राजकीय सम्मान के साथ शहीद निशान सिंह को हजारों लोगों ने नम आखों से दी अंतिम विदाई
राजकीय सम्मान के साथ शहीद निशान सिंह को हजारों लोगों ने नम आखों से दी अंतिम विदाई

राजकीय सम्मान के साथ शहीद निशान सिंह को हजारों लोगों ने नम आखों से दी अंतिम विदाई

राजकीय सम्मान के साथ शहीद निशान सिंह को हजारों लोगों ने नम आखों से दी अंतिम विदाई

एसडीएम जयवीर यादव ने पुष्पचक्र अर्पित कर शहीद निशान सिंह को दी श्रद्धांजलि

कालांवाली विनोद अरोड़ा
कश्मीर के अनंतनाग में शनिवार को आतंकवादियों से मुठभेड़ के दौरान शहीद हुए जिला सिरसा के गांव भावदीन के जवान निशान सिंह का पार्थिव शरीर रविवार को उनके पैतृक गांव लाया गया। शहीद निशान सिंह का तिरंगे में लिपटा हुआ शव उनके पैतृक गांव पहुंचा तो क्षेत्र वासियों ने जय जवान के नारे के साथ शहीद को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनके शव पर फूलों की वर्षा की और नम आंखों से उन्हें अंतिम विदाई दी। उनका अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया गया। जिला प्रशासन की ओर से एसडीएम जयवीर यादव, डीएसपी साधु राम, एसएचओ डिंग कश्मीरी लाल सहित अन्य गणमान्य लोगों ने शहीद निशान सिंह को पुष्प अर्पित कर के श्रद्धांजलि दी।
गौरतलब है कि भावदीन के सेवा सिंह के पुत्र 26 वर्षीय शहीद निशान सिंह 26 जून 2013 को आर्मी में भर्ती हुए थे और दो महीने पहले ही रमनदीप से उनकी शादी हुई थी। निशान सिंह 19 राइफल्स के जवान थे और दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग में तैनात थे। शनिवार को मुठभेड़ के दौरान निशान सिंह आतंकवादियों से लोहा लेते हुए शहीद हो गए।