DSP The unconscious wife of Kaushalya Devi is saying the same thing - used to say that after retirement, she will feed the twins
DSP-Wife

DSP The unconscious wife of Kaushalya Devi is saying the same thing - used to say that after retirem

डी.एस.पी. की बेसुध हुई पत्नी कौशल्या देवी एक ही बात बोल रही है-बोलते थे रिटायरमेंट के बाद जुड़वा पोतों को खिलाएंगे

मेवात। हरियाणा के मेवात जिले के तावडू में शहीद हुए डीएसपी सुरेंद्र बिश्नोई को अंतिम विदाई के तहत गुरुवार को मिट्टी दी जाएगी। उनका बेटा कनाडा से इंडिया आज रात को पहुंचेगा। इससे पहले उनका शव मंगलवार रात को हिसार सिविल अस्पताल में पहुंच गया था। बेसुध हुई पड़ी  पत्नी कौशल्या देवी एक ही बात बोल रही हे की बोलते थे रिटायरमेंट के, बाद जुड़वा पोतों को खिलाएंगे।
'शहीद के पैतृक गांव सारंगपुर में बनी ढाणी के घर पर शोक प्रकट करने के लिए क्षेत्र के लोग पहुंच रहे हैं। शहीद डीएसपी सुरेंद्र सिंह की पत्नी बार बार बेसुध हो रही है, ऐसे में बाकी परिवारिक सदस्य उन्हें बार बार सांत्वना दे रहे हैं। शहीद की बेटी अपनी मां को बार बार पानी पिला रही है, परंतु पति की मौत के गम में बेसुध हुई पड़ी है।

रिटायरमेंट के बाद पोतों के साथ रखने की थी इच्छा

उनकी पत्नी कौशल्या देवी ने बिलखते हुए कहा कि हमारा तो सब कुछ चला गया। हादसे से एक दिन पहले बात हुई तो कहा कि तीन महीने रहेंगे रिटायरमेंट के, इसके बाद जुड़वा पोतों को खिलाएंगे। उसी दिन बेटे ने भी पिता को फोन किया और कहा कि आप हमारे पास कनाडा आ जाओ। सुरेंद्र सिंह ने कहा कि नहीं तुम हमारे पास वापस अब इंडिया आ जाओ। यहीं रहेंगे। पत्नी कौशल्या देवी ने कहा कि उन्हें कभी घूमने का शोक नहीं था। मैंने कई बार कहा कि घूमने चलते हैं, सारी उम्र ड्यूटी करते रहेंगे। लेकिन वो कहते कि अब रिटायरमेंट के बाद घूमना ही है। जैसे ही टाइम मिलता सभी भाईयों से बात करते। बस रिटायरमेंट के बाद एक ही बात कहते कि अब पोते खिलाएंगे।

एक हफ्ता पहले भी हादस हुआ था

एक हफ्ता पहले पुलिस की जिप्सी में एएसआई और ड्राइवर को डंपर ने टक्कर मारी थी। तब दोनों की जान बच गई थी। जिप्सी पूरी तरह से टूट गई थी। हादसा होने के बाद वे उन्हें अस्पताल लेकर गए। इस हादसे के बाद उन्हें नहीं जाना चाहिए था।

शहीद के भाई प्रिंसिपल सुभाष बिश्नोई ने बताया कि गुरुवार को उनकी हिस्से में आई जमीन में उन्हें मिट्टी दी जाएगी। बिश्नोई समाज में मृतक को दफनाया जाता है, जिसे कि सामाजिक रीत अनुसार मिट्टी देना कहा जाता है। हमारे परिवार का नियम है कि व्यक्ति की मौत के बाद उसे उसकी जमीन में ही मिट्टी दी जाती है। जब हमारा परिवार संयुक्त था, उसी के हिसाब से किया जाता था। अब शहीद डीएसपी को लीगली तौर पर आई उनकी हिस्से की भूमि में दफनाया जाएगा।

बेटा आज रात इंडिया पहुंचेगा

सुभाष ने बताया कि भाई साहब के बेटे ने मंगलवार रात को करीब 7 बजे कनाडा से इंडिया की फ्लाइट ली। बुधवार शाम को वह दिल्ली पहुंच जाएगा। उनकी बेटी और दामाद बैंगलुरू से हिसार आ चुके हैं, परंतु समाज का नियम है कि शाम 6 बजे के बाद मिट्?टी नहीं दी जाती। सुभाष ने बताया कि वे सरकार की कार्रवाई से संतुष्ट हैं। उनका भाई अपनी ड्यूटी करते हुए शहीद हुआ। पूरे परिवार और समाज को उसकी शहादत पर गर्व है।

ग्रामीणों की मांग खेल स्टेडियम बनाया जाए

ग्रामीण ओमप्रकाश ने कहा कि सरकार उनके नाम पर खेल स्टेडियम, शहीद स्मारक, स्कूल का नाम या किसी सड़क का नाम रखा जाए। ओमप्रकाश ने कहा कि गांव से मांग उठी है कि इस मामले की सीबीआई जांच हो।

तावडू में खनन माफिया ने की हत्या

डीएसपी सुरेंद्र की मंगलवार को तावडू में खनन माफिया ने डंपर चढ़ाकर हत्या कर दी थी। डीएसपी अवैध खनन की सूचना मिलने पर कार्रवाई करने के लिए उस जगह पर पहुंचे थे, परंतु खनन माफिया ने उनकी हत्या कर दी।