केंद्रीय गृहमंत्री लगाएंगे हरियाणा विधानसभा के लिए नई साइट पर मोहर
केंद्रीय गृहमंत्री लगाएंगे हरियाणा विधानसभा के लिए नई साइट पर मोहर

केंद्रीय गृहमंत्री लगाएंगे हरियाणा विधानसभा के लिए नई साइट पर मोहर

केंद्रीय गृहमंत्री लगाएंगे हरियाणा विधानसभा के लिए नई साइट पर मोहर

चंडीगढ़ प्रशासन ने हरियाणा विधानसभा निर्माण के लिए तीन जमीनों का दिया विकल्प
मुख्यमंत्री मनोहर लाल व हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता ने किया तीनों जमीनों का निरीक्षण
-रेलवे चौक से आईटी पार्क की तरफ जाते वक्त मुख्य सडक़ से दाईं ओर खाली जगह का पहला विकल्प, इसी जगह पर बनती दिख रही सहमति
-मध्यमार्ग पर कलाग्राम के सामने मनीमाजरा की ओर दूसरा विकल्प, हरियाणा ने नहीं दिखाया इंट्रस्ट
-तीसरा स्थान राजीव गांधी आईटी पार्क के पास, इसके लिए भी राज्य अभी तैयार नहीं दिख रहा
 

चंडीगढ़, 4 जून (साजन शर्मा)
चंडीगढ़ प्रशासन ने हरियाणा विधानसभा के अलग निर्माण के लिए सरकार को जमीन देने की मांग पर रजामंदी दे दी है।  प्रशासन ने हरियाणा सरकार को तीन जगह में से एक का चुनाव करने का विकल्प दिया जिस पर फिलहाल हरियाणा की भी सहमति दिख रही है। मध्यमार्ग पर रेलवे लाइट प्वाइंट की लाइट से जब आईटी पार्क की ओर सडक़ पर जाते हैं तो दाहिनी ओर की जमीन खाली पड़ी है। यहीं पर नई विधानसभा के लिए भूमि उपलब्ध कराने पर सहमति बनती दिख रही है लेकिन इस जमीन पर फाइनल मोहर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की मंजूरी के बाद ही लगेगी।
शनिवार को एमएलए हॉस्टल में एक पत्रकार वार्ता के दौरान हरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता ने कहा कि तीन जगह की पेशकश चंडीगढ़ प्रशासन की ओर से की गई थी। तीन जगहों में से एक का चुनाव करने का विकल्प हरियाणा सरकार को दिया गया है। इसमें सबसे पहले रेलवे लाइट प्वाइंट से आईटी पार्क की तरफ जाते वक्त मुख्य सडक़ से दाईं ओर जगह खाली है। इस जगह नई हरियाणा विधानसभा का निर्माण हो सकता है। दूसरी जगह मध्यमार्ग पर कलाग्राम के सामने मनीमाजरा की ओर है जबकि तीसरा स्थान राजीव गांधी आईटी पार्क के पास है। पहला विकल्प हरियाणा को पसंद आ गया लगता है लेकिन इस मसले पर शनिवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से इस बारे में बातचीत करेंगे। यहां से फाइनल मंजूरी मिलने के बाद नई विधानसभा के निर्माण का काम आगे बढ़ेगा। वहीं अमित शाह के साथ पंजाब यूनिवर्सिटी को सेंट्रल यूनिवर्सिटी बनाये जाने और पूर्व की तरह हरियाणा के पंचकूला, अंबाला, यमुनानगर जिलों के कालेज इसमें शामिल करने पर भी बातचीत हो सकती है। अलग हाईकोर्ट के मसले पर भी बातचीत के आसार हैं।


स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता के प्रयास रंग लाये
यहां बता दें कि चंडीगढ़ प्रशासन दो जगह पर तो पहले भी विकल्प दे चुका था लेकिन विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता ने यह कहते हुए ऐतराज उठाया था कि दोनों जगहें शहर के आऊटर में हैं लिहाजा प्रशासन को शहर के बीचों बीच ही कहीं जगह उपलब्ध करानी चाहिए। उन्होंने पुरानी विधानसभा के आसपास व वीआईपी एरिया में जगहउपलब्ध कराने की मांग की थी। चंडीगढ़ प्रशासन ने इस पर यह प्रतिक्रिया दी थी कि चूंकि कैपिटल कांप्लेक्स का एरिया बफर जोन में है लिहाजा इसे देने में प्रशासन की असमर्थता है। ज्ञानचंद गुप्ता के अनुसार नियम-कानूनों में फंसने की बजाये उन्होंने दूसरे विकल्पों पर गौर करना ज्यादा मुनासिब समझा। रेलवे लाइट प्वाइंट से आईटी पार्क की ओर जो जमीन देखी है यह विकल्प बेहतर लग रहा है। जितनी जमीन हरियाणा को यहां मिलेगी, उसके बदले कलेक्टर रेट के अनुसार चंडीगढ़ को दूसरी जगह जमीन दी जा सकती है या जमीन की कीमत भी चुकाई जा सकती है। दोनों विकल्प इस मामले में खुले हैं। जैसे आपस में दोनों प्रशासन के बीच फैसला होगा किया जाएगा। नई विधानसभा देश की सबसे माडर्न विधानसभाओं में से एक होगी। यहां बता दें कि विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता के अथक प्रयासों से यह संभव हो पाया है। वह बीते काफी समय से हरियाणा विधानसभा अलग करने की दिशा में काम कर रहे थे। ज्ञानचंद गुप्ता के अनुसार फिलहाल विधानसभा की बिल्डिंग छोटी पड़ती है। इस भवन में कुछ कमियां व सुविधाओं का टोटा है। सेशन के दौरान मंत्री अपना कामकाज सुचारु तौर पर नहीं कर सकते। मीडिया के बैठने की भी ज्यादा बेहतर जगह नहीं है। जिस जगह पर सहमति बनती दिख रही है उसका हरियाणा विधानसभा से महज सात मिनट का रास्ता है। पंचकूला की ओर के मेन दफतरों से भी यहां पहुंचने में महज छह से सात मिनट ही लगते हैं। एयरपोर्ट से भी इस जगह की कनेक्टीविटी बेहतर है।


1 जुलाई 2021 :केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को नई विधानसभा
के लिये जमीन देने को लिखा
-7 सितंबर 2021: सीएम मनोहर लाल ने भी नई विधानसभा की आवश्यकता को लेकर रिमाइंडर भेजा
-10 फरवरी 2022:पंजाब के राज्यपाल व यूटी के प्रशासक को ज्ञानचंद गुप्ता मिले।
-उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू के चंडीगढ़ दौरे के दौरान भी उनसे इस मुद्दे पर चर्चा व मांग
-2 जून 2022 :राज्यपाल, यूटी के एडवाइजर, वित्तमंत्री, गृहमंत्री से मुद्दे पर बैठक व चर्चा


मुख्यमंत्री ने किया साइट का दौरा
हरियाणा के मुयमंत्री मनोहर लाल ने शनिवार सुबह चंडीगढ़ में हरियाणा विधानसभा के नए भवन का निर्माण करने के लिए प्रस्तावित साइट का दौरा किया। मुख्यमंत्री आईटी पार्क रोड़ पर रेलवे स्टेशन के नजदीक लाइट-प्वाइंट पर चंडीगढ़ की जमीन में हरियाणा विधानसभा के नए भवन के लिए सुझाई गई साइट पर पहुंचे। उन्होंने दो अन्य साइट्स के बारे में भी अधिकारियों से चर्चा की। उनके साथ हरियाणा विधानसभा के स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता भी साथ थे। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने उक्त साइट के बारे में अर्बन प्लानिंग डिपार्टमैंट चंडीगढ़ के अधिकारियों से नक्शे के माध्यम से विस्तार से जानकारी ली। करीब 10 एकड़ की इस साइट की लंबाई-चौड़ाई व अन्य पैमाइश बारे पूछताछ की जिस पर अधिकारियों ने जमीन के मालिकाना हक व अन्य औपचारिकताओं के बारे बताया। इस अवसर पर चंडीगढ़ के एडवाइजर धर्मपाल, गृह सचिव नितिन कुमार यादव,हाऊसिंग बोर्ड हरियाणा के मुख्य प्रशासक अजीत बालाजी जोशी, चंडीगढ़ प्रशासन के उपायुक्त विनय प्रताप सिंह के अलावा हरियाणा व  चंडीगढ़ के वरिष्ठï अधिकारी उपस्थित थे।