मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग जज की निगरानी में हो।

चीमा ने कहा कि अरविंद केजरीवाल और मुख्यमंत्री भगवंत मान की बढ़ती लोकप्रियता से बौखला गयी है। उन्होंने कहा कि आप विधायकों की खरीद-फरोख्त मामले में पंजाब पुलिस ने जांच शुरू कर दी है और जल्द ही भाजपा की काली करतूत का खुलासा होगा।
 
उन्होंने कहा कि भाजपा की खरीद-फरोख्त की राजनीति देश के अलग-अलग राज्यों में चल रही है। भाजपा ने अपने ऑपरेशन लोटस के तहत पहले कर्नाटक,मध्य प्रदेश,महाराष्ट्र और अरुणाचल प्रदेश की सरकार बदली। लेकिन भाजपा के इस मिशन को आम आदमी पार्टी ने पहले दिल्ली और अब पंजाब में रोक दिया है।