कलयुगी पिता को 1 दिन के रिमांड पर मुबारकपुर पुलिस को सौंपा
कलयुगी पिता को 1 दिन के रिमांड पर मुबारकपुर पुलिस को सौंपा

कलयुगी पिता को 1 दिन के रिमांड पर मुबारकपुर पुलिस को सौंपा

कलयुगी पिता को 1 दिन के रिमांड पर मुबारकपुर पुलिस को सौंपा

डेराबस्सी।
त्रिवेदी कैंप में साल भर की अपनी ही बच्ची का गला घोट कर उसे घग्गर नदी में फेंकने के आरोपी बाप को पुलिस ने शुक्रवार को डेराबस्सी कोर्ट में पेश किया। हालांकि कोर्ट ने उसे 1 दिन के रिमांड पर मुबारकपुर पुलिस को सौंप दिया है परंतु पुलिस के लिए सबसे बड़ी चुनौती बच्ची के शव को रिकवर करने की है। इसके लिए पुलिस हरियाणा सीमा तक घग्गर किनारे लोगों से पूछ पड़ताल करने में जुटी है। 
बता दें कि आकाश ने अपनी पत्नी रिंकी के साथ कहासुनी के बाद अपनी 1 वर्षीय बच्ची इशिका का घग्गर किनारे जाकर गला घोंट दिया  और उसके शव को नदी में फेंकने की बात कबूल की है। पुलिस ने पत्नी की शिकायत पर आकाश के खिलाफ जान से मारने की नियत से किडनैपिंग का मामला दर्ज किया हुआ है परंतु इसे आईपीसी 302 में बदलने से पहले पुलिस के लिए बच्ची का शव बरामद करना बड़ी सिर दर्दी बना हुआ है। यही तर्क देकर पुलिस ने आरोपी आकाश का 3 दिन का रिमांड मांगा था परंतु कोर्ट ने फिलहाल 1 दिन के रिमांड पर आकाश को पुलिस के हवाले कर दिया। चौकी प्रभारी कुलवंत सिंह के अनुसार बच्ची का शव ढूंढने के लिए हरियाणा सीमा तक पुलिस नदी किनारे लोगों से पूछ पड़ताल कर रही है। इंजन के जरिए नदी का पानी खींचने वाले किसानों को भी पूछताछ के दायरे में लाया गया है। नदी में पानी के साथ मिट्टी और रेत भी काफी है ऐसे में छोटी बच्ची का शव मिलना आसान नहीं है फिर भी कोशिश जारी है।