15,137 feet high village became the restaurant of Komic Restaurant, the first choice of tourists, see what is special
Malan-Restaurent

15,137 feet high village became the restaurant of Komic Restaurant, the first choice of tourists, se

15,137 फीट ऊंचे गांव कोमिक का रेस्तरां बना सैलानियों की पहली पसंद, देखें क्या है खास

मनाली। हिमाचल प्रदेश के लाहुल स्पीति में दुनिया का सबसे ऊंचा गांव है। यहां इन दिनों पर्यटकों का खूब मेला लगा हुआ है। अगर आप यहां घूमने आ रहे हैं तो एशिया के सबसे ऊंचे रेस्तरां में चाय की चुस्की लेना न भूलें। 15137 फीट ऊंचे गांव कोमिक का रेस्तरां इन दिनों देशी विदेशी सैलानियों की पहली पसंद बना हुआ है। यह एकमात्र रेस्तरां थक हारकर कोमिक पहुंचने वाले पर्यटकों को काफी, चाय व खाने की सुविधा दे रहा है। कोमिक पहुंचने वाले पर्यटकों की थकान काफी व चाय की एक चुस्की से दूर हो रही है। रेस्तरां के संचालक लामा व सोनम ने बताया इन दिनों भारी संख्या में पर्यटक उनके रेस्तरां में पहुंच रहे हैं। यहां पहुंचकर पर्यटक काफी व चाय के साथ राजमाह चावल व स्थानीय पकवान को प्राथमिकता दे रहे हैं।

चंद्रताल सहित स्पीति घाटी के पर्यटन स्थलों में पर्यटकों की आमद बढ़ी है। स्पीति के पहाड़ों, महल, किलों के अलावा कई ऐसी जगहें हैं, जहां की खूबसूरत वादियों का अनुभव लोगों को जिंदगी भर याद रहता है। कोमिक को दुनिया के सबसे ऊंचे गांव का दर्जा प्राप्त है। समुद्र तल से करीब 15,137 फीट की ऊंचाई पर बसा कोमिक गांव इन दिनों देशी विदेशी सैलानियों की पहली पसंद बना है।

कोमिक में हल्की आक्सीजन की कमी महसूस होती है। कोमिक आने से पहले एक दिन काजा रुक लें, ताकि आप मौसम के हिसाब से अपने को तैयार कर सकें। दिलचस्प यह है कि यहां का तापमान सात से नौ डिग्री के बीच रहता है। एडवेंचर प्रेमी यहां छोटे-बड़े पहाड़ों पर ट्रैकिंग के लिए जाते हैं। यहां की संस्कृति की वजह से लोगों को कोमिक काफी आकर्षित कर रही है।

कोमिक गांव में 14 वीं शताब्दी का प्रसिद्ध लुंडुप त्सेमो गोम्पा बौद्ध मठ भी सैलानियों को आकर्षित कर रहा है। स्थानीय लोगों की माने तो यह मठ  500 साल पुराना है। मठ मैत्रेय बुद्ध या फ्यूचर बुद्ध के लिए सबसे ज्यादा लोकप्रिय है। यह दुनिया का सबसे ऊंचा बौद्ध मठ है। मठ में मिट्टी की दीवारों से बना एक मजबूत महल है, जो पुराने दिनों के भित्ति चित्रों, शास्त्रों और कलाओं को प्रदर्शित करता है। कोमिक गांव के ग्रामीण सोनम, छेरिंग, तंडुप ने बताया कि गांव में साल भर त्योहार आयोजित किए जाते हैं। छम डांस व मास्क डांस सबसे आकर्षित हैं। उन्होंने बताया कि गांव में पर्यटन को बढ़ावा मिला है।