पंजाब का माहौल खराब करने वालों के खिलाफ एनआईए से जांच करवाने की मांग
पंजाब का माहौल खराब करने वालों के खिलाफ एनआईए से जांच करवाने की मांग

पंजाब का माहौल खराब करने वालों के खिलाफ एनआईए से जांच करवाने की मांग

पंजाब का माहौल खराब करने वालों के खिलाफ एनआईए से जांच करवाने की मांग

चंडीगढ़: एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेश शांडिल्य आज भारत के गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा से मिले और घल्लूघारा दिवस के नाम पर श्री हरिमंदिर साहिब परिसर में खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाकर दरबार साहिब की पवित्रता भंग करने वाले दल खालसा व अन्य कट्टरपंथियों के खिलाफ कारवाई को लेकर ज्ञापन सौंपा l इस अवसर पर एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया के राष्ट्रीय महासचिव व हिमाचल प्रभारी संजय खन्ना,फ्रंट के राष्ट्रीय महासचिव व चंडीगढ़ प्रभारी अंकुश उप्पल,पंजाब के प्रधान लखविन्द्र सिंह साधापुर,हरियाणा के प्रधान कुलवंत सिंह मानकपुर,दिल्ली के प्रधान एडवोकेट राकेश शर्मा,फ्रंट के राष्ट्रीय प्रवक्ता संजीव सेठ,लीगल सेल राष्ट्रीय अध्यक्ष एडवोकेट साहिल अमरनाथ गर्ग मौजूद थे l 

वीरेश शांडिल्य ने भारत के गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा को सौंपे ज्ञापन में कहा कि पंजाब में बड़े स्तर पर आतंकवाद लाने की फिर से साजिश शुरू हो चुकी है और जो जरनैल सिंह भिंडरावाला समर्थक सिमरनजीत सिंह मान व दल खालसा के कट्टरपंथियों ने श्री दरबार साहिब की गरिमा को खंडित किया जिससे उनकी धार्मिक भावनाएं आहत हुई l इसलिए घल्लूघारा के नाम पर पंजाब पुलिस को नीचा दिखाने के लिए जो अमृतसर में जलूस निकाला गया वह पंजाब में आतंकवाद की वापसी के संकेत है और इस साजिश में पाकिस्तानी आतंकवादी व आईएसआई का हाथ सहित बब्बर खालसा व भिंडरावाला टाइगर फ़ोर्स का हाथ है और खालिस्तानी मुहिम चलाने वालों को विदेशों से फंडिंग हो रही है l गृह राज्य मंत्री को सौंपे ज्ञापन में शांडिल्य ने कहा कि इस देश सहित पंजाब की अमन और शांति को वर्तमान पंजाब सरकार बचा नहीं सकती इसलिए तुरंत अमित शाह के नेतृत्व में पंजाब के माहौल को बचाने के लिए केंद्रीय नेतृत्व को आगे आना होगा और इसके लिए एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया के तमाम कार्यकर्ता केंद्र सरकार के साथ है l वहीँ वीरेश शांडिल्य ने गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा से मांग कि यदि पंजाब व देश को आतंकवाद,गैंगस्टर से बचाना है तो देश में राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनआईए) के थाने बनाने होंगे क्योंकि भारत सहित पंजाब में फ़ैल रहे आतंकवाद व गैगस्टरो के पीछे पकिस्तान व अन्य आतंकी संगठनो का हाथ है और एनआईए थाने बनाने की शुरुआत पंजाब से हो l शांडिल्य ने गृह राज्य मंत्री को सौंपे ज्ञापन में कहा कि गायक सिद्धू मूसेवाला की मौत पंजाब में फिर से काले दौर की शुरुआत है और इस चिंगारी को केंद्र ने ना रोका तो पंजाब सहित देश में आतंकवाद फैलेगा l 

एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेश शांडिल्य ने गृह मंत्री अजय कुमार मिश्रा को सौंपे ज्ञापन में कहा कि उनका संगठन देश में एक मात्र संगठन है जो आतंकवाद के खिलाफ दिल्ली से जम्मू-कश्मीर तक आतंकवाद विरोधी रथयात्रा निकाल चुका है और जिन आतंकवादियों ने पंजाब के मुख्यामंत्री बेअंत सिंह को मौत के घाट उतारा उनके खिलाफ चंडीगढ़ बुडेल जेल ब्रेक करने पर पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में सीबीआई जाँच के लिए याचिका दायर की थी जिस पर हाईकोर्ट ने ऐतिहासिक फैंसला दिया था l यहीं नहीं जब बेअंत सिंह के हत्यारे बब्बर खालसा के चीफ कमांडर जगतार सिंह हवारा को तिहाड़ जेल से बाय रोड चंडीगढ़ व रोपड़ की अदालतों में लाया जाता था तो तब भी उनके एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया ने हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की थी कि जब यह आतंकवादी जेल में सुरंग खोद कर भाग सकते है तो इनके लिए रोड से भागना कितना मुश्किल है जिस पर हाई कोर्ट ने इन आतंकवादियों की वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के आदेश दिए थे l वहीँ सौंपे ज्ञापन में बताया कि जब पंजाब में उस जरनैल सिंह भिंडरावाला का साहित्य बिक रहा था जिसने 1984 में भारतीय सेना के जवानों को शहीद किया उसके खिलाफ भी उनके संगठन ने हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की जिस पर डीजीपी पंजाब को हाईकोर्ट द्वारा कारवाई के आदेश हुए थे l

वहीँ शांडिल्य ने दिए ज्ञापन में कहा कि देश की संसद में खालिस्तान व जरनैल सिंह भिंडरावाला की मुहिम को रोकने के लिए तुरंत अमित शाह संसद में कानून लाएं कि खालिस्तान का नारा लगाने वाले,जरनैल सिंह भिंडरावाला की मुहिम चलाने वाले,संविधान विरोधी,तिरंगा विरोधी है तो उन्हें दशद्रोह के मामले में जेलों में डाला जाए l वहीँ शांडिल्य ने कहा कि श्री दरबार साहिब में खालिस्तान व जरनैल सिंह भिंडरावाला जिंदाबाद के नारे लगाने वाले और आजादी मांगने वाले न केवल 10 गुरुओं के विरोधी है बल्कि हिन्दू-सिख भाईचारे के विरोधी है l