Grand Omaxe Society में फिर चला बुलडोजर, मिन्नतें करते रहे सोसायटी के लोग; भारी बवाल के बीच नोएडा प्राधिकरण की कार्रवाई

Punjab CM

Grand Omaxe Society में फिर चला बुलडोजर, मिन्नतें करते रहे सोसायटी के लोग; भारी बवाल के बीच नोएडा प्राधिकरण की कार्रवाई

Grand Omaxe Society

Grand Omaxe Society में फिर चला बुलडोजर, मिन्नतें करते रहे सोसायटी के लोग; भारी बवाल के बीच नोएडा प्

Grand Omaxe Society: नोएडा की ग्रैंड ओमेक्स सोसाइटी में कई घंटे तक चले ड्रामे के बाद प्राधिकरण का बुलडोजर अवैध निर्माण पर चल ही गया. भाजपा नेता श्रीकांत त्यागी के घर की तरह दूसरों के 16 अवैध निर्माण को ढहा दिया गया है. अवैध निर्माण को गिराने के लिए प्राधिकरण ने सोसाइटी के लोगों को 48 घंटे का अल्टीमेटम दिया था, जोकि शुक्रवार सुबह खत्म हो गया था. इसके बाद प्राधिकरण की टीम बुलडोजर के साथ अवैध निर्माण को ध्वस्त करने पहुंची. जिसका लोगों ने काफी विरोध किया.

कोई अधिकृत सूचना नहीं दी गई

लोगों का कहना था कि अथॉरिटी की तरफ से उन्हें कोई अधिकृत सूचना नहीं दी गई. दरअसल, श्रीकांत त्यागी की पत्नी अनु त्यागी की तरफ से कॉमन एरिया में दोबारा पेड़ लगाने को लेकर यह विवाद एक बार फिर शुरू हुआ था.

सोसाइटी के लोग पेड़ लगाने का विरोध कर रहे थे और दूसरी तरफ त्यागी समाज के लोग सोसाइटी के गेट पर धरना देने के लिए बैठ गए थे. उनका कहना था कि अनु त्यागी को पौधरोपण करने दिया जाए. 

इस विवाद के मद्देनजर नोएडा प्राधिकरण की टीम ने जांच की और पाया कि सोसाइटी में 93 फ्लैट्स मालिकों ने ग्राउंड फ्लोर पर अतिक्रमण कर रखा है. इसके बाद सभी लोगों को कब्जा हटाने के लिए 48 घंटे का अल्टीमेटम दिया था.

पेड़ को लेकर ही शुरू हुआ था विवाद

दरअसल जिस पेड़ को हटाने को लेकर श्रीकांत त्यागी ने एक महिला के साथ अभद्रता की थी, उसी पार्क में दोबारा पेड़ लगवाने के लिए श्रीकांत की पत्नी अनु त्यागी ने पेड़ मंगवाए थे. सोसाइटी के गेट पर गाड़ियों में पेड़ लदे देख सोसाइटी के लोग भड़क गए और विरोध करने लगे, जिसके बाद मौके पर मौजूद पुलिस ने किसी तरह सोसाइटी के लोगों को शांत करवाया.

क्या है पूरा मामला

अगस्त को श्रीकांत त्यागी का 5 महिला से गाली-गलौज करने का वीडियो वायरल हुआ था. मामले के तूल पकड़ते ही पुलिस ने केस दर्ज किया था. इसके बाद से ही आरोपी फरार चल रहा था. पुलिस ने उस पर गैंगस्टर की कार्रवाई कर 25 हजार का इनाम भी घोषित किया था. कई दिनों की मशक्कत के बाद उसे मेरठ से पकड़ा गया था और उसे जेल भेज दिया गया था.