मोहाली के नशा मुक्ति केंद्र पुनर्वास केंद्र में फ्री होगा इलाज
मोहाली के नशा मुक्ति केंद्र पुनर्वास केंद्र में फ्री होगा इलाज

मोहाली के नशा मुक्ति केंद्र पुनर्वास केंद्र में फ्री होगा इलाज

मोहाली के नशा मुक्ति केंद्र पुनर्वास केंद्र में फ्री होगा इलाज

किसी को भी नशे संबंधी दिक्कत है तो अस्पताल में जाकर कर सकते हैं सपर्क


मोहाली।  फेज-तीन ए स्थित खालसा कॉलेज में विश्व तंबाकू दिवस पर आयोजित समागम करवाया यगा। इसमें जिला तंबाकू नियंत्रण नोडल अधिकारी नवदीप सिंह ने कहा कि  नशा एक ऐसी बुरा आदत है जो कि पीड़ित को ही नहीं बल्कि उनके परिवार को भी आर्थिक और मानसिक रूप से नुकसान पहुंचाती है। इसलिए उन्हें खुद इससे बचना चाहिए और अपने माता-पिता, रिश्तेदारों और दोस्तों को भी तंबाकू से दूर रहने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए।
डॉ. नवदीप ने कहा कि सिगरेट, बीड़ी, जर्दा, पान मसाला, ई-सिगरेट, पाइप आदि तंबाकू उत्पाद हमारे शरीर के लिए बेहद खतरनाक हैं। युवक पहले अपने दोस्तों के तंबाकू का सेवन करने लगता है, फिर उसे इसकी लत लग जाती है। यह एक मीठा जहर है जो किसी व्यक्ति की जान ले सकता है, इसलिए तंबाकू से छुटकारा पाएं और एक अच्छा जीवन जीने की कोशिश करें। उन्होंने कहा कि भारत में हर साल औसतन दस लाख से अधिक मौतें तंबाकू के सेवन से होती हैं । औसतन पांच हजार छात्र प्रतिदिन तंबाकू का सेवन शुरू कर देते हैं। तंबाकू विरोधी कानून के तहत कोई भी स्कूल या शैक्षणिक संस्थान की बाहरी दीवार के 100 गज के दायरे में तंबाकू उत्पाद नहीं बेच सकता और न ही 18 साल से कम उम्र के बच्चे को तंबाकू उत्पाद बेचा जा सकता है। तंबाकू छोड़ना कोई मुश्किल काम नहीं है। अगर कोई व्यक्ति अपने दिमाग को ठीक कर ले तो इससे आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है। चिकित्सा सलाह के लिए मोहाली के सेक्टर 66 नशामुक्ति केंद्र में तैनात विशेषज्ञ चिकित्सक से संपर्क कर सकते हैं। जहां पर सारा इलाज फ्री किया जाता है। इसके अलावा किसी भी सरकारी अस्पताल में इलाज शुरू किया जा सकता है। स्कूूूलों के छात्रों को किया गया सम्मानितइस मौके विद्यार्थियों के पोस्टर बनाने, स्लोगन लिखने, जागरुकता वीडियो बनाने की प्रतियोगिताएं कराई गईं। प्रतियोगिता में विभिन्न आयु वर्ग के लगभग 250 विद्यार्थियों ने भाग लिया। पब्लिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल फेज - 10, सेंट सोल्जर स्कूल, शिवालिक पब्लिक स्कूल और दून इंटरनेशनल स्कूल के छात्रों ने पहला स्थान हासिल किया। यह जागरूकता प्रतियोगिता जनरेशन सेवियर एसोसिएशन के सहयोग से आयोजित की गई थी। विजेता विद्यार्थियों को पुरस्कार वितरण किया गया।