The only brother of two sisters burnt alive due to electrocution, see what steps the angry villagers took
Palwan-Accident-1

The only brother of two sisters burnt alive due to electrocution, see what steps the angry villagers

करंट लगने से जिंदा जला दो बहनों का इकलौता भाई, देखें गुस्साएं ग्रामीणों ने क्या उठाया कदम

पलवल। हरियाणा के पलवल (Palwal) में बाइक पर घर से ड्यूटी के लिए निकला एक युवक रास्ते में बिजली के हाईटेंशन तार की चपेट में आ गया और जिसकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना के बाद ग्रामीण भडक़ गए। मौके पर पहुंची पुलिस को ग्रामीणों ने मृतक का शव भी नहीं उठाने दिया। कहा जा रहा है जिन बिजली तारों से हादसा हुआ है, वे कई दिन से काफी नीचे लटके थे और आज टूट कर गिर गया। ग्रामीण बिजली निगम और प्रशासन के अधिकारियों से पूरे मामले में जवाब मांग रहे हैं। इस बीच एसपी (SP) मुकेश मल्होत्रा और एसडीएम (SDM) वैशाली सिंह मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों को मना कर शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेजा।

जानकारी के मुताबिक जटौला गांव का सुनील कुमार (Sunil Kumar) पुत्र धर्मवीर बुधवार को सुबह अपने घर से बाइक पर सवार होकर ड्यूटी जाने के लिए निकला था। गांव के निकट से ही बिजली की हाईटेंशन की लाईन जा रही है। जब सुनील जटौला-असावटी मार्ग पर हाईटेंशन लाईन के नीचे से गुजर रहा था, उसी समय हाईटेंशन लाईन का एक तार टूट कर उसके ऊपर गिर पड़ा। जिससे सुनील बिजली के तार में दौड़ रहे करंट की चपेट में आ गया। करंट इतना था कि सुनील व उसकी बाइक में आग लग गई।

सडक़ पर शव रखकर जताया रोष 

क्षेत्र लोग घटना को देख दौडक़र वहां पहुंचे और पानी डालकर आग को बुझाया। देखते ही देखते मौके पर काफी संख्या में गांव के महिला-पुरुष एकत्रित हो गए। इसी दौरान सूचना मिलने पर सुनील के परिजन भी मौके पर पहुंच गए। मामले की सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला नागरिक अस्पताल भिजवाने का प्रयास किया तो ग्रामीणों ने उनका विरोध शुरू कर दिया और शव को मौके से नहीं उठाने दिया।

घर का इकलौता चिराग था युवक 

सुनील कुमार परिवार का इकलौता चिराग और दो बहनों का भाई था। उसकी शादी हो चुकी थी। उसकी मौत से परिवार का इकलौता कमाने वाला चला गया है। वह दो बच्चों का पिता था। दूधोला की एक प्राइवेट फैक्ट्री में काम कर परिवार का पालन पोषण कर रहा था। बिजली निगम की लापरवाही से हुई उसकी मौत के बाद ग्रामीण भडक़ गए। उसके चाचा रामपत ने कहा कि परिवार की लाठी टूट गई है। बिजली निगम की लापरवाही ने उसकी जान ली है। जिम्मेदारों पर हत्या का केस दर्ज होना चाहिए।

अधिकारियों ने ग्रामीणों को मनाया

परिजनों व ग्रामीणों का कहना था बिजली विभाग की लापरवाही से सुनील की मौत हुई है, पहले मौके पर दोषी बिजली कर्मियों को बुलाया जाए और उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए। करीब दो घंटे तक ग्रामीण वहां हंगामा करते रहे और शव मौके पर ही जटौला-असावटी मार्ग पर रख दिया। इस बीच ग्रामीणों के रोष को देखते हुए पलवल के एसपी मुकेश मल्होत्रा और एसडीएम वैशाली सिंह मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों को मनाया। उन्होंने आश्वासन दिया कि जिम्मेदार बिजली निगम कर्मियों व अधिकारियों पर कार्रवाई होगी। बाद में शव को नागरिक अस्पताल भेजा गया। परिजनों के बयान दर्ज करने के बाद आगे की कार्रवाई होगी।