आंध्र प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए 2,387 उम्मीदवार मैदान में हैं
BREAKING
अग्निवीर योजना पर सरकार ले सकती है बड़ा फैसला; देश के युवा वर्ग में रोष देखते हुए तैयारी शुरू, तीनों सेनाओं से रिपोर्ट मांगी गई BJP पर RSS का बड़ा बयान; संघ के वरिष्ठ नेता इंद्रेश कुमार ने कहा- अहंकार किया तो भगवान राम ने नहीं दी शक्ति, 240 पर रोक दिया हिमाचल में भूकंप के झटके, कुल्लू रहा केंद्र; जानिए रिक्टर स्केल पर कितनी रही तीव्रता, भूकंप आने पर क्या करना चाहिए, क्यों आता है? विजिटिंग कार्ड को मिट्टी में बोने से उगेगा गेंदे के फूल का पौधा, IAS अफसर की इस अनोखी पहल की हो रही तारीफ सोनाक्षी सिन्हा ने पूनम ढिल्लों को भेजा वेडिंग इन्वाइट, एक्ट्रेस ने दी बधाई, जहीर इकबाल को दे डाली ये चेतावनी!

आंध्र प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए 2,387 उम्मीदवार मैदान में हैं

Lok Sabha Election 2024

Lok Sabha Election 2024

( अर्थ प्रकाश / बोम्मा रेडड्डी)
अमरावती : Lok Sabha Election 2024: (आंध्र प्रदेश)
175 सदस्यीय आंध्र प्रदेश विधानसभा के लिए कुल 2,387 उम्मीदवार मैदान में हैं, जबकि राज्य के 25 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में 454 उम्मीदवार अपनी चुनावी किस्मत आजमाएंगे।

चुनाव आयोग के अनुसार, विधानसभा चुनाव के लिए 318 उम्मीदवारों ने अपने नामांकन वापस ले लिए, जबकि लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में 49 उम्मीदवारों ने चुनाव से अपना नाम वापस ले लिया।

नामांकन वापस लेने की समय सीमा सोमवार को समाप्त हो गई, लेकिन चुनाव अधिकारियों ने मंगलवार देर रात विवरण जारी किया।

सभी विधानसभा क्षेत्रों में कुल 2,705 नामांकन वैध पाए गए, जबकि लोकसभा चुनाव के लिए 503 नामांकन स्वीकार किए गए।

विधानसभा और लोकसभा के लिए एक साथ चुनाव 13 मई को होने हैं।

तिरुपति विधानसभा क्षेत्र में सबसे अधिक उम्मीदवार (46) मैदान में हैं, जबकि मंगलगिरी में 40 उम्मीदवार हैं।  चोडावरम निर्वाचन क्षेत्र में केवल छह उम्मीदवार ही चुनाव मैदान में हैं, जबकि तेक्काली, श्रीकाकुलम, नरसनपेटा, पालकोंडा (एसटी), कुरुपम (एसटी), सलूर (एसटी), चीपुरापल्ले, राजमुंदरी ग्रामीण और नागरी में सात-सात उम्मीदवार हैं।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी के अनुसार, लोकसभा चुनाव के लिए 503 नामांकन वैध पाए गए।

विशाखापत्तनम निर्वाचन क्षेत्र में अधिकतम 33 उम्मीदवार मैदान में हैं, इसके बाद नांदयाल में 31 और गुंटूर में 30 उम्मीदवार हैं।

राजमुंदरी में केवल 12 उम्मीदवार हैं, और अराकू (एसटी), श्रीकाकुलम, एलुरु और हिंदूपुर में 13-13 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं।

4.08 करोड़ से अधिक मतदाता, जिनमें से आधे से अधिक महिलाएं हैं, वोट डालने के पात्र हैं।

 विधानसभा और लोकसभा दोनों ही चुनावों में सत्तारूढ़ वाईएसआर कांग्रेस पार्टी (वाईएसआरसीपी) और विपक्षी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन, जिसमें तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी), जन सेना पार्टी (जेएसपी) और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) शामिल हैं, के बीच सीधी टक्कर होने की संभावना है।

कांग्रेस, जिसने 2014 और 2019 में राज्य में विधानसभा और लोकसभा दोनों ही चुनावों में एक भी सीट नहीं जीती थी, तीसरी सबसे बड़ी पार्टी है।

2019 में, वाईएसआरसीपी ने 151 विधानसभा सीटें जीतकर टीडीपी से सत्ता छीन ली थी। टीडीपी ने 23 सीटें जीतीं, जबकि जेएसपी ने एक सीट हासिल की।

वाईएसआरसीपी ने 22 लोकसभा सीटों पर भी कब्जा किया था, जबकि टीडीपी ने बाकी तीन सीटें जीती थीं।

इस बार टीडीपी, जेएसपी और बीजेपी ने सत्ता विरोधी वोटों के बंटवारे से बचने के लिए हाथ मिलाया है। सीट बंटवारे के समझौते के तहत, टीडीपी 144 विधानसभा और 17 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ रही है।  जेएसपी ने 21 विधानसभा क्षेत्रों और दो लोकसभा क्षेत्रों में उम्मीदवार उतारे हैं, जबकि भाजपा 10 विधानसभा और छह लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ रही है।

मुख्यमंत्री वाई.एस. जगन मोहन रेड्डी, टीडीपी अध्यक्ष एन. चंद्रबाबू नायडू, जन सेना नेता पवन कल्याण, टीडीपी महासचिव नारा लोकेश, अभिनेता और टीडीपी नेता एन. बालकृष्ण विधानसभा चुनावों के लिए प्रमुख उम्मीदवारों में से हैं। राज्य कांग्रेस प्रमुख वाई.एस. शर्मिला रेड्डी, राज्य भाजपा अध्यक्ष डी. पुरंदेश्वरी और वाईएसआरसीपी के राज्यसभा सदस्य विजयसाई रेड्डी लोकसभा चुनावों में प्रमुख उम्मीदवारों में से हैं।