11.50 lakh cheated from Amazon, see how the workers carried out the incident
11.50 lakh cheated from Amazon, see how the workers carried out the incident

11.50 lakh cheated from Amazon, see how the workers carried out the incident

अमेजन से 11.50 लाख की ठगी, देखें कर्मियों ने कैसे दिया वारदात को अंजाम

हरियाणा के सोनीपत में अमेजोन (AMAZON) के सामान की डिलीवरी में 11 लाख 50 हजार 781 रुपए की धोखाधड़ी की गई है। आरोप इसकी सहायक कंपनी ब्राजो डिलीवरी सर्विस के 5 कर्मचारियों पर है। ये किसी जानकार ग्राहक की तरह आर्डर लगाते और आर्डर स्टेशन राई में आने पर असल सामान निकाल लेते और उसमें नकली सामान डाल देते। मोबाइल फोन के केस में ये उन मोबाइल को दिए गए स्थान पर डिलीवरी करके उनकी रिटर्न एक्सचेंज लगाते और उनकी जगह डमी मोबाइल सेट डाल देते थे। पुलिस ने पांचों पर धोखाधडी का केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

ब्राजो डिलीवरी सर्विस के स्पेशल मैनेजर मनोज कुमार मिश्रा ने थाना राई पुलिस में दी शिकायत में बताया कि धारुहेड़ा में बांस रोड निवासी शिवम जो कि मूल रूप से यूपी के खैमपट्‌टी का रहने वाला है उनकी कंपनी के राई में 23 जुलाई 2021 से क्लस्टर मैनेजर के पद पर कार्यरत है। शिवम ने नवंबर-21 से जुलाई 22 तक अपने साथी मोहित सैन, बबलू सिंह, विकास मिश्रा व विनोद के साथ मिलकर राई स्टेशन में 11 लाख 50 हजार 781 रुपए की धोखाधड़ी की है।

मनोज मिश्रा ने बताया कि ये किसी जानकार ग्राहक की तरह आर्डर लगाते। आर्डर स्टेशन राई में आने पर असल सामान निकाल लेते और उसमें नकली सामान डाल देते। मोबाइल फोन के केस में ये उन मोबाइल को दिए गए स्थान पर डिलीवर्ड करके उनकी Return/Exchange लगाते और उसकी जगह डमी मोबाइल डाल देते थे।

उन्होंने बताया कि ये सारे मोबाइल शिवम और मोहित सैन के कहने पर ऑफिस में ले जाकर एक्सचेंज करके कार्यालय में जमा कर देते। इसके बाद बबलू रिटर्न का बैग बनाकर Amazon के हब में डिस्पैच कर देता था। इस प्रकार के मामले ज्यादा आने पर कंपनी को शक हुआ। इस पर उनकी स्पेशल टीम ने राई स्टेशन पर बबलू से पूछताछ की तो उसने सारा मामला उजागर किया। इसके बाद स्पेशल टीम की छानबीन में सामने आया कि शिवम ने राई स्टेशन पर अपने साथी मोहित, बबलू, विकास मिश्रा व विनोद के साथ मिलकर 11 लाख 50 हजार 781 रुपए की धोखाधडी की है।

कंपनी की पूछताछ में शिवम ने 7 लाख 95 हजार की धोखाधडी की बात कबूल की। बाद में अपने घरवालों की मदद से 1 लाख 50 हजार रुपए कंपनी के खाते में जमा करवाये। बाकी 6 लाख 45 हजार रुपए 29 जुलाई तक कंपनी के खाते में जमा करवाने के लिए मंजूर किया। साथ ही उसने लिख कर दिया कि वो पैसा जमा नही करवाता है तो उस पर कानूनी कार्रवाई की जाए। उन्होंने बताया कि इस सारी धोखाधडी मामले की डिटेल Amazon के द्वारा ईमेल से हमें भेजी गई है।

कंपनी के सुपरवाइज़र बबलू ने भी कंपनी टीम के सामने कबूल किया है कि उसने कार्यालय का पैसा शिवम के कहने पर इधर उधर प्रयुक्त किया। राई स्टेशन में महंगे सामान के साथ छेडछाड़ भी करता रहा और कंपनी को नुकसान पहुंचाया। कंपनी की ओर से इनके कबूलनाम की प्रति भी पुलिस को सौंपी गई है।

थाना राई के SI नरेश कुमार ने बताया कि पुलिस ने ब्राजो कंपनी के मैनेजर मनोज कुमार मिश्रा के बयान पर शिवम, बबलू, विनोद, विकास व मोहित के खिलाफ धारा 408, 420, 120बी के तहत केस दर्ज किया है। पुलिस कंपनी की ओर से दिए गए कागजातों की जांच कर रही है। फिलहाल किसी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।