Babita Phogat jumped into the Gyanvapi controversy, see what she said
 Babita Phogat jumped into the Gyanvapi controversy, see what she said

Babita Phogat jumped into the Gyanvapi controversy, see what she said

ज्ञानवापी विवाद में कूदीं बबीता फोगाट, देखें क्या कहा

चंडीगढ़। काशी के ज्ञानवापी विवाद में रेसलर से नेता बन चुकी बबीता फोगाट भी कूद गई हैं। भाजपा नेता और हरियाणा महिला एवं बाल विकास निगम की चेयरपर्सन बबीता फोगाट ने ट्वीट किया कि मोदी है तो मुमकिन है। भारत की सभी मस्जिदों का सर्वे होना चाहिए। उनके इस विवादित ट्वीट पर यूजर्स ने उन्हें ट्रोल भी किया है।

बता दें कि भाजपा नेत्री बबीता फौगाट सोशल मीडिया पर अपनी बेबाक राय देती हैं। चाहे वह शाहीन बाग का मामला हो या तजिंदर बग्गा की गिरफ्तारी का मामला।

बबीता फोगाट के ट्वीट पर एक सोशल मीडिया यूजर ने रिप्लाई किया कि सर्वे की क्या जरूरत है, सरकार आपकी, लोकतंत्र आपका, न्यायालय आपका, जज आपका, पुलिस आपकी, भीड़ आपकी, कहीं भी कुछ भी रख दो और उसको मंदिर घोषित कर दो। सर्वे तो बहाना है, सारी सेटिंग तो पहले से कर रखी है।

एक अन्य यूजर्स ने ट्वीट किया पहले तू पीएचडी कर पढ़ाई करके यूनिवर्सिटी जाकर कुछ जानकारी हासिल करके देश में बने कानून की पढ़ाई कर, फिर बकवास कर।
एक अन्य यूजर ने ट्वीट किया कि अपने नजदीक के मंदिर में तो कभी गई नहीं, पूरे देश के मस्जिदों का सर्वे चाहिए। अपने देश में धार्मिक उन्माद फैलाने वालों को भाजपा इनाम देती है, इसी इनाम के चक्कर में कई घनचक्कर लगे हुए हैं। इसी को विष पुरुष का विषैला अमृत काल कहा गया है।