India’s wonder Girl के नाम से जानी जाती है ये लड़की, देखे 9 विदेशी भाषाएँ फर्राटे से बोल सकती है ये लड़की
Janhavi Panwar main

India’s wonder Girl के नाम से जानी जाती है ये लड़की, देखे 9 विदेशी भाषाएँ फर्राटे से बोल सकती है ये ल

India’s wonder Girl के नाम से जानी जाती है ये लड़की, देखे 9 विदेशी भाषाएँ फर्राटे से बोल सकती है ये लड़की

हरियाणा : मां-बाप के लिए अपना बच्चा चाहे जितना मर्जी शरारते करें पर वह उनकी नज़र मे हमेशा ख़ास और Genius होता है। सारी उम्र लग जाती है Parents को अपने बच्चो के पालन -पोषण में और उनके भविषय को सवारने में तब जाकर वह अपने पैरो पर खड़े हो पाते है।  कुछ बच्चे तो छोटी उम्र से ही इतने समझदार बन जाते है की अपने मां-बाप को Support करने मे कोई कसर नई छोड़ते और उनका नाम बखूबी रोशन भी करते है फिर चाहे वोह Education में इंटेलिजेंस की परीक्षा हो या खेल-कूद की परीक्षा हो। कुछ ऐसा ही कर दिखाया है इस लड़की ने भी। जी हां ,गाव समालखा ,पानीपत ( हरियाणा) की ये रहने वाली लड़की जिससे दुनिया भर में 'India’s wonder Girl' के नाम से जाना जाता है। इस नाम से पुकार की वजह को आप ही जानकर हो जाओगे हैरान।  तो आईये आपको मिलवाते है इस wonder girl से।  

कौन है Janhavi Panwar ?

Janhavi Panwar एक मशहूर लड़की जो वंडर गर्ल के जानी जाती हैं। इनके पीछे एक बहुत बड़ा कारण है जिसकी वजह से लोग इन्हे वंडर गर्ल के नाम से जानते है । कारण ये है की बहुत कम उम्र में ही वो मुकाम हासिल कर लिया है जो बहुत हाई व्यक्तित्व वाले व्यक्ति भी नहीं कर सकता है । 16 साल की उम्र मे ही इन्होने सत्यवती दिल्ली यूनिवर्सिटी से आर्ट्स से ग्रेजुएशन कर चुकी हैं। ये सुनकर आप हैरान तो बहुत हुए होंगे।  यही नहीं, Janhavi के इंटेलिजेंस ऐसा है कि वह पूरी 9 बिदेशी भाषाओं को मे उन्ही के लहजे बोलने में भी महारत हासिल कर चुकी हैं।बतादे की , Janhavi Panwar को महज 11 साल की उम्र मे ही इनकी प्रतिभा को देखते हुए “India’s wonder Girl” की उपाधि दी गयी थी। इतना ही नहीं जान्हवी सोशल मीडिया पर बहुत एक्टिव रहती है।  जान्हवी पंवार का जन्म 8 नवंबर 2003 को शहरमलपुर, समालखा ,पानीपत हरियाणा में हुआ था । इनके पिता का नाम बृजमोहन है जी एक प्राइवेट स्कूल में टीचर थे। ये माध्यम वर्ग परिवार से Belong करती है ।

कई भाषाएं बोल जाती है फर्राटे से 

Janhavi Panwar की सबसे बड़ी बात यह है की 9 बिदेशी भाषाएँ फर्राटे से उन्ही की स्टाइल मे बोल सकती है। जान्हवी के पिता ने बताया कि, “जब वो केवल 1 वर्ष कि थी तभी उनको एहसास हो गया था कि उनकी बेटी अपने उम्र के बच्चों से काफी अलग थी। आपको बतादे की Janhavi Panwar एक मोटीविशेनल स्पीकर भी हैं जो IAS को ट्रेनिंग भी देती हैं।  इसके इलावा wonder girl एक Youtuber भी है जो की बहुत से बच्चों को इंग्लिश सीखने का क्लास भी लेती हैं। Janhavi ने IIT के छात्रों से लेकर कई बड़ी संस्थाओं में भी मोटिवेशनल स्पीच दे चुकी है। अपने आप को मोटिवेट करने के लिए बहुत से किताबों का अध्ययन कर चुकी हैं। इनके पिता इनको इंग्लिश सीखने के लिए हर Sunday को लाल किला ले जाया करते थे और बाहर से आए फारेनर से बात करने के लिए कहते थे। ऐसा करने से जान्हवी को इंग्लिश सीखने में काफी मदद मिलती थी। यहाँ तक की उनकी बाडी लंगवेज़ को भी बड़े ध्यान से पढ़ती थीं और वैसे ही बोलने का प्रयास भी करती थीं। और इस तरह उसने English के साथ Scots , American , Arbi , Potch ,Chinese जैसी languages बोलने में सफल रहीं और साथ ही उसने French Language का diploma भी कर लिया।  ऐसे करते हुए Janhavi ने फोर्नर्स के accents  को भी सिख लिया। इसके लिए उसने शुरू में विडियो देखकर एक से दो घंटे तक बोलेने का प्रयास करती थी। दो चैनल BBC और CNN को एक साथ देखकर ब्रिटिश और अमेरिकन एक्सेण्ट से अच्छी तरह से परिचित हो पायी थी। इन दोनों चैनलों के समाचार देखने के बाद इसको बार-बार दोहराती थी। कई बार पैरेंट के सामने तो कई बार सीसे के सामने एक्सेण्टस को दोहराती थी। एक इंटरव्यू के दौरान जान्हवी कहती हैं कि "यह सब इतना आसान नहीं था,पर अगर आप किसी चीज़ की देखते हो सीखना चाहते हो तो उसे आराम से करो, उसे समझो, जानो और दोहराओ और एक Passionate जज़्बे के साथ आप उस सपने को हासिल भी कर लोगे, और फिर दुनिया आपके पीछे खुद आएगी " 

School Life में देखे कई उतार -चढ़ाव 

Janhavi ने बताया कि अँग्रेजी के कारण हमेशा अपने स्कूल के बच्चों के निशाने पर रहती थीं। जब भी कोई एक्सेन्ट इनकी जबान से स्कूल मे निकाल जाता था तब सभी बच्चे इनको चिढ़ाते थे। जान्हवी बचपन से न्यूज़ और अखबारों में आती थी, इसपर भी लोग इन्हे चिढ़ाते थे कि ”तुम पढ़ाई मे अच्छी नहीं हो फिर भी टीवी पर आती हो ।” दो दो क्लास एक साथ करने के कारण इनके कोई दोस्त भी नहीं बन पाये हैं । वंडर गर्ल का टैग न्यूज़ चैनलों ने लगा दिया है। इसके बाद सब लोग इसी नाम से बुलाने भी लगे। Janhavi Panwar के पिता इंग्लिश सीखने के लिए इंग्लिश कि शार्ट फिल्म और विडियो क्लिप डाऊनलोड करके जान्हवी को सुनाते थे। जिससे उनको सुनकर समझ सके। यहां तक की Janhavi ने 14 साल की उम्र में IELTS के एग्जाम में 7.5 बैंड भी हासिल किये है अपनी इस इंटेलिजेंस की वजह से आज पूरी दुनिया मे Janhavi Panwar छाई हुई है।