Home » Photo Feature » पुरुषों से थी नफरत, पत्नी ने पति को पहले मौत दी फिर उसके शव के कर दिए टुकड़े-टुकड़े

पुरुषों से थी नफरत, पत्नी ने पति को पहले मौत दी फिर उसके शव के कर दिए टुकड़े-टुकड़े

नई दिल्ली: एक पत्नी ने अपने पति को सिर्फ इसलिए मार डाला क्योंकि उसे पुरुष नहीं पसंद थे।अब यहां आप अगर ये कहें कि जब पुरुष नहीं पसंद थे तो पुरूष से शादी ही क्यों की तो आपको बतादें यह शादी बालपन में हुई थी।मतलब बाल विवाह हुआ था जिसे वह रोक नहीं सकी थी।अब जब वह बड़ी हुई तो उसने पुरुषों के प्रति अपनी नफरत की भावना को खुलकर जाहिर किया और अपने पति को मौत की नींद सुला दिया।पुरुषों से इसे किस कदर घृणा थी इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते है कि इसने अपने पति को मारने के बाद उसके शव को इलेक्ट्रॉनिक कटर से टुकड़ों-टुकड़ों में बांट दिया।सनसनी से भरा यह मामला राजस्थान के जोधपुर जिले का है।

विवाह के बाद से अपने ही घर यानि मायके में थी…

मारे गए पति का नाम चरण सिंह है और जिस पत्नी ने मारा उसका नाम सीमा है।बताया जाता है कि बालविवाह के बाद सीमा ससुराल नहीं गई थी अपने घर यानि मायके में ही रह रही थी।जहां बालविवाह के बाद यहां रहते रहते उसे कई साल हो चुके थे।वहीं, चरण सिंह अब चाहता था कि उसकी पत्नी यानि सीमा उसके घर उसके साथ आकर रहे।इस बारे में उसने सीमा से बात की लेकिन सीमा को यह नागवार था।सीमा अपने ससुराल यानि चरण सिंह के साथ रहने के लिए नहीं जाना चाहती थी परंतु चरण सिंह सीमा को साथ रखने की जिद पर अड़ा था।चरण सिंह की इसी जिद पर उसमे और सीमा में कई बार झगड़ा भी हो चुका था।सीमा चरण सिंह से यह साफ कह चुकी थी कि वह उसके साथ कभी नहीं रहेगी चाहें वह जो भी कर ले।

चरण सिंह के साथ साथ उसका परिवार भी अब डाल रहा था जोर…

चरण सिंह अब किसी भी कीमत पर सीमा को अपने साथ ही रखना चाहता था लेकिन सीमा थी कि उसके साथ रहने को तैयार ही नहीं थी।सीमा सुसराल में रहे आकर इसको लेकर चरण सिंह के साथ साथ उसका परिवार भी अब सीमा और उसके परिवार पर जोर डाल रहा था।जहां यह सब देख सीमा काफी विचलित थी।सीमा यह ठान चुकी थी कि वह किसी भी कीमत पर चरण सिंह के घर जाकर नहीं रहेगी और न ही चरण सिंह को अपना पति मानेगी।इसके लिए चाहें उसे जो भी करना पड़े।

मीठी-मीठी बातों में फंसाया…

जब सीमा को लगा कि चरण सिंह उसे अपने साथ ले जाकर ही मानेगा तो उसने एक प्लान बनाया।इस प्लान में सीमा ने चरण सिंह की मौत लिख दी थी।सीमा ने प्लान के अनुसार, चरण सिंह को फ़ोन किया और जोधपुर के बनाड़ में अपने किराए के कमरे पर बुलाया।सीमा ने चरण सिंह से कहा कि वह उससे उसके साथ रहने को लेकर बातचीत करना चाहती है जो कि फ़ोन पर पॉसिबल नहीं है आमने सामने ही बैठकर हो सकेगी।चरण सिंह खुश था कि सीमा ने उसे बातचीत पर बुलाया है और अब वह उसके साथ रहने को तैयार हो जाएगी लेकिन शायद वह नहीं जानता था कि सीमा ने बातचीत की बजाय उसकी मौत का बंदोबस्त कर रखा है।

कमरें में बहनें भी थीं मौजूद…

जिस किराए के कमरे पर सीमा ने चरण सिंह को बातचीत के लिए बुलाया वहां उसकी बहनें भी मौजूद थीं।सभी के सभी प्लानिंग के तहत चरण सिंह के आने का इंतजार कर रहे थे।जहां जैसे ही चरण सिंह पहुंचा इन सभी लोगों ने बड़े अच्छे से उसका स्वागत किया।वहीं, सीमा ने चरण सिंह से मीठी मीठी बातें करनी शुरू कीं।चरण सिंह सीमा की बातों में ऐसा फंस गया कि इस दौरान सीमा की बहनों ने उसे नशीला पदार्थ डालकर जूस पिला डाला और वह जान तक नहीं पाया।जहां जूस पीते ही चरण सिंह बेसुध हो गया।जिसके बाद सीमा और उसकी बहनों ने कई जहरीले इंजेक्शन चरण सिंह को लगाए जिसकी उसकी मौत हो गई।

सीमा ने चरण सिंह के शव को भी नहीं छोड़ा..

सीमा के चरण सिंह के मरने के बाद उसके शव को इलेक्ट्रॉनिक कटर से काट डाला।सीमा ने चरण सिंह के शव के कई सारे टुकड़े कर दिए और उन टुकड़ों को उसने सीवरेज टैंक में फेंक दिया।

बच नहीं सकी सीमा..

सीमा अपने पति का कत्ल कर बच नहीं सकी।पुलिस ने उसे उसकी बहनों समेत गिरफ्तार कर लिया।जोधपुर कमिश्नरेट के डीसीपी धर्मेंद्र सिंह यादव ने बताया कि सीमा ने बड़ी ही बेरहमी से चरण सिंह को मौत के घाट उतारा।इसके अलावा सीमा यहीं नहीं रुकी उसने उसके शव के साथ भी क्रूरता दिखाई।फिलहाल, चरणसिंह के शरीर के कई हिस्सों को बरामद कर लिया गया है जो कुछ भाग नहीं मिले हैं, उनकी तलाश जारी है।इसके साथ ही इस इलेक्ट्रिक कटर को भी बरामद कर लिया गया जिससे उसने चरण सिंह को टुकड़ों में बांटा।

समलैंगिक है सीमा…

पुलिस ने बताया कि जांच के दौरान पाया गया कि सीमा पुरुषों से नफरत करती है उसे पुरूष पसंद नहीं है   इसीलिए वह चरण सिंह के साथ नहीं रहना चाहती थी।सीमा के एक लंबे समय से कई लड़कियों से संबंध पाए गए हैं।सीमा लड़कियों के प्रति आकर्षित है।

वहीं, चरण सिंह के बारे में जांच के दौरान पाया गया कि वह मेड़ता का निवासी था और कृषि विभाग में अधिकारी था।

Check Also

कृषि अध्यादेशों के विरोध में सडक़ों पर उतरी यूथ कांग्रेस, सैकड़ों ट्रैक्टरों पर हजारो युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन

समालखा पुल पर पुलिस ने वाटर कैनन का इस्तेमाल, कुंडू समेत कई को हिरासत में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Share
See our YouTube Channel