Treatment Of Drug : दवा व्यापारियों के इलाज में डिस्काउंट करेंगे- डॉ चटर्जी
Treatment Of Drug

दवा व्यापारियों के इलाज में डिस्काउंट करेंगे- डॉ चटर्जी

दवा व्यापारियों के इलाज में डिस्काउंट करेंगे- डॉ चटर्जी

जिला औषधि विक्रेता संघ के  सम्मान समारोह व कार्यशाला का आयोजन  

Treatment Of Drug  : बिलासपुर, छत्तीसगढ़। जिला औषधि विक्रेता संघ बिलासपुर का वरिष्ठ केमिस्ट सम्मान समारोह एवं केमिस्ट कार्यशाला का आयोजन किया गया।

सी सी डी ए के मार्गदर्शन में किए गए इस कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ के ड्रग कंट्रोलर कुंजाम, डिप्टी ड्रग कंट्रोलर बसंत कौशिक   , सी सी डी ए के अध्यक्ष सुभाष अग्रवाल  महासचिव अविनाश अग्रवाल  एडिशनल ड्रग कंट्रोलर बिलासपुर रविंद्र गेंदले , एडिशनल ड्रग कंट्रोलर राजेश छत्री, सीसीडीए उपाध्यक्ष राधेश्याम अग्रवाल  एवं संगठन सचिव देवव्रत गौतम , जांजगीर जिले के अध्यक्ष नरेश भाई, आई एम ए सचिव डॉ अनुज कुमार ,पूर्व आई एम इन स्टेट प्रेसिडेंट डॉ अविजित रॉयजादा, आई एम ए पूर्व अध्यक्ष डॉ हेमंत चटर्जी,जिला चिल्हर औषधि विक्रेता संघ के अध्यक्ष शेखर मुदलियार , औषधि निरीक्षक  पीयूष जायसवाल, अश्वनी कुमार , सोनम जैन ,चंद्रकला ठाकुर प्रमुख रूप से उपस्थित थे। इस सेमिनार में 650 के लगभग दवा व्यापारी शामिल हुए व ड्रग विभाग की टीम और जिला औषधि विक्रेता संघ के पदाधिकारियो द्वारा बिलासपुर जिले के वरिष्ठ केमिस्टों जिनकी आयु 75 वर्ष या उससे अधिक व जो दवा दुकानें 50 साल या उससे अधिक समय से निरंतर गतिमान है उनका  सम्मान किया गया। इस सेमिनार में प्रस्तावना भाषण मुर्तुजा वनक ने दिया। मंच का  संचालन राजेन्द्र अग्रवाल राजू ने किया  आईएमए के पूर्व अध्यक्ष डॉ हेमंत चटर्जी ने  दवा विक्रेताओं की मांग को स्वीकार करते हुए आश्वासन दिया की दवा व्यापारियों के हॉस्पिटल के इलाज में हम डिस्काउंट की व्यवस्था करेंगे।


 दो दवा दुकानों के बीच में निश्चित दूरी 500 मीटर या शासन द्वारा दूरी के विषय में उचित मापदंड तय किए जाए और उसी आधार पर नए लाइसेंस जारी किए जाए । दवाओ के ऑनलाइन विक्रेताओं द्वारा शेड्यूल h , nrx व प्रतिबंधित दवाओ के विक्रय पर समाज को हो रहें नुकसान और ऑनलाइन विक्रेताओं द्वारा शासन के द्वारा दी गई गाइड लाइन जो आम दवा व्यवसाई के लिए लागू है को पालन नही किया जा सकता व आसानी से शेड्यूल h,गर्भपात कीट व nrx दवाइया युवाओ को मिल जा रही है अतः ऑनलाइन से एनआरएक्स शेड्यूल एच नव गर्भपात कीट जैसी दवाओ के विक्रय पर रोक लगाई जाए ।


समय समय पर अखबारों व न्यूज  चैनलों द्वारा ऑनलाइन नकली दवाओ के विक्रय की खबरे आती रहती है अतः ऑनलाईन विक्रेताओं  के ऊपर कड़ी नजर रखी जाए ।
 3 कालातीत (एक्साइपरी) दवाओ के सुगम डिस्पोजल की व्यवस्था कराई जाए 4 ऑनलाइन विक्रेताओं द्वारा सरकार द्वारा लागू मूल्य निर्धारण की नीतियों का पालन भी नही किया जाता अतः ऑनलाइन दवा विक्रेताओं की इन नीतियों की वजह से देश भर के छोटे बड़े थोक दवा व्यापारियों के व्यापार पर संकट के बादल छाए हुए है। अतः एनपीपीए और डीपीसीओ में आने वाली दवाओ के लिए ऑनलाइन व ऑफलाइन वालो के लिए समान मूल्य पर निर्धारित किए जाए जिससे छोटे व्यवसाई भी ऑनलाइन वालो के मूल्य पर ही ऑफ़लाइन दवा विक्रेता भी  मरीजों को सेवा प्रदान कर सके।  साथ ही साथ दवा विक्रेताओं की जो अन्य समस्याएं है उनकी ओर भी अधिकारियों व शासन को ज्ञापन दिया।


उसके उपरात ड्रग कंट्रोलर  कुजाम ने भी ऑनलाइन दवा वालों के ऊपर कड़ी नज़र रख उनके डाक्यूमेंट्स को बराबर चेक करने व दवा विक्रेताओं की मांगों और समस्याओं को शासन को अवगत करा जल्द से जल्द यथा संभव निराकरण करवाने का  आश्वासन दिया ।

कार्यक्रम के अंत में कार्यकारी अध्यक्ष प्रभात साहू ने आभार व्यक्त किया

कार्यक्रम में कार्यकारी अध्यक्ष प्रभात साहू, उपाध्यक्ष पंकज सचदेव ,सचिव कपिल हरीरामानी, कोषाध्यक्ष कृष्ण कांत गुप्ता, मुस्तन वनक , राघवेंद्र गुप्ता  , आशीष मित्तल, रमेश देवानी, आशीष मित्तल, यतिंद्र यादव, विष्णु गुप्ता, विक्की गुप्ता, अनिल सिंह राजेश साहू , मनोज ठाकुर , सुरेश कलवानी , केशव दुबे , पिनाकी राय , बंटी निहलानी , नयन , मनोज मोटवानी, हर्ष , मुकेश लालवानी, कमल परवानी , शुभम गुप्ता , राकेश गुप्ता , सुनील चंदनानी, सागर अग्रवाल , आशीष मुरारका, प्रसन्ना शर्मा , पवन गुप्ता , प्रकाश वाधवानी , नवीन गुप्ता , संतोष तनवानी ,  सुमित मेथानी , दिलीप कौशिक , दारा अहमद , मुकेश देवांगन,  सन्नी मेलवानी आशीष गुप्ता विकास गुप्ता , रितेश गुप्ता एवम समस्त केमिस्ट साथी शामिल थे। उक्त जानकारी संघ के प्रचार प्रसार सचिव हीरानंद जयसिंह द्वारा दी गई।