BREAKING
Haryana: आसमानी बिजली गिरने से बाबैन के गांव खिड़की वीरान में खेत में सरसों काट रहे मां सरोज बाला व बेटे रमन सैनी की मौके पर हुई मौत BJP के लोकसभा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी; PM मोदी यहां से लड़ेंगे चुनाव? जानिए कहां से कौन उम्मीदवार खड़ा BJP के एक और सांसद ने सक्रिय राजनीति से संन्यास लिया; जेपी नड्डा को लिखा पत्र, इससे पहले गौतम गंभीर ऐसा ही कर चुके भारत में स्पेन की महिला का गैंगरेप; झारखंड में घूमने आई थी, रात में दरिंदों ने मारपीट कर जिस्म नोचा, अस्पताल में इलाज चल रहा युवराज सिंह ने कहा- मैं गुरदासपुर से चुनाव नहीं लड़ रहा; BJP के टिकट पर लड़ने की चर्चा थी, सनी देओल को साइड कर रही पार्टी

मुख्यमंत्री द्वारा पंजाब पुलिस और पी.एफ.टी.ए.ए. द्वारा करवाए गए अपनी किस्म के पहले सांस्कृतिक समागम गुलदस्ता- 2023 का उद्घाटन  

Punjab Police appreciated for selfless service to the country

Punjab Police appreciated for selfless service to the country

Punjab Police appreciated for selfless service to the country- जालंधरI पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने आज यहाँ पुलिस कर्मचारियों के परिवारों की भलाई के लिए पंजाब पुलिस द्वारा पंजाबी फि़ल्म एंड टीवी ऐकटजऱ् एसोसिएशन (पी.एफ.टी.ए.ए.) के सहयोग से करवाए गए अपनी किस्म के पहले सांस्कृतिक समागम गुलदस्ता- 2023 का उद्घाटन किया।  

जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस अहम पहल का उद्देश्य पंजाब पुलिस के जवानों के परिवारों की भलाई को सुनिश्चित बनाना है। उन्होंने कहा कि पंजाब पुलिस के जवान अपनी ड्यूटी पूरी निष्ठा से निभाते हैं और यह समागम इन बहादुर जवानों के परिवारों को समर्पित है। भगवंत सिंह मान ने पी.ए.पी. ग्राउंड में इस समागम का आयोजन करने के लिए सहयोग देने के लिए पी.एफ.टी.ए.ए. का धन्यवाद किया।  

मुख्यमंत्री ने कहा कि देश के प्रति निस्वार्थ सेवा की बात करें तो पंजाब पुलिस की शानदार विरासत है। उन्होंने कहा कि पुलिस कर्मचारियों के परिवारों को काफ़ी परेशानी झेलनी पड़ती है, क्योंकि पुलिस की ड्यूटी करने वाला व्यक्ति अपने परिवार के लिए समय नहीं निकाल पाता। भगवंत सिंह मान ने कहा कि इस समागम का उद्देश्य पुलिस कर्मचारियों के परिवारों को एकत्र कर मिलकर बैठने और समागम का आनंद उठाने का अवसर प्रदान करना है।  

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह बड़े गर्व और संतुष्टी की बात है कि राज्य के तीन करोड़ से अधिक लोगों के लिए आराम की नींद को सुनिश्चत बनाने के लिए 80,000 पुलिस कर्मचारी पूरी निष्ठा से अपनी ड्यूटी कर रहे हैं। भगवंत सिंह मान ने कहा कि जब से उन्होंने पर संभाला है, उनकी सरकार पुलिस फोर्स के नवीनीकरण की तरफ विशेष ध्यान दे रही है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि पुलिस फोर्स के वैज्ञानिक रास्ते पर आधुनिकीकरण पर ध्यान दिया जा रहा है, और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के प्रयोग को भी प्रोत्साहित किया जा रहा है।  

मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले भी मुम्बई में इस तरह का समागम करवाया जा रहा था, जिसमें बॉलीवुड के कलाकार हिस्सा लेते थे। उन्होंने कहा कि अब राज्य सरकार ने पुलिस बल की भलाई को सुनिश्चित बनाने के लिए यह पहल की है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि राज्य के प्रमुख होने के नाते उनकी सरकार किसानों, व्यापारियों, कमज़ोर वर्गों, कर्मचारियों और पुलिस बल समेत समाज के हर वर्ग की भलाई के लिए प्रतिबद्ध है।  

मुख्यमंत्री ने इस बात की ख़ुशी जाहिर की कि इस समागम में पुलिस कर्मचारियों के सगे-संबंधियों और यहाँ तक कि पुलिस कर्मचारियों ने भी शमूलियत की। उन्होंने कहा कि यह रंगला पंजाब सृजन करने की दिशा में एक ओर कदम है जहाँ समाज का हर वर्ग खुशहाली, शांति और तरक्की के रास्ते पर चलेगा। भगवंत सिंह मान ने पुलिस बल को बधाई देते हुए आशा अभिव्यक्त की कि आने वाले समय में इस समागम में फिल्मी सितारे भी शिरकत करेंगे।  

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा महिला सशक्तिकरण के लिए ठोस प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य के कई जिलों में सीनियर पुलिस कप्तान के तौर पर महिला अधिकारी तैनात हैं और 10 से अधिक जिलों में महिला डिप्टी कमिश्नर हैं। भगवंत सिंह मान ने कहा कि राज्य में लड़कियों की भलाई के लिए ठोस प्रयास किए जा रहे हैं और इन प्रयासों के सार्थक निष्कर्ष सामने आ रहे हैं।  

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने राज्य में 1450 और पुलिस कर्मचारियों की भर्ती करने के लिए भर्ती प्रक्रिया शुरू करने की मंजूरी दे दी है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि इसका उद्देश्य नौजवानों को राज्य के सामाजिक-आर्थिक विकास में बराबर का हिस्सेदार बनाना है। उन्होंने कहा कि पुलिस में 1450 पुलिस कर्मचारियों की भर्ती जि़ला स्तर पर फोर्स के कामकाज को और अधिक सुचारू बनाएगी और राज्य में अमन- कानून को बरकरार रखने के साथ-साथ समाज विरोधी तत्वों पर नकेल कसने में भी सहायक होगी।  

मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि राज्य सरकार द्वारा विद्यार्थियों को प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए प्रशिक्षण देने के लिए आठ अति-आधुनिक सैंटर खोले जा रहे हैं। भगवंत मान ने कहा कि यह सैंटर नौजवानों को यू.पी.एस.सी. की परीक्षा पास करने और राज्य एवं देश में नामवर पद हासिल करने के लिए मानक प्रशिक्षण प्रदान करेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का लक्ष्य नौजवानों को उच्च पदों के लिए तैयार करना है, जिससे वह देश की सेवा कर सकें।  

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने ड्यूटी के दौरान बलिदान देने वाले पुलिस कर्मचारियों के परिवारों को एक्स ग्रेशिया ग्रांट के चैक सौंपे। उन्होंने पी.एफ.टी.ए.ए. के सदस्यों का सम्मान भी किया और ए.डी.जी.पी.एम.एफ. फारूकी द्वारा लिखे और प्रसिद्ध गायक मास्टर सलीम द्वारा गाया गीत ‘अरदास’ जारी किया।  

इससे पहले डायरैक्टर जनरल ऑफ पुलिस गौरव यादव ने मुख्यमंत्री और अन्य आदरणियों का समागम में स्वागत किया।