Break-through of Tunnel T-13: उत्‍तर रेलवे ने जम्‍मू-कश्‍मीर में एस्‍केप टनल टी-13 का ब्रेक-थ्रू किया
Break-through of Tunnel T-13: उत्‍तर रेलवे ने जम्‍मू-कश्‍मीर में एस्‍केप टनल टी-13 का ब्रेक-थ्रू किया

Break-through of Tunnel T-13: उत्‍तर रेलवे ने जम्‍मू-कश्‍मीर में एस्‍केप टनल टी-13 का ब्रेक-थ्रू किय

Break-through of Tunnel T-13: उत्‍तर रेलवे ने जम्‍मू-कश्‍मीर में एस्‍केप टनल टी-13 का ब्रेक-थ्रू किया

Break-through of Tunnel T-13: श्री आशुतोष गंगल, महाप्रबंधक, उत्‍तर रेलवे ने बताया कि उत्‍तर रेलवे ने दिनांक 02.08.2022 को कटड़ा-बनिहाल रेल सेक्‍शन के डुग्‍गा और बसिंधाधर रेल स्‍टेशनों के बीच बन रही एस्‍केप टनल टी-13 का ब्रेक-थ्रू करके एक बड़ी उपलब्धि हासिल की है। टी-13  एस्‍केप  टनल की लम्‍बाई 9.1 किलोमीटर और व्‍यास 4.6  मीटर है ।  घोड़े की नाल के आकार वाली इस टनल के दोनों सिरों को 2 अगस्‍त, 2022 को खोला गया । इस बचाव सुरंग को सभी चुनौतियों से निपटते हुए पॉंच वर्ष में तैयार किया गया है । अंतर्राष्‍ट्रीय रेल मानकों के अनुसार 3 किलोमीटर से अधिक लम्‍बी मुख्‍य सुरंग के साथ एस्‍केप टनल बनाई जाती हैं जोकि मुख्‍य सुरंग के समानांतर  होती हैं और ये आकार में उससे छोटी होती है । इस टनल का ब्रेक-थ्रू समूचे ऊधमपुर-श्रीनगर-बारामुला रेल लिंक परियोजना के लिए एक बड़ी उपलब्धि साबित होगा तथा कश्‍मीर घाटी को समूचे भारत के साथ जोड़ने की राष्‍ट्रीय परियोजना को साकार करने में एक महत्‍वपूर्ण कड़ी है । 

Break-through of Tunnel T-13: प्रमुख चुनौतियों

इस एस्‍केप टनल के निर्माण के दौरान आई प्रमुख चुनौतियों में दुर्गम क्षेत्र, दूरवर्ती इलाके, अस्थिर भू-भाग और प्रतिकूल मौसम की स्थितियों के साथ-साथ सामाजिक दिक्‍कतें शामिल रहीं । इस टनल का ब्रेक-थ्रू समूचे ऊधमपुर-श्रीनगर-बारामुला रेल लिंक परियोजना के लिए एक बड़ी उपलब्धि साबित होगा ।