भारत के खिलाफ सीरीज से पहले आयरलैंड को झटका, दिग्गज ने ले लिया संन्यास
भारत के खिलाफ सीरीज से पहले आयरलैंड को झटका

भारत के खिलाफ सीरीज से पहले आयरलैंड को झटका, दिग्गज ने ले लिया संन्यास

भारत के खिलाफ सीरीज से पहले आयरलैंड को झटका, दिग्गज ने ले लिया संन्यास

डबलिन: भारत के खिलाफ टी20 सीरीज से पहले आयरलैंड के पूर्व कप्तान विलियम पोर्टरफील्ड (William Porterfield) ने गुरुवार को अपने 16 साल के लंबे करियर को समाप्त करते हुए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की। 37 वर्षीय पोर्टरफील्ड ने इस सप्ताह की शुरुआत में क्रिकेट आयरलैंड को अपने फैसले की जानकारी दी और बोर्ड ने गुरुवार को आधिकारिक घोषणा की। वह आयरलैंड के लिए तीसरे सबसे अधिक मैच खेलने वाले आयरिश और दूसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी रहे।

178 मैचों में की कप्तानी
वनडे क्रिकेट में 11 शतक लगाने वाले पोर्टरफील्ड आयरलैंड के लिए टॉप ऑर्डर में स्तंभ की तरह थे। उन्होंने विभिन्न विश्व क्रिकेट लीग प्रतियोगिताओं से लेकर वैश्विक स्तर पर सभी प्रतियोगिताओं में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 10,000 रन बनाए। उन्हें 2008 में कप्तान नियुक्त किया गया और 178 मैचों में टीम का नेतृत्व किया।

2006 में इंटरनेशनल डेब्यू करने वाले पोर्टरफील्ड दो क्रिकेट विश्व कप अभियानों और पांच टी20 विश्व कप में आयरिश कप्तान थे। 2011 के 50 ओवर के टूर्नामेंट में बैंगलोर में इंग्लैंड पर उनकी चौंकाने वाली जीत में अहम योगदान था। कप्तानी छोड़ने के बाद से पोर्टरफील्ड आयरलैंड वनडे संगठन के सदस्य बने रहेंगे, हाल ही में पिछले साल सुपर लीग अभियान में दक्षिण अफ्रीका और जि़म्बाब्वे के खिलाफ अर्धशतक बनाया था। पोर्टरफील्ड ने कहा, ‘16 वर्षों तक अपने देश का प्रतिनिधित्व करना एक सम्मान की बात है। यह कुछ ऐसा है जो मैं हमेशा से करना चाहता था। मुझे कहना होगा कि इस समय यह कठिन है कि मैंने संन्यास लेने का निर्णय लिया है।’

जनवरी में खेला आखिरी मैच
उन्होंने आयरलैंड के लिए 3 टेस्ट, 147 वनडे और 61 टी20 मैच खेले। इसमें उनके नाम क्रमश: 58, 4343 और 1079 रन हैं। इसी साल जनवरी में उन्होंने आयरलैंड के लिए अंतिम इंटरनेशनलम मैच खेला था। काउंटी क्रिकेट में ग्लूस्टरशायर और वारविकशायर के साथ काम कर चुके पोर्टरफील्ड अब कोचिंग देने की तैयारी करेंगे।