विभाजन की विभिषिका पर केंद्रित दो दिवसीय फिल्म फेस्टिवल शुरू
विभाजन की विभिषिका पर केंद्रित दो दिवसीय फिल्म फेस्टिवल शुरू

विभाजन की विभिषिका पर केंद्रित दो दिवसीय फिल्म फेस्टिवल शुरू

विभाजन की विभिषिका पर केंद्रित दो दिवसीय फिल्म फेस्टिवल शुरू

अटारी बोर्डर सभागार में दिखाई गई गदर व पिंजर
केंद्रीय सांस्कृति मंत्रालय और इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र कर रहा आयोजन

अमृतसर,10 सितंबर। केंद्रीय सांस्कृति मंत्रालय और इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र द्वारा विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस के अंतर्गत शनिवार से अटारी बार्डर पर दो दिवसीय फिल्म फेस्टिवल शुरू किया गया। 
विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस के अंतर्गत विभाजन के थीम पर आयोजित इस फिल्म फेस्टिवल के शुभारंभ पर इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र के कई पदाधिकारी एवं अमृतसर के नामचीन हस्तियां मौजूद थी।
फिल्म निर्माताओं द्वारा स्क्रीनिंग के लिए भेजी गई प्रविष्टियों में से कल्लोल मुखर्जी की शॉर्ट फिल्म ‘द अनओन्ड हाउस’ को तीन लाख रुपये के पहले पुरस्कार से नवाजा गया। संजय और अरविंद की फिल्म ‘झूठा सच’ ने दो लाख रुपये का दूसरा पुरस्कार,जबकि आकाश मिश्रा की ‘असमर्थ’ ने एक लाख रुपये का तीसरा पुरस्कार जीता। 
इस स्क्रीनिंग में लघु फिल्में एवं बॉलीवुड ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘गदर’ एक प्रेम कथा एवं ‘पिंजर’ प्रदर्शित की गई। फिल्म की स्क्रीनिंग के अलावा विभाजन की विभिषिका पर प्रसिद्ध विशेषज्ञों ने परिचर्चा में हिस्सा लिया। 
इस अवसर पर इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र के मीडिया नियंत्रक अनुराग पुनेठा ने कहा कि फेस्टिवल में विभाजन थीम पर आधारित कई शॉर्ट और डॉक्यूमेंट्री फिल्मों को दिखाया गया। इनमें से श्रेष्ठ फिल्मों को  पुरस्कार दिए गए।  
उन्होंने बताया कि विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस के कार्यक्रमों की कड़ी में केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय और इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र ने दिल्ली,कोलकाता,हैदराबाद और अमृतसर में फिल्मों की स्क्रीनिंग का आयोजन किया है।