हरियाणा में पूर्व विधायकों की पेंशन पर खर्च हो रहे 30 करोड़ सालाना
हरियाणा में पूर्व विधायकों की पेंशन पर खर्च हो रहे 30 करोड़ सालाना

हरियाणा में पूर्व विधायकों की पेंशन पर खर्च हो रहे 30 करोड़ सालाना

हरियाणा में पूर्व विधायकों की पेंशन पर खर्च हो रहे 30 करोड़ सालाना

प्रदेश के 128 पूर्व विधायकों को मिल रही फैमिली पेंशन
सर्वाधिक पेंशन ले रहे हैं कैप्टन अजय सिंह यादव
दस साल में 68 जनप्रतिनिधियों को दिया करोड़ों का हाउसिंग लोन

चंडीगढ़। पंजाब सरकार द्वारा एक विधायक, एक पेंशन योजना लागू किए जाने के बाद हरियाणा में जहां इसकी मांग उठने लगी है वहीं प्रदेश सरकार के खजाने से पूर्व विधायकों को पेंशन तथा फैमिली पेंशन के नाम पर हर साल करीब तीस करोड़ रुपये का खर्च आ रहा है।
पानीपत के आरटीआई एक्टिविस्ट पीपी कपूर ने हरियाणा विधानसभा सचिवालय से सात अप्रैल 2022 को आरटीआई में मिली सूचना से खुलासा किया कि हरियाणा के कुल 275 पूर्व विधायकों की पेंशन व 128 पूर्व विधायकों की फैमिली पेंशन पर   पेंशन पर  कुल 29.51 करोड़ रूपये सालाना खर्च किए जा रहे हैं। इनमें से कुल 26.40 करोड़ रुपये पूर्व विधायकों की पेंशन पर व कुल 3.11 करोड़ रुपए फैमिली पेंशन पर खर्च हो रहे हैं। 
आरटीआई से मिली जानकारी के अनुसार पूर्व विधायक कैप्टेन अजय सिंह यादव दो लाख 38 हजार 100 रुपये के साथ सर्वाधिक पेंशन ले रहे हैं। इसी प्रकार पूर्व सीएम भजन लाल की विधवा जसमा देवी को 99 हजार 619 रुपये प्रति माह सर्वाधिक फैमिली पेंशन दी जा रही है। सरकार वर्तमान व पूर्व विधायकों को 60 लाख रुपये तक हाऊसिंग लोन व 20 लाख रुपये तक मोटर कार का लोन भी दे रही है।
वर्ष 2010 से 2021 तक कुल 68 वर्तमान व पूर्व विधायकों को कुल 32.215 करोड़ रुपये का हाऊसिंग लोन दिया गया जिसमें से 20.83 करोड़ रुपये अभी लौटने बाकि हैं। वर्ष 2004 से 2021 के बीच मोटर कार खरीदने के लिए वर्तमान व पूर्व विधयकों को दी गई 27.48 करोड़ की लोन राशि में से 9.96 करोड़ रुपए अभी लौटने शेष हैं।
कपूर ने पूर्व विधायकों की इस मोटी पेंशन, सस्ती दरों पर हाउसिंग लोन व मोटर कार लोन देने को जनता के खून पसीने की कमाई पर डाका बताते हुए तत्काल बंद करने की मांग की है। जब पंजाब में पूर्व विधायकों की पेंशन राशि कम कर दी गई है तो हरियाणा में ये लूट क्यों, ये लूट कब बंद होगी।

पूर्व विधायक का नाम                                 पेंशन
कैप्टन अजय सिंह                                      2,38,100/-
ओमप्रकाश चौटाला                                     2,22,500/-
अजय चौटाला                                            0,61,800/-
जसमा देवी                                                0,61,800/-
जसमा देवी (विधवा)                                    0,99,619/-
सावित्री जिंदल                                            1,00,000/-
प्रो.संपत सिंह                                              2,14,800/-
कृष्ण लाल पंवार                                          1,99,200/-
राम विलास शर्मा                                          1,91,500/-
कर्ण सिंह दलाल                                           1,91,500/-
महेंद्र प्रताप सिंह                                           1,91,500/-
भागीराम                                                     1,91,500/-
बीरेंद्र सिंह डूमर खां                                        1,76,000/-
फूल चंद मुलाना                                             1,68,000/-
अशोक अरोड़ा                                                1,60,400/-
हरमोहिन्द्र सिंह च_ा                                     1,60,400/-
चन्द्रमोहन बिश्नोई                                         1,52,700/-
उदय भान                                                      1,68,200/-
रणदीप सुरजेवाला                                            1,68,200/-
ओम प्रकाश धनखड़                                          0,61,800/-


इन विधायकों की तरफ खड़ा है बकाया
हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने मई 2013 में 36.50 लाख रुपये आवासीय ऋण लिया था,जिसमे से 9,64,300/-रुपये की ब्याज राशि अभी तक देय है। प्रो.सम्पत सिंह ने वर्ष 2013 में 40 लाख आवासीय ऋण लिया था लेकिन 2 लाख रुपये का मूलधन आज तक बकाया खड़ा है। सुभाष बराला द्वारा वर्ष 2015 में  लिए 40 लाख रुपये के अवासीय ऋण में से 15.60 रुपये का मूलधन अभी देना बाकी है।

भूपेंद्र हुड्डा की तरफ है वाहन लोन बकाया
हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा द्वारा 2016 में लिए 20 लाख रुपए लोन में से 7.60 लाख रुपये बकाया खड़े हैं। वर्ष 2017 में कृष्ण कुमार बेदी  द्वारा लिए 20 लाख में से 10.20 लाख देने शेष हैं। वर्ष 2020 में बलराज कुंडू  द्वारा लिए 20 लाख में से 16.60 लाख रुपए व प्रमोद विज द्वारा लिए गए 20 लाख में से 16.60 लाख शेष खड़े हैं। वर्ष 2015 में रेणुका विश्नोई द्वारा लिए 10 लाख में से 2.70 लाख रुपए बकाया देने हैं। वर्ष 2004 में दीना राम ने 6 लाख का लोन लिया लेकिन 18 वर्ष बीत गए पर आज तक बकाया 3,64,797/-रुपये नहीं लौटाए।