सांसद राघव चड्ढा ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, बार-बार ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी आम आदमी की जेब पर डाका

Punjab CM

सांसद राघव चड्ढा ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, बार-बार ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी आम आदमी की जेब पर डाका

सांसद राघव चड्ढा ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, बार-बार ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी आम आदमी की जेब पर डाका

सांसद राघव चड्ढा ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, बार-बार ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी आम आदमी की जेब पर

...राघव चड्ढा के संसद में पूछे एक सवाल के जवाब में हैरान करने वाला हुआ खुलासा: एक साल में पेट्रोल 78 और डीजल 76 बार हुआ महंगा

...केंद्र ने पेट्रोलियम पदार्थों से 2019-2020 के मुताबिक इस साल 1.5 लाख करोड़ अधिक राजस्व एकत्रित किया: राघव चड्ढा

....बढ़ती महंगाई और वित्तीय हालातों पर काबू पाने में पूरी तरह से विफल साबित हुई भाजपा सरकार: राघव चड्ढा 

....लोगों को राहत देने के बजाए सरकार बुनियादी वस्तुओं की कीमतों में बढ़ोतरी कर आम लोगों पर डाल रही अतिरिक्त बोझ:राज्यसभा संसद चड्ढा

चंडीगढ़, 25 जुलाई
आम आदमी पार्टी (आप) के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा ने भाजपा सरकार को बढ़ती महंगाई के मुद्दे पर घेरते हुए उसे पूरी तरह फ्लॉप सरकार करार दिया। 
उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने पिछले 1 साल में पेट्रोल की कीमतों में 78 बार और डीजल की कीमतों में 76 बार बढ़ोतरी की है। 

बता दें कि राज्यसभा सांसद चड्ढा द्वारा उठाए गए एक सवाल के जवाब में केंद्र सरकार ने संसद में खुलासा किया कि सरकार ने पिछले एक साल में पेट्रोल की कीमतों में 78 बार और डीजल की कीमतों में 76 बार बढ़ोतरी की है।  जब कि चौंकाने वाली बात यह है कि इसी अवधि (2021-2022) में पेट्रोल और डीजल की कीमतों को मात्र 7 और 10 बार ही घटाया गया।

केंद्र सरकार ने वित्त वर्ष 2021-22 में 4.92 लाख करोड़ रुपये का राजस्व एकत्र किया, जो कि 2019-20 की तुलना में 1.5 लाख करोड़ रुपये अधिक है, फिर भी आम आदमी को कोई राहत नहीं दी गई।

चड्ढा ने ट्वीट कर लिखा, 'संसद में मैंने केंद्र सरकार से पूछा था कि पिछले एक साल में पेट्रोल के दाम कितनी बार बढ़े हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि पिछले एक साल में पेट्रोल की कीमत 78 बार और डीजल के दाम में 76 बार बढ़ोतरी हुई है। जनता की जेब पर डाका है।"

चड्ढा ने कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने पेट्रोलियम पदार्थों से 2021-22 में 4,92,303 करोड़ रुपये का भारी राजस्व एकत्रित किया है। बावजूद इसके केंद्र सरकार राहत देने के बजाय ईंधन की कीमतों में लगातार वृद्धि करके गरीबों और आम लोगों पर अतिरिक्त आर्थिक बोझ डाल रही है। 

केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए सांसद चड्ढा ने कहा कि भाजपा सरकार हर दिन केवल महंगाई के नए कीर्तिमान स्थापित कर रही है, जिसका बोझ केवल देश की भोली-भाली जनता को उठाना पड़ रहा है।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार महंगाई को नियंत्रित करने में बुरी तरह विफल रही है। पिछले 40 वर्षों में ईंधन,दूध और अंडे की कीमतें सबसे तेज़ी से बढ़ी हैं।

चड्ढा ने कहा कि केंद्र सरकार का आम लोगों के बजाए अपने कुछ खास 'दोस्तों' को खुश करने पर ध्यान केंद्रित है, जो हर दिन अमीर से और अमीर होते जा रहे हैं।